Advertisement

patna

  • Mar 20 2017 8:54AM
Advertisement

बिहार : नगर विकास एवं आवास विभाग की पहल, पुनर्गठन से नगर परिषदों की बढ़ जायेगी संख्या

बिहार : नगर विकास एवं आवास विभाग की पहल, पुनर्गठन से नगर परिषदों की बढ़ जायेगी संख्या
पटना. नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा राज्य में नये नगरपालिकाओं के गठन और उसके उत्क्रमण की कार्रवाई की जा रही है. इससे राज्य में नगर निगमों, नगर परिषदों और नगर पंचायतों की संख्या में वृद्धि हो जायेगी. नगरपालिका आम निर्वाचन 2017 के पहले नगर निगमों की संख्या 11, नगर परिषदों की संख्या 42 और नगर पंचायतों की संख्या 87 थी. नये नगर पंचायतों के गठन के बाद इनकी संख्या बढ़ेगी तो कई नगर पंचायतों के उत्क्रमण कर नगर परिषद बनाने से परिषद की संख्या में सबसे अधिक वृद्धि हो जायेगी. राज्य में नगर निगम की संख्या में एक की बढ़ोत्तरी हुई है. नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा छपरा को अब नगर निगम का दर्जा दे दिया गया है. छपरा के नगर निगम क्षेत्र होने से राज्य में नगर निगमों की कुल संख्या अब 12 हो गयी है. इसी तरह से सरकार द्वारा कई नगर पंचायतों को नगर परिषद बनाने की घोषणा की गयी है.
 
कुछ का पुनर्गठन कर उनको नगर परिषद करने की प्रक्रिया की जा रही है. इसमें नगर पंचायत बख्तियारपुर, फतुहा, बरबीघा और महानार को नगर परिषद बनाने की प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है. इसमें महानार नगर पंचायत को नगर परिषद बनाये जाने को लेकर प्रारूप प्रकाशित करते हुए एक माह के अंदर आपत्ति व शिकायत की मांग की गयी है. इसके अलावा नगर पंचायत दाउदनगर और बांका को नगर परिषद के रूप में पुनर्गठन करने की प्रक्रिया आरंभ की गयी है. राज्य में 42 नगर परिषदों में से एक छपरा को नगर निगम क्षेत्र घोषित होने के बाद नगर परिषदों की संख्या 41 रह गयी थी. सरकार द्वारा छह नये नगर पंचायतों के नगर परिषद के रूप में उत्क्रिमित किया जाता है कि इसकी संख्या बढ़कर 47 हो जायेगी.
 
राज्य के 87 नगर पंचायतों में से छह को नगर परिषद घोषित किये जाने से इसकी संख्या घटकर 81 हो गयी है. अब इसमें तीन नये नगर पंचायतों के गठन का काम किया जा रहा है. इसमें बारसोई को नगर पंचायत घोषित किया जा चुका है. इसके अलावा पालीगंज और हरनौत को नगर पंचायत बनाने की प्रक्रिया आरंभ की गयी है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement