Delhi

  • Jan 17 2020 7:12PM
Advertisement

राहुल गांधी को नड्डा की चुनौती, CAA पर दस वाक्य बोलकर दिखायें

राहुल गांधी को नड्डा की चुनौती, CAA पर दस वाक्य बोलकर दिखायें

नयी दिल्ली : भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया और कांग्रेस नेता को चुनौती दी कि इस कानून पर 10 वाक्य बोलकर दिखायें.

नड्डा ने यहां सीएए के समर्थन में एक बौद्ध संगठन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कहा कि देश के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोग मुद्दे को समझे बिना अपना ज्ञान दिखाते हैं ताकि लोगों को गुमराह किया जा सके. भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा, कांग्रेस सीएए का विरोध कर रही है. मैं राहुल गांधी को चुनौती देता हूं कि कानून पर 10 वाक्य बोलकर दिखायें. वह हमें दो वाक्य में बता दें कि सीएए को लेकर उन्हें क्या दिक्कत है. वह इतनी बड़ी पार्टी का नेतृत्व कर रहे हैं और उन्हें खुद तय करना है कि यह काम उन्हें कैसे करना है, लेकिन उन्हें देश को गुमराह नहीं करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून में संशोधन पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के उन अल्पसंख्यकों के लिए है जिन्हें उन देशों में सालों तक धार्मिक प्रताड़नाएं सहनी पड़ी हों और उन्होंने बाद में भारत में शरण ली हो. नड्डा ने कहा कि महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी जैसे नेताओं ने इन पीड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने की वकालत की थी, लेकिन कांग्रेस में अब कोई नेता नहीं है जो इस मुद्दे को समझ सके. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने दूसरी बार सत्ता में आने के बाद से छह महीने में ऐसे मुद्दों को सुलझा लिया जो 70 साल से लंबित थे. विपक्षी दलों के पास कोई मुद्दा नहीं बचा और वे देश को गुमराह करने के लिए सीएए का इस्तेमाल कर रहे हैं.

नड्डा ने कहा, कांग्रेस और वामदलों के लिए उनका वोट बैंक देश से पहले आता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए देश पहले और वोट बाद में हैं. उन्होंने कहा कि आलोचक दावा कर रहे हैं कि इस कानून के बाद करोड़ों लोग भारत में आकर बस जायेंगे, लेकिन तथ्य यह है कि यह उन लोगों के लिए है जो 31 दिसंबर, 2014 तक यहां आये थे. भाजपा नेता ने कहा कि विपक्षी दल समस्याओं को लंबे समय तक अनसुलझा रखने में भरोसा रखते हैं ताकि वे उन पर सियासत कर सकें, लेकिन मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 जैसे मुद्दों पर ध्यान दिया है. नड्डा ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून का विरोध कर रहे लोग वास्तव में देश को कमजोर कर रहे हैं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement