Advertisement

other state

  • Jun 19 2019 12:37PM
Advertisement

साइबर ठगी, कस्टम क्लीयरेंस, पुलिस वेरिफिकेशन के नाम पर मांगे 2 करोड़

साइबर ठगी, कस्टम क्लीयरेंस, पुलिस वेरिफिकेशन के नाम पर मांगे 2 करोड़

बेंगलुरु : अनाथ बच्चों की मदद करने के नाम पर बौद्ध भिक्षू से 2 करोड़ रुपये की ठगी की गयी. कर्नाटक के करवार शहर में 73 वर्षीय बौद्ध भिक्षू  कर्मा खेदप से यह ठगी एक अमेरिकी नागरिक ने की. अब इस पूरे मामले की जांच की जा रही है. खुद को अमेरिकन बताने वाली एक फेसबुक यूजर ने अनाथ बच्चों की मदद करने के नाम पर बौद्ध भिक्षु से ठगी की. 

बेंगलुरु से करीब 400 किमी दूर करवार की एक शरणार्थी कॉलोनी में रहने वाले बौद्ध भिक्षु कर्मा खेदप की फेसबुक पर महिला से दोस्ती हुई.  महिला ने कर्मा को बताया था कि उसका नाम रालैंड माइकल है और वह अमेरिकी की रहने वाली है.  महिला ने बौद्ध भिक्षु को बताया था कि वह अनाथ है और उसने इसी तरह अपना जीवन काटा है. अब वह  भारत आकर गरीब बच्चों की मदद करना चाहती है. महिला की इस बात पर बौद्ध भिक्षु ने रुचि दिखाई, जिसके बाद दोनों के बीच वॉट्सऐप पर भी चर्चा शुरू हुई. 
 
महिला ने कहा वह भारत आकर यहीं बसना चाहती हैं.  इसके अलावा वह बौद्ध भिक्षु को करीब 2.5 करोड़ डॉलर (17 करोड़ रुपये) दान करना चाहती हैं, जिससे कि देश में अनाथ बच्चों की मदद के लिए काम शुरू कराए जा सके.   बौद्ध भिक्षू  इस पर राजी हो गये और भारत आने का भी निमंत्रण दे दिया.  महिला ने कहा कि उसके भारत आने से पहले उसका एक दोस्त विलियम जॉनसन हिंदुस्तान आकर सारा काम संभालेगा, इसलिए कर्मा खुद उससे फोन पर बात कर लें. 
 
जब बौद्ध भिक्षु ने महिला के दिए नंबर पर विलियम जॉनसन से बात की तो उन्होंने  कर्मा से कस्टम क्लियरेंस, पुलिस वेरिफिकेशन और अन्य खर्चों के लिए कुछ पैसों की मांग की.  बौद्ध भिक्षू को लगा कि इस नेक काम के लिए वह थोड़ी तो मदद कर सकते हैं उन्होंने  करीब 2 करोड़ रुपये विलियम द्वारा दिए गए बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करा दिये. इसके बाद जब महिला और विलियम दोनों से दोबारा संपर्क ना हो सका तो कर्मा को अपने साथ हुई धोखाधड़ी की जानकारी मिली.  इसपर उन्होंने तत्काल पुलिस की साइबर सेल के पास मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई. अब इस पूरे मामले की जांच चल रही है. 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement