7 वर्षीय बालक की गला दबाकर किशोर ने कर दी हत्या, निर्माणाधीन शौचालय की टंकी में फेंक दिया शव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

अररिया : बिहार के अररिया में भरगामा थाना क्षेत्र की पैकपार पंचायत के पोठिया गांव में रविवार शाम सात साल के एक बालक की गला दबाकर हत्या कर दी गयी. आरोपी ने शव छुपाने की नीयत से शौचालय की टंकी में फेंक दिया. घटना को अंजाम देने वाला महज 13 साल का किशोर है. जबकि, मृतक रौनक कुमार पोठिया गांव के पप्पू यादव का बेटा था. आरोपी किशोर विवेक कुमार रौनक के पड़ोसी राजकुमार पासवान का बेटा था. वारदात के बाद पुलिस ने हत्यारोपी विवेक को हिरासत में ले लिया है.

बताया जाता है कि हत्यारोपी विवेक ने पप्पू यादव के घर से मूंग की चोरी की थी. उसे चोरी करते रौनक ने देख लिया था. रौनक ने इसकी शिकायत अपने माता-पिता से कर दी थी. इसके चेलते रौनक के पिता ने आरोपी को मारपीट करने की बात कही थी. इससे विवेक आक्रोशित था. रविवार शाम वह चॉकलेट का लोभ देकर रौनक को एकांत में ले गया और उसकी गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद शव निर्माणाधीन शौचालय के टैंक में फेंक दिया. मृत बालक का शव देर रात टैंक से बरामद हुआ. मृतक रौनक तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ा था. उससे छोटे भाई की उम्र चार साल, जबकि उसकी बहन की उम्र डेढ़ वर्ष है.

ग्रामीणों की सख्ती पर आरोपी ने कबूला गुनाह
इधर, ग्रामीणों की सूचना पर भरगामा थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अररिया भेज दिया. पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से हत्यारोपी विवेक कुमार को गिरफ्तार कर लिया है. मृतक की मां ममता देवी ने बताया कि उसके पड़ोसी राजकुमार पासवान के पुत्र विवेक ने उनके पुत्र को चॉकलेट का लोभ देकर कहीं अन्यत्र ले जाकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी. लाश को उसके घर के पीछे बने शौचालय के टैंक में ही फेंक दिया. ग्रामीणों द्वारा सख्ती से पूछताछ के बाद विवेक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया.

इधर, ममता देवी के आवेदन पर भरगामा थाने में विवेक के अलावे उसके दादी और मां को भी आरोपी बनाया गया है. घटना को लेकर थाना प्रभारी उमेश कुमार ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है. फारबिसगंज डीएसपी ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर लिया है.


Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें