मशहूर फिल्‍म प्रोड्यूसर राजकुमार बड़जात्‍या का निधन
Advertisement

gaya

  • Feb 11 2019 7:03AM

गया : तीन दिन पहले अपहृत प्रॉपर्टी डीलर लौटा वापस

 गया  : शहर के न्यू एरिया के रहनेवाले अजय कुमार सिंह के अपहरण की घटना का पटाक्षेप हो गया है. रविवार की सुबह अजय कुमार सिंह खुद ही नशे की हालत में सिविल लाइंस थाने में पहुंच गये. सिटी डीएसपी राजकुमार साह ने बताया कि सात फरवरी को नीलू कुमारी (अजय कुमार सिंह की पत्नी) ने अपहरण की शिकायत दर्ज करायी थी. 

 
उसके बाद पुलिस   जांच में अजय कुमार का कॉल डिटेल निकालने लगी. कॉल डिटेल में कुछ  संदिग्ध लोग मिले, उनसे पूछताछ की गयी. कई जगहों पर छापेमारी की गयी. दबिश  बनायी गयी और अंतत: अजय लौट आये. 
 
हालांकि इन सबके बीच अजय का खुद ही सिविल लाइंस थाना पहुंचना अब तक संदेहास्पद दिख रहा है,  क्योंकि परिजनों के व अपहृत के बयान में फर्क है. कॉल डिटेल्स के  अनुसार, अजय व प्रिंस (अजय के दूर का रिश्तेदार) का मोबाइल  लोकेशन कोडरमा  में एक जगह पर कुछ दिनों से था. उसके बाद पुलिस ने प्रिंस की पत्नी को गुरुआ  से पकड़ा गया. उससे पूछताछ की ही जा रही थी कि अजय का आ जाना संदेह पैदा कर रहा है. 
 
 सिटी डीएसपी ने  बताया कि प्रिंस को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा  रही है. उसकी गिरफ्तारी के बाद ही घटना से पर्दा उठ पायेगा. वैसे केस  में नामजद बनाये गये चुनचुन पांडे को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर  पूछताछ की है. जमीन के बारे में लाखों रुपये लेनदेन की बात सामने आयी है.  हालांकि, अब तक चुनचुन पांडे ने अपहरण की घटना में शामिल होने की बात नहीं  कबूल की है.  
 
क्या कहा अजय ने 
पूछताछ  में अजय ने बताया कि उससे बातचीत करने व पुराना हिसाब के लिए एक व्यक्ति  ने फोन कर गेवाल बिगहा बुलाया. वहां उसे एक फोर व्हीलर पर बैठाया गया. उसमें  सिर्फ ड्राइवर था. ड्राइवर ने उसे बताया कि थोड़ी देर में कुछ लोग आ  जायेंगे. उसके बाद उसे कहां ले जाया गया, याद नहीं है. रविवार को उसे  कोडरमा स्टेशन के पास छोड़ा गया.
 
 वहां से वह नशे की हालत में ट्रेन से गया  पहुंचा और ऑटो से सिविल लाइंस थाने में पहुंच गया. अजय ने बताया कि उसके  अपहरण में करीब छह लोग शामिल थे. उसकी आंखों पर हर वक्त पट्टी बंधी रहती थी, इसलिए वह किसी को पहचान नहीं सका. कुछ कुरेदने पर अजय कहता है कि  जिसे वह पहचानता है उसके बारे में वह पुलिस अधिकारी को ही बतायेगा.  
 
यह है पूरा मामला
शहर के न्यू एरिया बिसार तालाब के रहनेवाले अजय कुमार सिंह की पत्नी नीलू कुमारी ने गुरुवार (सात फरवरी) को सिविल लाइंस थाने में अपने पति के अपहरण की शिकायत सिविल लाइंस थाने में दी. इसके बाद वरीय अधिकारियों की पहल पर ताबड़तोड़ छापेमारी की गयी. आरोपित बनाये गये बोधगया डहेरिया बिगहा के चुनचुन पांडेय को पुलिस ने पकड़ लिया. 
 
चुनचुन व अजय के बीच करीब साढ़े 47 लाख रुपये की लेनदेन में गड़बड़ी की बात सामने आयी. पूछताछ में चुनचुन ने कबूल कर लिया. टेक्निकल सेल के अनुसंधान में कॉल डिटेल में प्रिंस कुमार का नाम सामने आया. प्रिंस की पत्नी को पूछताछ के लिए पुलिस ने उठाया उसके दूसरे दिन ही अजय वापस थाने पहुंच गया.
 
पुलिस मान रही संदेहास्पद
गुरुवार को सिविल लाइंस थाने में अपहरण की हुई थी शिकायत
महिला के नाम पर लिये सिम का किया गया यूज
 
उन्होंने  बताया कि सिम एक महिला के नाम पर लिया गया था. उक्त महिला को बुला कर पूछताछ  की  गया, तो उसने बताया कि वह सिम लेने गयी थी, तो आधार कार्ड  दुकानदार के यहां छूट गया था. दूसरे दिन उसे दुकानदार ने बुलाकर आधार कार्ड  लौटाया था. उसके बाद दुकानदार को बुलाया गया, तो उसने बताया कि उसका एक टारगेट  होता है. उसे पूरा करने ही वह सिम बेचता था. दुकानदार की भूमिका इसमें  संदेहास्पद है. इसलिए उसे भी पूछताछ के लिए रखा गया है. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement