Advertisement

calcutta

  • Jul 1 2019 2:47AM
Advertisement

पुलिस के खिलाफ कट मनी बैक पॉलिसी होगी शुरू

पुलिस के खिलाफ कट मनी बैक पॉलिसी होगी शुरू

 कोलकाता : पंचायत  चुनाव से लेकर लोकसभा चुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुलिस का इस्तेमाल किया.  पुलिस का इस्तेमाल कोयला, बालू और गौ तस्करी की वसूली में हुआ. गांवों  से शहरों की तरफ जानेवालीं सब्जियां, मछली और आम के किसानों को भी पुलिस ने  नहीं बख्शा. 

 
आज जिस तरह से राज्य की विभिन्न नगरपालिकाओं, जिला  पंचायतों और जिला  परिषदों में कट मनी बैक पॉलिसी चल रही है, वह आनेवाले  दिनों में पुलिस पर भी लागू होनेवाली है. जनता बहुत जल्द पुलिस की वसूली  के खिलाफ भी रास्ते में उतरने वाली है.
 
 स्थिति यह है कि अब जनता अन्याय के  खिलाफ जगह-जगह कानून हाथ में ले रही है. पिटती पुलिस भी अब संभल गयी है,  तभी तो मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कहा कि पुलिस हमारी बात नहीं सुन रही  है. ये बातें भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहीं. 
 
रविवार को  हावड़ा जिला भाजपा द्वारा शरत सदन में आयोजित जोगमेला का आयोजन किया गया था, जिसमें कई वार्डों के लोग भाजपा में शामिल हुए.
 
 अपने संबोधन में श्री घोष ने राज्य में हो रही राजनीतिक हत्याओं के लिए तृणमूल सरकार को दोषी ठहराते हुए कहा कि 2013 से लेकर अबतक राज्य में भारतीय जनता पार्टी के 70 कार्यकर्ताओं की  हत्या कर दी गयी. राज्य में हत्याएं हो रही हैं. जिलों में बम और गोलियों की आवाजें गूंज रही हैं. पूरे देश में ऐसा नहीं हुआ. बांग्लादेश के रास्ते  राज्य में अलकायदा, सिमी के लोग आ रहे हैं.  
 
श्री घोष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि ना मैं खाऊंगा, ना खाने दूंगा. वर्ष 2014 में सरकार बनने के बाद उन्होंने अपने मंत्रिमंडल के साथ जिस प्रकार से ना थके ना रुके कार्य किया, उसका ही नतीजा है कि आज विकास की दौड़ में हमने चीन के साथ विश्व के कई देशों को पीछे छोड़ दिया. आज भारत विश्व पटल पर छा गया है और मोदी विश्व नेता के रूप में उभरे हैं. 
 
चौकीदार को चोर कहनेवालों के अस्तित्व पर आज संकट छाया हुआ है. राज्य सरकार की स्थिति आज डगमगाई हुई है. नगर निगम, नगरपालिका, पंचायत समिति और जिला परिषद सदस्यों में भगदड़ मची हुई है. कार्यक्रम में प्रदेश महासचिव संजय सिंह और जिला अध्यक्ष सुरजीत साहा के साथ जिला स्तर के कई नेता व बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement