dhanbad

  • Dec 11 2019 12:42PM
Advertisement

मध्यप्रदेश में सरकार गिराने की कोई योजना नहीं, धनबाद में बोले शिवराज सिंह चौहान, सरयू राय पर कही यह बात

मध्यप्रदेश में सरकार गिराने की कोई योजना नहीं, धनबाद में बोले शिवराज सिंह चौहान, सरयू राय पर कही यह बात

धनबाद : मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सह भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार को गिराने की कोई योजना नहीं है. वहां कांग्रेस अपनी नीतियों के चलते परेशान है.

बुधवार को यहां पत्रकार सम्मेलन में श्री चौहान ने कहा कि कर्नाटक की तरह एमपी में भाजपा की सरकार बनाने की कोई योजना नहीं है. कहा हम चाहते तो उस समय ही वहां सरकार बना सकते थे. लेकिन, नैतिकता के आधार पर सरकार नहीं बनाया. कांग्रेस के वहां ढाई सीएम हैं.

एक कमलनाथ, दूसरे दिग्विजय सिंह तथा आधा सीएम ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं. एक वर्ष में कांग्रेस सरकार ने कर्ज माफी का वादा पूरा नहीं किया. कहा कि देश में अब गठबंधन की राजनीति का दौर समाप्त हो गया है. लोग विकास व स्थिर सरकार के लिए भाजपा को समर्थन दे रहे हैं. इसका ताजा उदाहरण कर्नाटक है. जहां उप चुनाव में भाजपा को 15 में से 12 सीट मिला.

देश में आर्थिक मंदी या रोजगार का संकट नहीं

एक सवाल के जवाब में भाजपा नेता ने कहा कि देश में आर्थिक मंदी जैसी कोई बात नहीं है. वैश्विक मंदी का हल्का असर है. विपक्ष गलत प्रचार कर रहा है. रोजगार का भी संकट नहीं है. आधारभूत संरचना के क्षेत्र में रोजगार के नये अवसर पैदा हो रहे हैं. प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार के अवसर मिल रहे हैं.

महागठबंधन में भ्रष्टाचारियों की जमघट

श्री चौहान ने कहा कि भारत में राम राज्य चल रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी साक्षात भगवान राम की तरह काम कर रहे हैं. जबकि गृह मंत्री अमित शाह हनुमान की भूमिका में हैं. झारखंड के सीएम रघुवर दास को नल-नील बताया. रामायण की इस दौर में आप किसकी भूमिका में हैं के जवाब में कहा कि एमपी के जनता के सेवक हैं.

जनता के मंदिर का पुजारी. भाजपा के बागी नेता सरयू राय द्वारा सीएम पर लगाये जा रहे आरोपों के सवाल पर कहा कि श्री राय स्वभाव से नेता प्रतिपक्ष हैं. ऐसे रघुवर सरकार पूरी पारदर्शिता से काम कर रही है. महागठबंधन में भ्रष्टाचारियों की जमघट है. इस दौरान भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री राहुल सिन्हा, जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह, मानस प्रसून, मिल्टन पार्थ सारथी भी मौजूद थे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement