1. home Home
  2. religion
  3. vinayaka chaturthi july 2021 date and time samagri shubh muhurat puja vidhi vinayaka chaturthi fast kab hai know the auspicious time worship method and the right time of moonrise rdy

Vinayaka Chaturthi July 2021: आज है विनायक चतुर्थी व्रत, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और चंद्रोदय का सही समय

आज 13 जुलाई दिन है. इस दिन आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है. चतुर्थी तिथि भगवान श्रीगणेश को समर्पित है. हिंदू पंचांग के अनुसार, हर महीने में दो चतुर्थी तिथि आती हैं. पूर्णिमा के बाद एक कृष्ण पक्ष और दूसरी अमावस्या के बाद शुक्ल पक्ष में चतुर्थी व्रत रखा जाता है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Vinayaka Chaturthi July 2021: कल है विनायक चतुर्थी व्रत
Vinayaka Chaturthi July 2021: कल है विनायक चतुर्थी व्रत
Prabhat Khabar Graphics

Vinayaka Chaturthi July 2021: आज 13 जुलाई दिन मंगलवार है. इस दिन आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है. चतुर्थी तिथि भगवान श्रीगणेश को समर्पित है. हिंदू पंचांग के अनुसार, हर महीने में दो चतुर्थी तिथि आती हैं. पूर्णिमा के बाद एक कृष्ण पक्ष और दूसरी अमावस्या के बाद शुक्ल पक्ष में चतुर्थी व्रत रखा जाता है.

शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी कहा जाता है. इस साल आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 13 जुलाई 2021 दिन मंगलवार को है. विनायक चतुर्थी के दिन भगवान श्रीगणेश की विधि-विधान से पूजा की जाती है. मान्यता है कि इस दिन विघ्नहर्ता की पूजा और व्रत रखने से संकटों से मुक्ति मिलती है.

आषाढ़ मास विनायक चतुर्थी शुभ मुहूर्त और योग

हिंदू पंचांग के अनुसार, 13 जुलाई की सुबह 08 बजकर 24 मिनट तक तृतीया तिथि रहेगी. उसके बाद चतुर्थी तिथि लग जाएगी. इस दिन दोपहर 02 बजकर 49 मिनट तक सिद्धि योग रहेगा. माना जाता है कि सिद्धि योग में किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है.

सूर्योदय और चंद्रोदय का सही समय

विनायक चतुर्थी के दिन सूर्योदय सुबह 05 बजकर 06 मिनट पर और सूर्यास्त शाम 06 बजकर 41 मिनट पर होगा. चंद्रोदय सुबह 07 बजकर 52 मिनट और चंद्रास्त रात 09 बजकर 21 मिनट पर होगा.

विनायक चतुर्थी पूजा विधि

  • इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करें

  • इसके बाद घर के मंदिर में सफाई कर दीप प्रज्वलित करें.

  • दीप प्रज्वलित करने के बाद भगवान गणेश का गंगा जल से जलाभिषेक करें.

  • फिर भगवान गणेश को साफ वस्त्र पहनाएं.

  • भगवान गणेश को सिंदूर का तिलक लगाएं और दूर्वा अर्पित करें.

  • इसके बाद भगवान गणेश की आरती करें और भोग लगाएं.

  • श्रीगणेश जी को मोदक, लड्डूओं का ही भोग लगाएं.

  • इस पावन दिन भगवान गणेश का अधिक से अधिक ध्यान करें.

  • अगर आप व्रत रख सकते हैं तो इस दिन व्रत रखें.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें