Advertisement

patna

  • May 25 2019 5:01AM
Advertisement

मैंने जब भी जो कहा, सच हुआ: पासवान

 पटना : लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा है कि कुछ लोग उनको भविष्यवक्ता-मौसम विज्ञानी कहते हैं. यह बात सही है, मैं जो कहता हूं वह होता है. चुनाव नतीजों को लेकर हमारी भविष्यवाणी सही साबित हुई. मैंने (पासवान) कहा था कि बिहार में एनडीए सभी सीटें जीतेंगी. एग्जिट पोल जो बता रहा है, देश में उससे कम सीट नहीं आयेंगी. 

 
 जीत के बाद शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में प्रेस काॅन्फ्रेंस कर पासवान ने कहा, हमने कहा था वह सही साबित हुआ है. बिहार में यूपीए की सरकार का जिक्र करते हुए कहा कि जिस दिन लालू-नीतीश की सरकार बनी थी, मैंने कहा था कि ये स्थायी सरकार नहीं रहेगी और कुछ ही दिनों के बाद ऐसा ही हुआ. 
 
उन्होंने कहा कि पिछली बार बेटे चिराग पासवान को अनुभव नहीं था, इसलिए मंत्री नहीं बने थे. अब उनमें नेतृत्व की क्षमता है. पार्टी के भविष्य हैं. 30 मई को पीएम तय करेंगे कि कौन मंत्री बनेगा. 
 
लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा - लोग मुझे कहते हैं मौसम विज्ञानी
रामविलास पासवान लोजपा प्रदेश कार्यालय में शुक्रवार को पार्टी के नवनिर्वाचित सांसद चिराग पासवान, पशुपति कुमार पारस, रामचंद्र पासवान, महबूब अली कैसर, वीणा देवी और चंदन कुमार को सम्मानित िकया. मीडिया को संबोधित करते हुए लोजपा सुप्रीमो ने कहा कि विरोधियों का पॉलिटिकल करियर ही तबाह हो गया है. यूपी-बिहार में दलित-पिछड़ा, ऊंची सभी जातियों के नेताओं का सफाया हो गया है. 
 
टीडीपी के चंद्रबाबू नायडू पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह बेगानी की शादी में अब्दुल्ला दीवाना की तरह हैं. राजद के डॉ रघुवंश प्रसाद सिंह अपने को बड़े नेता बनते थे, चुनाव में पहलवान खोजते थे. वीणा देवी ने उनको हरा दिया. राबड़ी देवी ने आंचल फैलाकर लालू के नाम पर वोट मांगा, पीएम-सीएम को अपशब्द कहे.
 
 आरजेडी मेें अहंकार था, जिसे जनता ने तोड़ दिया है. सूरजभान के भाई चंदन कुमार को उम्मीदवार बनाना उनका निर्णय था. इससे पूर्व सांसद रामकृपाल यादव, रामविलास पासवान से मिलने पहुंचे और लोजपा सुप्रीमो के पैर छूकर आशीर्वाद लिया. भाजपा सांसद का कहना था कि उनकी जीत में लोजपा का बड़ा हाथ है. इधर, रामविलास पासवान ने लोजपा उम्मीदवारों को हराने वालों पर कार्रवाई करने के संकेत दिये हैं. 
 
इस संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी उनकी बात हुई है. उन्होंने कहा कि चिराग पासवान अौर अन्य उम्मीदवारों को हराने के लिए पांच लोगों की एक टीम काम कर रही थी. नरेंद्र सिंह, रामा सिंह, विजय सिंह, दिनेश आदि का नाम लेते हुए कहा कि ऐसा माहौल बनाया जा रहा था कि लाेजपा उम्मीदवार हार जाएं. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement