Advertisement

patna

  • Aug 20 2019 8:45AM
Advertisement

पटना : नल का जल व नाली-गली योजनाएं होंगी पूरी, तो नहीं होंगे कई रोग

पटना : नल का जल व नाली-गली योजनाएं होंगी पूरी, तो नहीं होंगे कई रोग
पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत बोले
पटना : राज्य में हर घर नल का जल और पक्की गली नली योजना धरातल पर उतर जाये तो ग्रामीण इलाकों में होने वाली  कई बीमारियां खत्म हो जायेंगी. उक्त बातें पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत ने दी. वे सोमवार को जिला पंचायती राज पदाधिकारियों के िलए आयोजित उन्मुखीकरण कार्यशाला को संबोधित करते थे. मंत्री ने कहा कि गांवों के विकास में आवश्यक है कि योजनाओं का सही लाभ ग्रामीणों तक पहुंचा दिया जाये. 
 
उन्होंने कहा कि सात निश्चय की दो योजनाओं का पालन पंचायती राज विभाग के जिम्मे हैं. राज्य के एक लाख 14 हजार वार्डों में हर घर नल का जल और पक्की नाली गली का निर्माण कराया जा रहा है. इन दो योजनाओं के पूरा होने से ग्रामीण इलाकों की कई बीमारियां नहीं होंगी. स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता और घरों से निकलने वाले गंदा पानी और बरसाती पानी के जमाव नहीं होने से बीमारियों पर नियंत्रण मिलेगा. 
कार्यपालक सहायकों का हो रहा नियोजन : ज्ञान भवन में नव नियुक्त तकनीकी सहायकों के उन्मुखीकरण कार्यशाला को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं को मजबूती देने के लिए चार पंचायतों पर एक लेखापाल, ग्राम पंचायत व प्रखंड स्तर पर एक-एक कार्यपालक सहायकों का नियोजन किया जा रहा है. 
 
तकनीकी कर्मियों के नहीं रहने के कारण सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता को नहीं मिल रहा था. उन्होंने तकनीकी सहायकों को जल जीवन और हरियाली मिशन में महत्वपूर्ण योगदान करने की नसीहत दी. 
 
इस मौके पर विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा ने बताया कि अब तक विभाग द्वारा 466 तकनीकी सहायकों की संविदा पर नियुक्ति पंचायत स्तर पर की गयी है. इनकी शैक्षणिक योग्यता  व कुशलता कनीय अभियंता स्तर की है. राज्य सरकार द्वारा पंचायतों की योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए योजनाओं के कार्य प्रारंभ होने के पूर्व की तैयारी, इस्टीमेट की तैयारी, योजनाओं के निरीक्षण, योजनाओं की प्रगति के अनुसार मेजरमेंट बुक के रखरखाव से काम की गुणवत्ता आयेगी और समय सीमा में पूरी होगी. उन्होंने बताया कि अब तक 60 हजार वार्डों में गली नालियों का पक्कीकरण हो चुका है. 
 
इसके साथ ही 58625 वार्डों में वित्तीय वर्ष 2019-20 में अभी तक 25 हजार वार्डों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराया जा चुकी है.  कार्यशाला को पंचायती राज निदेशक कुलदीप नारायण, अधीक्षण अभियंता बाल्मीकी मंडल, परामर्शी रघुवंश प्रसाद सिन्हा सहित अन्य ने संबोधित किया.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement