Advertisement

saraikela kharsawan

  • Jun 16 2019 11:22AM
Advertisement

नक्सली हमला: करीब दो महीने से कर रहे थे रेकी, पुलिस की हर गतिविधि पर थी नजर

नक्सली हमला: करीब दो महीने से कर रहे थे रेकी, पुलिस की हर गतिविधि पर थी नजर

तीन घेरे में थे नक्सली, दो पिस्तौल, तीन इंसास लूटकर भागे

जमशेदपुर : पुलिसकर्मियों की हत्या करने कुकड़ू हाट पहुंचे नक्सली तीन घेरा बनाये हुए थे और प्रत्येक में 10 से 15 लोग शामिल थे. पहले घेरे में मौजूद नक्सलियों ने पुलिसकर्मियों को मौका देख कर पीछे से पकड़ा और गला रेत दिया. वहीं, दूसरे घेरे में शामिल नक्सलियों ने हथियार लूटने के बाद लहूलुहान अवस्था में जमीन पर गिरे जवानों को गोली मार दी.

तीसरे घेरे में मौजूद नक्सली रेकी का काम कर रहे थे. भागने के दौरान नक्सली लूटे गये हथियारों को लहराते हुए भाग गये. सूत्रों के अनुसार घटना के बाद नक्सली दो पिस्तौल व तीन इंसास रायफल लूट कर ले गये, लेकिन मैगजीन व गोली के बारे में कोई कुछ नहीं बता पाया. जानकारी के अनुसार नक्सली पिछले दो महीने से शुक्रवार को हाट में आकर पुलिस की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे, जिससे उन्हें पुलिस की हर गतिविधि के बारे में जानकारी थी.
 
तिरुलडीह थाने में नहीं था बैकअप फोर्स
तिरुलडीह थाना में तैनात पुलिसकर्मियों के अनुसार घटना की जानकारी मिलने के बाद भी थाने से बैकअप फोर्स नहीं भेजी जा सकी, क्योंकि थाने में मात्र सात पुलिसकर्मियों की तैनाती की गयी थी, जिसमें से पांच घटना में मारे जा चुके थे. इसलिए जानकारी मिलने पर वरीय पदाधिकारियों को घटना की सूचना देने के बाद आसपास के थाने से फोर्स भेजा गया. थाना में कम फोर्स होने की वजह से पुलिसकर्मी थाना को भी छोड़ कर नहीं जा सकते थे, क्योंकि पहले भी नक्सली ऐसे मौकों पर थानों से हथियार लूट चुके हैं.  
 
घटना के समय पुलिसकर्मी पी रहे थे कोल्ड ड्रिंक
घटना के वक्त पांचों पुलिसकर्मी एक दुकान पर कोल्ड ड्रिंक पी रहे थे. वहीं, घटना के 24 घंटे बीतने के बाद भी खून के दाग की घेराबंदी नहीं की गयी थी.
 
छह माह से बनकर तैयार है थाना भवन
कुकड़ू में लगभग छह महीने से थाना भवन बनकर तैयार है, लेकिन भवन में अभी तक ताला लटका हुआ है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement