Advertisement

national

  • Aug 20 2019 6:05AM
Advertisement

बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश समेत 17 राज्यों में भारी बारिश की आशंका, दिल्ली में 40 साल बाद बाढ़ का खतरा

बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश समेत 17 राज्यों में भारी बारिश की आशंका, दिल्ली में 40 साल बाद बाढ़ का खतरा

उत्तर भारत में बारिश का कहर, हिमाचल और उत्तराखंड में 42 लोगों की मौत

नयी दिल्ली : उत्तर भारत के कई इलाके भारी बारिश की चपेट में हैं. हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब-हरियाणा में पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति भयावह हो गयी है. हिमाचल प्रदेश में बारिश और भूस्खलन के कारण 25 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि दर्जनभर लोग लापता है.

वहीं, उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण कई जगह बादल फटने और भूस्खलन होने से 17 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि 22 अन्य लापता हैं. पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है. पिछले दो दिनों में तीन लोगों के मरने की सूचना है. इस बीच, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को रूपनगर जिले में स्थिति का जायजा लिया, जबकि भारतीय वायुसेना ने करनाल में बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों से नौ लोगों को बचाया है. 

इधर, यमुना नदी का जलस्तर सोमवार को खतरे के निशान को पार कर गया. इससे राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 40 साल बाद बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है. बाढ़ के खतरे को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्थिति का आकलन करने और व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए संबंधित विभागों की एक आपात बैठक की. 

एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार को यमुना 204.7 मीटर पर बह रही थी. रविवार शाम छह बजे हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से 8.28 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद इसका जलस्तर 207 मीटर तक बढ़ने की संभावना है. इस बीच, मौसम विभाग ने बिहार, झारखंड समेत 17 राज्यों में अगले 24 घंटे के अंदर भारी बारिश की चेतावनी जारी है.

जम्मू-कश्मीर : देवदूत बने वायुसेना के जवान, उफनती तवी नदी से चार लोगों को बचाया

जम्मू-कश्मीर की उफनती तवी नदी में फंसे चार मछुआरों को एक साहसिक अभियान में भारतीय वायुसेना के हेलीकाप्टर से सोमवार को एयरलिफ्ट किया गया. अधिकारियों ने बताया कि मछुआरे बागवती नगर में एक झील बनाने के लिए एक निर्माणाधीन संरचना के एक खंभे के नीचे बने एक ठोस प्लेटफार्म पर फंसे हुए थे. एनडीआरएफ और पुलिस के जवान मछुआरों तक पहुचने में विफल रहे थे. यह ऑपरेशन सांसें थाम देने वाला था. पहले यह ऑपरेशन रस्सी टूट जाने के कारण फेल हो गया था. 

दिल्ली

40 साल बाद राष्ट्रीय राजधानी में बाढ़ का खतरा, बढ़ रहा यमुना का जलस्तर, हटाये गये 10 हजार लोग

हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से 8.28 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया, 207 मीटर बह रही यमुना

निचले इलाकों में बसे हजारों लोगों को निकाला गया, 2,120 अस्थाई शरण स्थल बनाये गये हैं

हिमाचल 

पिछले दो दिन में बारिश और भूस्खलन से 24 की मौत, 500 लोग फंसे

राज्य में नौ नेशनल हाइवे समेत 877 सड़कें बंद, यातायात बाधित

कुल्लू के रूपा क्षेत्र में भूस्खलन से अवेरी-बजीरबॉडी मार्ग और बजौरा-कतौला मार्ग बाधित 

उत्तराखंड

उत्तरकाशी के आराकोट में बादल फटने और भूस्खलन से मची तबाही, 17 की मौत

हरिद्वार में गंगा खतरे के निशान के ऊपर, चार धाम और कैलाश-मानसरोवर यात्रा बाधित

उत्तरकाशी और टिहरी में बाढ़ में फंसे लोगों को हेलीकॉप्टरों के जरिये निकाला जा रहा है

दक्षिण भारत में बाढ़ से मिली राहत, पर मरने वालों की बढ़ रही संख्या

दक्षिण भारत में बारिश और बाढ़ से राहत मिली है, लेकिन मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रहा है. केरल में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 121 हो गयी है. वहीं, कर्नाटक में 76 की लोगों की मौत हुई है. राज्य के उत्तरी, तटीय और मलनाड क्षेत्र बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. महाराष्ट्र भी बारिश और बाढ़ से राहत मिली है. राज्य के पुणे मंडल में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 56 हो गयी. 

इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, देश में अब तक 2% अधिक बारिश

मौसम विभाग ने सोमवार को अगले 24 घंटे में उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पूर्वी राजस्थान, महाराष्ट्र के विदर्भ, बिहार, झारखंड, आंध्र, तेलंगाना, दक्षिणी कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय के कुछ इलाकों में भारी बारिश की आशंका है. मॉनसून की शुरुआत से अब तक देशभर में 626 मिमी बारिश हो चुकी है. यह सामान्य 612 मिमी से करीब दो प्रतिशत ज्यादा है.

पंजाब-हरियाणा में भी वायुसेना ने नौ लोगों को बचाया 

पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है. भारतीय वायुसेना ने करनाल में बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों से नौ लोगों को बचाया है. लुधियाना जिले के 10 गांवों में बाढ़ के पानी घुसने के बाद जिले के कुछ हिस्सों से लोगों को निकाला गया.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement