Advertisement

ranchi

  • Sep 12 2019 11:46AM
Advertisement

PM Modi in Ranchi : किसानों के लिए पेंशन योजना की प्रधानमंत्री ने की शुरुआत, किसानों के खाते में पहुंचे पैसे

PM Modi in Ranchi : किसानों के लिए पेंशन योजना की प्रधानमंत्री ने की शुरुआत, किसानों के खाते में पहुंचे पैसे

रांची : झारखंड की राजधानी रांची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कई योजनाओं की शुरुआत की. प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के साथ-साथ व्यापारी और स्वरोजगारियों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना का शुभारंभ किया. प्रधानमंत्री ने झारखंड की अपनी अत्याधुनिक विधानसभा का उद्घाटन किया. वहीं, साहेबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन कर झारखंड को अंतरराष्ट्रीय बाजार से जोड़ दिया. प्रधानमंत्री ने तीन साल में 462 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की स्थापना से जुड़ी योजना की शुरुआत की, तो झारखंड सचिवालय का शिलान्यास भी किया.

रांची के धुर्वा स्थित श्री जगन्नाथ एचइसी मैदान (प्रभात तारा मैदान) में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में अपने संबोधन की शुरुआत भारत माता की जय के साथ की. वहीं, स्थानीय भाषा में लोगों का अभिनंदन किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद सबसे पहले जिन राज्यों में उन्हें जाने का सौभाग्य मिला, उसमें झारखंड शामिल है. उन्होंने कहा कि देश में शुरू होने वाली कई बड़ी योजनाओं का झारखंड लांचिंग पैड है. कहा कि जब देश में इस बात की चर्चा होगी कि गरीबों से जुड़ी बड़ी योजनाएं किस राज्य से शुरू हुई, तो उसमें झारखंड का नाम सबसे ज्यादा चर्चा में आयेगा.

उन्होंने कहा कि झारखंड की धरती से ही दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम आयुष्मान भारत की शुरुआत हुई थी. आज देश के लाखों लोग जो पैसे के अभाव में इलाज नहीं करवा पाते थे, उनका इलाज हुआ है. वे आशीर्वाद बरसा रहे हैं. श्री मोदी ने कहा कि देश के करोड़ों किसानों को पेंशन सुनिश्चित करने वाली योजना की शुरुआत इस बिरसा मुंडा की धरती से हो रही है. देश के करोड़ों व्यापारियों और स्वरोजगारियों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना की शुरुआत भी झारखंड से हो रही है.

श्री मोदी ने कहा कि देश को बनाने में जिनकी बहुत बड़ी भूमिका है, ऐसे समाज के सभी वर्गों को बुढ़ापे में मुसीबत में जीना न पड़े, उसकी गारंटी देगी यह पेंशन योजना. प्रधानमंत्री ने कहा कि साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन करने का उन्हें अवसर मिला. यह बेहद महत्वपूर्ण अवसर है. यह प्रोजेक्ट सिर्फ झारखंड का नहीं, यह हिंदुस्तान और दुनिया में झारखंड को नयी पहचान देने वाला है. यह नेशनल वाटर-वे1 हल्दिया-बनारस जलमार्ग विकास परियोजना का एक अहम हिस्सा है. यह जलमार्ग झारखंड को पूरे देश से ही नहीं, बल्कि विदेश से भी जोड़ेगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके माध्यम से झारखंड के लोगों के लिए विकास की अपार संभावनाएं खुलने वाली हैं. इस टर्मिनल से यहां के आदिवासियों को, किसानों को अपने उत्पाद अब पूरे देश के बाजारों में और आसानी से पहुंचाने में सुविधा होगी. इसी तरह जलमार्ग के कारण उत्तर भारत से झारखंड समेत पूर्वोत्तर के राज्य (असम, नगालैंड, मिजोरम व अन्य राज्य) भी जुड़ जायेंग.

प्रगति और पर्यावरण दोनों ही दृष्टि से यह जलमार्ग लाभकारी सिद्ध होगा. रोजगार के सृजन भी करेगा. परिवहन का खर्च भी कम करेगा. इसका लाभ भी हर उत्पादक को मिलेगा. श्री मोदी ने कहा कि चुनाव के समय उन्होंने कामदार और दमदार सरकार देने का वादा किया था. एक ऐसी सरकार जो पहले से भी ज्यादा तेज गति से काम करेगी. एक ऐसी सरकार, जो जनता की आकांक्षाओं को पूरी करने के लिए पूरी ताकत लगा देगी. 100 दिन में देश ने इसका ट्रेलर देख लिया है. अभी पूरी फिल्म बाकी है.

श्री मोदी ने कहा कि हर घर जल पहुंचाने का उनका संकल्प है. आज जल जीवन मिशन को पूरा करने के लिए देश निकल पड़ा है. कहा कि मुस्लिम बहनों को दुख से निजात दिलाने के लिए 100 दिन के भीतर तीन तलाक को खत्म किया. आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई के लिए सरकार कृतसंकल्पित है. इसके लिए आतंकवाद से जुड़े कानून को बेहद कड़ा कर दिया गया है. जम्मू-कश्मीर को विकास की नयी ऊंचाइयों पर ले जाना है. 100 दिन के भीतर इसकी शुरुआत कर दी है.

श्री मोदी ने कहा कि उनका संकल्प जनता के लूटने वालों को उनकी सही जगह पर पहुंचाना है. इस पर भी बहुत तेजी से काम हो रहा है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग अंदर जा चुके हैं. श्री मोदी ने कहा कि उन्होंने कहा था कि नयी सरकार बनते ही पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ देश के हर किसान परिवार को मिलेगा, यह वादा पूरा हो चुका है. और अब ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस योजना से जोड़ा जा रहा है.

श्री मोदी ने कहा कि देश के 6 करोड़ किसानों के खाते में सरकार ने 21 हजार करोड़ रुपये जमा करवा दिये. झारखंड के किसानों के खाते में 250 करोड़ रुपये जमा हुए. योजना में कोई बिचौलिया नहीं, किसी की सिफारिश की जरूरत नहीं. बंगाल की तरह किसी को कट मनी देने की जरूरत नहीं है. सीधे किसानों के खाते में पैसे जमा हो रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि झारखंड के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है.

झारखंड के नये विधानसभा भवन का लोकार्पण और सचिवालय के नये भवन का शिलान्यास भी किया गया है. राज्य बनने के लगभग दो दशक बाद आज झारखंड में लोकतंत्र के मंदिर का लोकार्पण हो रहा है. यह भवन सिर्फ एक इमारत नहीं है. चार दीवारें नहीं हैं. यह भवन एक ऐसा पवित्र स्थान है, जहां झारखंड के लोगों के सुनहरे भविष्य की नींव रखी जायेगी. यह भवन लोकतंत्र में आस्था रखने वाले प्रत्येक नागरिक के लिए तीर्थस्थान है.

लोकतंत्र के इस मंदिर के माध्यम से झारखंड की वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों के सपने साकार होंगे. उन्होंने कहा कि वह चाहेंगे कि झारखंड के ओजस्वी, तेजस्वी और प्रतिभावान युवा नये विधानसभा भवन को देखने के लिए जरूर जायें. जब भी मौका मिले, इस भवन को जरूर देखें. श्री मोदी ने कहा कि आपने संसद सत्र के बारे में काफी कुछ सुना होगा. देखा होगा. नयी सरकार बनने के बाद लोकसभा और राज्यसभा में जो काम हुआ, उससे नागरिकों के चेहरे पर मुस्कान आयी.

श्री मोदी ने कहा कि इस बार संसद का मॉनसून सत्र आजाद भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा उत्पादक सत्रों में से एक है. पूरे देश ने देखा कि किस तरह मॉनसून सत्र में संसद के समय का सार्थक सदुपयोग हुआ. देर रात तक पार्लियामेंट चलती रही. घंटों बहस हुई. इस दौरान अनेक महत्वपूर्ण विषयों पर गहन चर्चा हुई और देश के लिए जरूरी कानून बनाये गये. संसद के कामकाज का श्रेय उन्होंने सभी राजनीतिक दलों, उनके सांसदों और नेताओं को दिया.

श्री मोदी ने कहा कि आज देश जितनी तेजी से चल रहा है, उतनी तेजी से कभी नहीं चला. आज देश में जिस तरह के परिवर्तन आ रहे हैं, उसके बारे में कभी सोचा भी नहीं जा सकता था. कुछ लोग देश से ऊपर थे, अदालतों से ऊपर थे, आज अदालतों के चक्कर लगा रहे हैं. उन्होंने लोगों से पूछा कि आप ऐसी ही तेजी से काम करने वाली सरकार चाहते थे न! उन्होंने पूछा कि 100 दिन के सरकार के कामकाज से लोग संतुष्ट हैं कि नहीं. इस पर लोगों ने हां में जवाब दिया. श्री मोदी ने इसके बाद कहा कि अभी तो शुरुआत है. अभी बहुत काम बाकी है. बहुत दिन बहुत मेहनत करने हैं. कई ऐतिहासिक काम करने हैं.

श्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार हर भारतीय को सामाजिक सुरक्षा का कवच देने का प्रयास कर रही है. सरकार उन लोगों का साथी बन रही है, जिन्हें सबसे ज्यादा सहायता की जरूरत है. इसी वर्ष मार्च से ऐसी ही पेंशन योजना देश के करोड़ों असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए चल रही है. श्रमयोगी मानधन योजना से अब तक 32 लाख से ज्यादा श्रमिक साथी जुड़ चुके हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पांच साल पहले तक गरीबों के लिए जीवन बीमा या दुर्घटना बीमा बहुत बड़ी बात थी. लोगों को जानकारी का अभाव था. जो इसके बारे में जानते थे, उसकी ऊंची प्रीमियम देखकर ही घबरा जाते थे. उनकी सरकार ने इस स्थिति को बदलने का प्रयास किया. आम नागरिकों के लिए उनकी सरकार बीमा योजना लेकर आयी. सिर्फ 90 पैसे प्रतिदिन और 1 रुपया प्रति महीना की दर पर दो योजनाओं की शुरुआत हुई. इतने पैसे में 2-2 लाख रुपये का बीमा सुनिश्चित कराया गया. इन दो योजनाओं से 22 करोड़ से ज्यादा देशवासी जुड़ चुके हैं. इनमें 30 लाख से अधिक लोग झारखंड के हैं. इन दोनों योजनाओं के तहत लोगों को 350 करोड़ रुपये का क्लेम मिल चुका है. प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से लोगों को हुए फायदे के बारे में भी बताया.


प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत हुई है. इस अभियान के तहत दो अक्टूबर तक सफाई के साथ-साथ सिंगल यूज प्लास्टिक को एकत्र करना है. एक बार इस्तेमाल वाला प्लास्टिक बेकार हो जाता है, जिसे एक जगह जमा करके देश को प्लास्टिक से मुक्त करना है. दो अक्टूबर को, महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के दिन प्लास्टिक के ढेर को हटा देना है. सरकार तमाम विभागों को जुटा रही है, ताकि प्लास्टिक को एकत्र करके उसे री-साइकल किया जा सके. झारखंड के प्रकृति प्रेमी लोग इस अभियान से जुड़ें और देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करने में भारत का नेतृत्व करें.

श्री मोदी ने कहा कि नये भारत के लिए सबको मिलकर आगे बढ़ना है. तभी देश आगे बढ़ेगा. उन्होंने कहा कि अगले पांच वर्ष के लिए झारखंड फिर विकास का डबल इंजन लगायेगा. अपना संबोधन शुरू करने से पहले पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, व्यापारी एवं स्वरोजगारियों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना के लाभुकों को कार्ड का वितरण किया.

 

 

290 करोड़ की लागत से बने साहेबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन.

 

झारखंड का सपना साकार करेगा प्रदेश का विधानसभा भवन : रघुवर दास

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को धारा 370 और 35ए से मुक्त किया गया. इस फैसले से जम्मू-कश्मीर और लेह-लद्दाख के लोगों को भी देश के अन्य राज्यों के साथ विकास की राह पर आगे बढ़ने का मौका मिलेगा. उन्होंने कहा कि यह साहसिक फैसला लेने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दम दिखाया.

मुख्यमंत्री ने अटल बिहार वाजपेयी की एक कविता सुनायी.

15 अगस्त कहता है, आजादी अभी अधूरी है,

सपने सच होने बाकी हैं, राबी की शपथ पूरी हो.

दिन दूर नहीं खंडित भारत को पुन: अखंड बनायेंगे,

गिलगिट से गारो पर्वत तक अपनी आजादी का पर्व मनायेंगे.

श्री दास ने कहा कि अटल जी के सपने को प्रधानमंत्री नरेेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने पूरा किया है. उन्होंने कहा कि मान-सम्मान के लिए तरसती मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक के अभिशाप से इस सरकार ने मुक्त कराया. यह कोई छोटा-मोटा निर्णय नहीं था. सदियों से मुस्लिम महिलाएं तीन तलाक से पीड़ित थीं. वह इससे मुक्ति चाहती थीं. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार ने उनकी इच्छा पूरी की.

रघुवर दास ने कहा कि आज का दिन झारखंड के लिए ऐतिहासिक दिन है. स्वर्णिम दिन है. उन्होंने कहा कि वर्ष 2000 में अटल बिहारी वाजपेयी ने अलग प्रदेश दिया. लेकिन 14 साल के दौरान प्रदेश का समुचित विकास नहीं हो पाया. उन्होंने कहा कि अपना विधानसभा भवन नहीं होने की वजह से बहुत सी परेशानियां थीं. हमारी पंचायत रसियन होस्टल में बैठती थी. वर्ष 2014 में केंद्र और झारखंड में भाजपा की सरकार बनी, तो वर्ष 2015 में झारखंड के नये विधानसभा भवन का निर्माण शुरू हुआ. चार साल में ही भवन बनकर तैयार है. उन्होंने कहा कि इस भवन में झारखंड की संस्कृति को दर्शाया गया है.

श्री दास ने कहा कि संथाल परगना के साहेबगंज में आज समुद्री प्रवेश मार्ग खुल गया है. साहेबगंज में केंद्रीय जहाजरानी मंत्री मौजूद हैं. झारखंड अब विश्व के कई देशों से जुड़ गया है. संथाल परगना के नौजवानों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा. आने वाले दिनों में साहेबगंज विकास के मार्ग पर आगे बढ़ेगा और शहर नये स्वरूप में आकार लेगा.

श्री दास ने कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि 6 दशक के कांग्रेस शासन में सरकार ने किसानों को कर्जदार बना दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र की बागडोर संभाली, तो उन्होंने किसानों के लिए कई योजनाएं शुरू कीं. उनके मार्गदर्शन में झारखंड सरकार ने अपने प्रदेश के किसानों के लिए योजना की शुरुआत की. कहा कि डबल इंजन की सरकार की वजह से प्रदेश के 35 लाख किसानों को 11 हजार से 31 हजार रुपये तक साल में दे रही है.

अब 18 से 40 साल तक के किसानों और खुदरा व्यापारियों के लिए एक योजना शुरू की जा रही है. इन्हें भी 60 साल के बाद पेंशन मिलेगी. श्री दास ने कहा कि प्रधानमंत्री देश में लोगों के हेल्थ कार्ड बनवा रहे हैं. इतना ही नहीं, खेत की सेहत सुधारने पर भी ध्यान दिया जा रहा है. सॉयल हेल्थ कार्ड भी बनवाये जा रहे हैं, ताकि खेतों की बीमारी को पता लगाया जाये और उसका उपचार हो सके.

उन्होंने कहा कि हर पंचायत में मिट्टी की दो महिला डॉक्टर नियुक्त की गयी हैं, जो किसानों को बतायेंगी कि किस मौसम में कौन सी फसल लगायें. किस फसल में कौन सा कीटनाशक डालें, ताकि किसानों को खेती से लाभ हो सके. आदिवासी बच्चों को शहरी बच्चों की तरह गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने की योजना की शुरुआत झारखंड से हो रही है. यह झारखंड के लिए गौरव की बात है. आदिवासियों के बच्चे भी डॉक्टर, इंजीनियर, आइएएस और आइपीएस बनें, इस सोच के साथ सरकार आगे बढ़ रही है.

जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान मोदी जी के लिए नारा नहीं है. श्री दास ने कहा कि जब पुलवामा पर पड़ोसी देश के आतंकवादियों ने हमला किया, तो मोदी जी के नेतृत्व की सरकार ने पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकवादियों को सबक सिखाया. भारत के वैज्ञानिकों ने विज्ञान के क्षेत्र में भी देश को विकसित राष्ट्र की श्रेणी में लाकर खड़ा किया. चांद के उस कोने पर भारत पहुंचा, जहां आज तक किसी ने जाने की सोची तक नहीं थी. मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता की ओर से जन्मदिन (17 सितंबर) की अग्रिम शुभकामनाएं दी.

 

 

तीन साल में 462 जनजातीय एकलव्य विद्यालय खुलेंगे : अर्जुन मुंडा

भारत सरकार के जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि गांव-गांव और जन-जन तक पहुंचने वाली योजनाओं की शुरुआत झारखंड से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की है. उन्होंने कहा कि एक महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय योजना की शुरुआत यहां से हो रही है. लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी के नेतृत्व में 2014 और 2019 के बीच आयुष्मान भारत समेत कई योजनाएं शुरू हुईं. इससे देश के लोग लाभान्वित हुए.

उन्होंने कहा कि भारी संख्या में देश के लोगों को आयुष्मान भारत योजना से स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं. गंभीर बीमारियों का इलाज करवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज दुनिया जानना चाहती है कि भारत इतनी बड़ी योजना कैसे संचालित कर रही है. श्री मुंडा ने कहा कि जनजातीय मंत्रालय के अंतर्गत एक महत्वाकांक्षी परियोजना की शुरुआत हो रही है. एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय.

उन्होंने कहा कि यह ऐसे विद्यालय होंगे, जहां बहुमुखी प्रतिभा उभरेगी. शिक्षा के साथ-साथ खेलकूद और कला के क्षेत्र में भी अपना परचम लहरायेंगे. उन्होंने कहा कि ये विद्यालय नवोदय विद्यालय के जैसे होंगे. एक-एक स्कूल में 480 विद्यार्थियों का नामांकन होगा. स्कूल में कम से कम चार खेल का लगातार प्रशिक्षण दिया जायेगा. ये स्कूल देश के 462 जगहों पर खुलेगा. इसमें गुणवत्ता आधारित शिक्षा दी जायेगी. तीन साल में परियोजना को पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है.

श्री मुंडा ने कहा कि उनका मंत्रालय पूरी प्रतिबद्धता के साथ जनजातीय वर्ग और जनजातीय क्षेत्र को शिक्षा के माध्यम से विकसित करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजना को पूरा करेगा. श्री मुंडा ने कहा कि 100 दिन के कालखंड में ऐतिहासिक उपलब्धि इस सरकार ने हासिल की है. अर्जुन मुंडा ने कहा कि सरकार की योजनाओं को सुदूर गांवों तक पहुंचाने में उनका मंत्रालय जुटा हुआ है.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने के सरकार के फैसले को ऐतिहासिक फैसला करार देते हुए अर्जुन मुंडा ने कहा कि अब कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश एक है. उन्होंने कहा कि जनजातियों के विकास को लेकर प्रधानमंत्री बेहद संवेदनशील हैं.

 

 

 

 

रांची : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को श्रीजगन्नाथ एचइसी मैदान से नवनिर्मित झारखंड विधानसभा भवन का उद्घाटन किया. इससे पहले, बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उनका स्वागत किया. प्रधानमंत्री ने झारखंड की राजधानी रांची में देश के पहले पेपरलेस विधानसभा भवन का ऑनलाइन उद्घाटन किया. इसी दौरान प्रधानमंत्री साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन भी किया. 69 एकलव्य आवासीय विद्यालय का शुभारंभ किया.

एचइसी मैदान के बाहर लोगों की भारी भीड़ जमी है. प्रधानमंत्री की यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये थे, जिसकी वजह से बिना पास के लोगों को इंट्री नहीं दी गयी. दूर-दराज के गांवों से भी भारी संख्या में किसान आये थे. उन्हें भी अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गयी.

मुख्य सभा स्थल श्रीजगन्नाथ मैदान एचइसी में लगी सभी कुर्सियां भर चुकी थीं. राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे किसान एवं आम जनता को जिला प्रशासन के कर्मियों द्वारा धीरे-धीरे कतारबद्ध करते हुए सभास्थल पर लगी कुर्सियों पर बैठाया. सुबह 8:30 बजे से ही लोगों का आना शुरू हो गया था.

मुख्य मंच के बायीं एवं दायीं ओर राज्य के लोक कलाकारों को बैठाया गया था. किसानों, आमजन एवं वीआइपी, वीवीआइपी का लोक कलाकारों ने मनोरंजन किया.



13 सितंबर को एक दिन का विशेष सत्र

झारखंड राज्य बनने के 19 साल बाद विधानसभा भवन का उद्घाटन होने के बाद 13 सितंबर, 2019 को विधानसभा का एक दिवसीय विशेष सत्र नये विधानसभा में आयोजित किया जायेगा. इस विशेष सत्र के लिए सभी दलों के विधायकों में खासा उत्साह है.

प्रधानमंत्री झारखंड के नये सचिवालय भवन का शिलान्यास भी करेंगे. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रघुवर दास के अलावा विधायक और अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहेंगे. प्रधानमंत्री के आगमन से पहले मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ट्वीट कर प्रदेश की सवा तीन करोड़ जनता से कहा, ‘आइये, आज एचइसी के श्रीजगन्नाथ मैदान में ऐतिहासिक पल के साक्षी बनें. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज झारखंड को नवनिर्मित विधानसभा भवन, साहिबगंज में मल्टी मॉडल टर्मिनल और एकलव्य स्कूलों की सौगात देंगे. साथ ही राज्य के सचिवालय की आधारशिला भी रखेंगे.’

मुख्यमंत्री ने आगे लिखा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए रांची तैयार है. आज का दिन झारखंड के लिए गर्व का दिन है. आज इस मंच से प्रधानमंत्री देश को पीएम किसान मानधन योजना, व्यापारी एवं स्वरोजगारियों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना की सौगात देंगे. उन्होंने झारखंड की हर जरूरत का ख्याल रखने के लिए राज्य की सवा तीन करोड़ जनता की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है. उल्लेखनीय है कि राज्य गठन के करीब 19 साल बाद झारखंड को अपना विधानसभा भवन मिला है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement