एपीएचसी के लिए दान में दी थी 21 डिसमिल जमीन 12 वर्षों से काम है अधूरा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

अररिया : सदर प्रखंड की बनगामा पंचायत स्थित वार्ड 07 ताजी टोला में स्थानीय ग्रामीण अफरोज आलम पिता स्व ताजउद्दीन ने गांव में एपीएचसी के निर्माण के लिए 21 डिसमिल जमीन दान में दी थी. उन्होंने सोचा था कि अस्पताल बन जाने से लोगों को 20 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय नहीं जाना पड़ेगा. बीमारों का इलाज यहीं हो सकेगा. इसका निर्माण वर्ष 2008 में शुरू भी किया गया. लेकिन किसी कारणवश यह आज तक पूरा नहीं हो पाया.

इससे लोगों में आक्रोश है. इस बाबत मुखिया प्रतिनिधि लाल विश्वास व सरपंच प्रतिनिधि सबेउलकमर व पूर्व मुखिया मुखिया मुहर्रम ने बताया कि जिला मुख्यालय सदर अस्पताल से 20 किलोमीटर दूरी पर बनगामा गांव में बना यह उपस्वास्थ्य केंद्र आसपास के कई गांव के लोगों का इलाज कराने को लेकर जमीन दान में दी गयी थी. वर्ष 2008 में अस्पताल का निर्माण कार्य शुरू कराया गया था, लेकिन वह आज तक पूरा नहीं हो सका है. इस गांव में आज भी झोलाछाप डॉक्टरों के भरोसे ही मरीजों का इलाज हो रहा है.
खासकर प्रसूताओं के प्रसव के लिए काफी फजीहत झेलनी पड़ती है. कई बार तो प्रखंड मुख्यालय ले जाते-जाते उनकी मौत तक हो जाती है. वहीं भूमि दाता ने यह भी बताया कि गरीब-निसहाय-मजलूमों के इलाज में सहूलियत के लिए उपस्वास्थ्य केंद्र के लिए जमीन दान में दी थी.
मौके पर मिथिलेश कुमार, सरफराज आलम, पूर्व सरपंच सिराजउद्दीन, मनोज कुमार, अजय कुमार व खालिद हुसैन आदि मौजूद थे. इस बाबत पीएचसी प्रभारी डॉ आशुतोष कुमार ने कहा कि भवन निर्माण कार्य अब तक क्यों पूरा नहीं हुआ है इसकी जानकारी मुझे नहीं है. उन्होंने इसकी जानकारी विभाग को देने की बात कही.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें