Advertisement

patna

  • Jun 13 2019 8:38AM
Advertisement

पटना : निशांत की पत्नी अलका लेना चाहती थीं तलाक, रूम से मिला तलाक पेपर

पटना : निशांत की पत्नी अलका लेना चाहती थीं तलाक, रूम से मिला तलाक पेपर
दूसरे दिन तीन घंटे सर्च, ब्याज पर 12 लाख लेने के भी मिले प्रमाण
पटना : टेक्सटाइल कारोबारी निशांत सर्राफ उर्फ निशु का पूरे परिवार के साथ सुसाइड के पीछे का राज खुल गया है. घटना के 24 घंटे बाद बुधवार की दोपहर जब डीएसपी लॉ एंड अॉर्डर राकेश कुमार कोतवाली पुलिस के साथ निशांत के आवास पर पहुंचे और निशांत के बेडरूम को फिर से तीन घंटे तक सर्च किया तो पूरी कहानी सामने आ गयी.
 
पुलिस को बेडरूम से दो पेपर मिले, जिनसे पूरी घटना ही खुल गयी और यह भी साफ हो गया कि निशांत बहुत ही डिप्रेशन में थे. पुलिस ने उनके कमरे से तलाक पेपर बरामद किया है. पता चला है कि निशांत का पत्नी अलका से संबंध अच्छा नहीं था. दोनों के संबंधों में तल्खी थी. वे झगड़ते थे. यह  विवाद तलाक तक पहुंच गया था.
 
निशांत की पत्नी अलका तलाक लेना चाहती थीं. इसकी तैयारी अंदर-अंदर हो गयी थी. दोनों तलाक के पेपर पर हस्ताक्षर कर चुके थे, लेकिन अभी यह फाइल नहीं हुआ था. इसके अलावा एक दूसरा सुसाइड लेटर भी मिला है. इसे निशांत ने पिता अशोक सर्राफ के नाम लिखा है. 
पुलिस ने इस दोनों कागजात को बरामद करने के बाद यह साफ कर दिया है कि यह मामला सुसाइड का है. निशांत काफी डिप्रेशन में थे, इसलिए उन्होंने पत्नी और बेटी की हत्या कर दी और खुद को गोली मारकर खत्म कर लिया. वहीं, बेटा अभी जिदंगी के लिए स्थानीय अस्पताल में संघर्ष कर रहा है.
 
निशांत के आवास पर पसरा रहा सन्नाटा
 
टेक्सटाइल कारोबारी अशोक सर्राफ के बेटे निशांत और उनकी पत्नी-बेटी की मौत के बाद आलीशान आवास में सन्नाटा पसरा हुआ है.
घर के नौकर, ड्राइवर, माली सभी उदास हैं. निशांत का पर्सनल ड्राइवर काफी आहत है. किदवईपुरी मुहल्ले में निशांत के शांत स्वभाव की चर्चा है. पति-पत्नी का विवाद भले ही तलाक की हद तक पहुंच गया हो, पर लाेग यह मानने को तैयार नहीं हैं. उनके कुछ रिश्तेदारों का कहना है कि निशांत ऐसे नहीं थे. वह अपने ही हाथों अपने परिवार को मिटा नहीं सकते थे. 
 
पुलिस को अभी एफएसएल की जांच रिपोर्ट का इंतजार

परिवार के सदस्यों से अलग-अलग हुई पूछताछ
 
डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर राकेश कुमार कोतवाली पुलिस के साथ बुधवार को दिन  के 12 बजे निशांत के घर पहुंचे थे. पुलिस तीन घंटे तक अंदर रही. इस दौरान परिवार के सदस्यों से अलग-अलग पूछताछ हुई. इनमें पिता अशोक सर्राफ, भाई अजीत उर्फ विक्की, मां और निशांत की भाभी से भी अलग पूछताछ हुई. पुलिस ने बुधवार को क्राइम सीन क्रिएट करने के लिए परिवार के सभी सदस्यों से यह पूछा कि जब घटना हुई तो वे कहां थे और क्या कर रहे थे. नौकर और ड्राइवर से भी पूछताछ हुई, इसके बाद मामला खुला है.

मासूम इशांत की हुई ब्रेन सर्जरी, अब तक नहीं आया होश
 
मासूम इशांत अभी जिंदगी के लिए संघर्ष कर रहा है. मंगलवार की देर रात उसके ब्रेन की सर्जरी की गयी. डॉक्टरों के मुताबिक ब्रेन क्षतिग्रस्त होने और खून की कमी होने के कारण अभी उसे होश नहीं आया है और वह कोमा में है. निशांत के घरवाले राजाबाजार स्थित निजी अस्पताल में मौजूद हैं. सभी भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं कि इशांत ठीक हो जाये.
 
पिता को संबोधित सुसाइड नोट में  िलखा
 
पापा, मैंने दोस्त सुमित से Rs 12 लाख ब्याज पर लिये हैं. उसे ब्याज समेत वापस कर दीजिएगा. मुझे माफ कर दीजिएगा पापा. मैं पांच-छह साल से बहुत परेशान हूं. मुझे लग रहा था परिस्थितियां बदलेंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.
 
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भोजन के पांच घंटे बाद मौत होने की पुष्टि
 
मृत कारोबारी निशांत सर्राफ, पत्नी अलका सर्राफ और बेटी अन्नया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ चुकी है. इसमें बताया गया है कि भोजन करने के पांच घंटे बाद हत्या की गयी है. इससे साफ है कि सुबह के चार और पांच बजे के बीच गोली मारी गयी. पहले अलका काे गोली मारी गयी. उसके  बाद बेटी अन्नया और बेटे को. फिर निशांत ने खुद को गोली मार ली. सिर में गोली लगने के अलावा शरीर में अन्य कोई चोट नहीं मिली है.

निशांत का लैपटॉप भी लिया कब्जे में
 
पुलिस ने घटना के दिन निशांत का मोबाइल फोन कब्जे मेंलिया था. बुधवार को निशांत का लैपटॉप भी हाथ लग गया. अब निशांत व अलका के मोबाइल फोन और लैपटॉप से जांच की जा रही है. मैसेंजर, एसएमस, व्हाट्सएप और सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफॉर्म पर मौजूद निशांत और अलका की चैटिंग व अन्य चीजों को खंगाला जा रहा है, क्योंकि पुलिस अभी यह साफ नहीं कर पायी है कि अगर यह सुसाइड था तो क्यों ऐसा हुआ. पुलिस को उम्मीद है कि मोबाइल फोन और लैपटॉप से घटना के बारे में कुछ जानकारी मिलेगी. 
 
पति-पत्नी के बीच अगर विवाद होता था तो इसकी मूल वजह क्या थी? विवाद कैसा था, आखिर कौन-सी ऐसी गुत्थी, जिसे परिवार नहीं सुलझा पा रहा था. पुलिस को जांच में एक और चीज साफ हुई कि अलका सर्राफ सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव रहती थीं. पुलिस एफएसएल रिपोर्ट के इंतजार है. फिंगरप्रिंट से यह देखा जा रहा है कि घर में कोई बाहरी व्यक्ति तो नहीं घुसा था. फिलहाल जांच जारी है. पुलिस ने सुसाइड नोट को कब्जे में लिया है और हैंडराइटिंग एक्सपर्ट से इसकी करायी जा रही है. पुलिस यह साफ करना चाहती है कि सुसाइड नोट निशांत ने खुद लिखा है या नहीं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement