Advertisement

ranchi

  • Aug 20 2019 6:07AM
Advertisement

रांची : 50 हजार किसानों को मिलेगा मृदा स्वास्थ्य कार्ड

रांची : 50 हजार किसानों को मिलेगा मृदा स्वास्थ्य कार्ड
खेलगांव टाना भगत स्टेडियम में किया जायेगा समारोह का आयोजन 
350 मिट्टी के डॉक्टरों को पहचान पत्र दिया जायेगा
राज्य सरकार पंचायतों में 1348 मिनी लैब की भी स्थापना करेगी 
 
रांची : राज्य के 50 हजार किसानों को 21 अगस्त को एक साथ मृदा स्वास्थ्य कार्ड दिया जायेगा. इसके लिए समारोह का आयोजन हरिवंश टाना भगत स्टेडियम, होटवार में होगा. इस मौके पर 350 मिट्टी के डॉक्टरों को पहचान पत्र दिया जायेगा. राज्य की कृषि सचिव पूजा सिंघल ने सोमवार को सूचना भवन में आयोजित प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी.
 
श्रीमती सिंघल ने बताया कि राज्य में मिट्टी जांच के लिए बनाये गये लैब के सफल संचालन के लिए 4507 पंचायतों में दो-दो प्रशिक्षित महिला समूहों के सदस्यों, आर्या मित्र व कृषक मित्रों को प्रशिक्षित किया जा रहा है. 
 
करीब 9014 लोगों को प्राथमिकता के आधार पर संबद्धता दी जायेगी. इनका प्रशिक्षण जैसमिन देगा. प्रशिक्षण दो सप्ताह का होगा. इसमें इन्हें मिट्टी जांच के बारे में बताया जायेगा. सरकार ने इनको मिट्टी का डॉक्टर नाम दिया है. राज्य सरकार कुल 1348 मिनी लैब भी वैसे पंचायतों में स्थापित करने जा रही है, जहां लैब नहीं है. इस पर सरकार 14 करोड़ 20 लाख रुपये खर्च करेगी. किसानों को उनके खेतों में सरकार नि:शुल्क यह सुविधा उपलब्ध करा रही है.
 
2017-18 में 1864 मिनी लैब स्थापित किया गया था. मिनी लैब संचालकों को मृदा नमूना संग्रहण पर 40 रुपये प्रति नमूना व कार्ड छपाई का 50 रुपये प्रति कार्ड दिया जाता है. मृदा विश्लेषण पर भी प्रोत्साहन राशि के रूप में 50 रुपये दिये जाते हैं. 
 
12 पारा मीटर पर होती है जांच : कृषि सचिव श्रीमती सिंघल ने बताया कि मिट्टी की जांच 12 पारा मीटर पर होती है. इस बार हरेक किसान के खेत की जांच होगी. उनको अलग-अलग कार्ड दिया जायेगा. कार्ड की वैधता तीन साल होती है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement