Advertisement

other state

  • Aug 20 2019 1:13PM
Advertisement

झारखंड: राज्यपाल ने आदिवासी समाज में हड़िया पीने की परंपरा से हो रही बिमारियों पर जतायी चिंता

झारखंड: राज्यपाल ने आदिवासी समाज में हड़िया पीने की परंपरा से हो रही बिमारियों पर जतायी चिंता
दुमकाः राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आदिवासी समाज में हड़िया पीने की परंपरा से हो रही बिमारियों पर चिंता जतायी है. उन्होंने कहा कि लोग हड़िया का सेवन कर अपना स्वास्थ्य खराब कर लेते हैं. आदिवासी समाज में लोग हड़िया को प्रसाद मानते हैं, पूजा करते हैं. कहा कि प्रसाद को प्रसाद के ही तरह ग्रहण करें. दिन रात उसका सेवन नहीं करें.
 
राज्यपाल मंगलवार सुबह काठीकुंड प्रखंड स्थित कल्याण विभाग द्वारा संचालित कल्याण अस्पताल का निरीक्षण करते वक्त इलाजरत मरीजों ये बातें कहीं. राज्यपाल ने कहा कि कहा कि आदिवासी समाज में सभी को सजग होने की जरूरत है. सलाह दी कि खानपान में परहेज कर आप डॉक्टर तक जाने से बच सकते हैं. उन्होंने वहां मौजूद महिलाओं से कहा कि अपने आप को स्वस्थ रखें.
 
आप स्वस्थ रहेंगे तो निश्चित रूप से इस दुनिया में आने वाला हर बच्चा स्वस्थ रहेगा. सरकार लगातार स्वास्थ्य सुविधा बेहतर करने की दिशा में कार्य कर रही है. राज्यपाल ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना चलाकर सरकार ने गरीबों के चेहरे पर मुस्कान लाने का कार्य किया है. अब गरीब माताओं-बहनों को अपने इलाज के लिए किसी साहूकार के पास जाने की जरूरत नहीं है.
 
कई निजी तथा सरकारी अस्पताल इस योजना के तहत लोगों का मुफ्त इलाज कर रहे हैं. सर्वे भवंतु सुखिनः, सर्वे संतु निरामयाः अर्थात सभी स्वस्थ रहें सभी सुखी रहें यही सरकार का उद्देश्य है. उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही है. जन्म से लेकर पढ़ाई लिखाई एवं रोजगार तक सरकार द्वारा योजनाएं चलाई जा रही है जागरूक बने एवं सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लें.
 
उन्होंने कहा कि जागरूक होकर ही समाज में बदलाव लाया जा सकता है. खुद जागरूक बने तथा अपने आसपास के भी लोगों को जागरुक करने का कार्य करें.  इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी ने कहा कि कल्याण विभाग द्वारा इस अस्पताल का संचालन किया जाता है. लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मिले यही इस अस्पताल का उद्देश्य है. जो भी समस्याएं हैं इस अस्पताल हैं उसे जल्द से जल्द दूर किया जाएगा. उन्होंने उपस्थित डॉक्टरों से कहा कि समर्पण भाव से सेवा करें निश्चित रूप से गरीबों के चेहरे पर मुस्कान आएगा.
 
इससे पूर्व पारंपरिक रीति रिवाज से राज्यपाल का स्वागत किया गया. इस अवसर पर दुमका की उपायुक्त राजेश्वरी बी, उप विकास आयुक्त वरुण रंजन सहित जिला प्रशासन के वरीय अधिकारी उपस्थित थे.
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement