Advertisement

calcutta

  • Sep 19 2019 2:06AM
Advertisement

पीएम मोदी से मिलकर सीएम ममता बनर्जी ने रखीं कई मांगें, आज अमित शाह से हो सकती है मुलाकात

पीएम मोदी से मिलकर सीएम ममता बनर्जी ने रखीं कई मांगें, आज अमित शाह से हो सकती है मुलाकात

मुलाकात : गृह मंत्री अमित शाह से भी मिलना चाहती हैं ममता बनर्जी
बीरभूम स्थित देवचा पचामी कोल ब्लॉक प्रोजेक्ट के उद्घाटन के लिए पीएम को किया गया है आमंत्रित
कोलकाता :
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नयी दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की. पीएम से भेंट के बाद सुश्री बनर्जी ने बताया कि गुरुवार को वह गृहमंत्री अमित शाह से भी मिलना चाहती हैं. इसके लिए वह गृहमंत्री से समय मांगेंगी. अगर वह (अमित शाह) गुरुवार को दिल्ली में रहें तो मुलाकात हो सकती है.

पीएम के साथ आधे घंटे से कुछ अधिक समय तक चली बैठक में मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार की विभिन्न मांगों को रखा. बाद में संवाददाताओं से बातचीत में मुख्यमंत्री ने बैठक को अच्छा व गैर-राजनीतिक करार देते हुए कहा कि उन्होंने दुर्गापूजा व नवरात्रि के बाद बीरभूम में देवचा पचामी कोयला परियोजना के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री से अनुरोध किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि परियोजना में 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा. इससे लाखों लोगों को रोजगार मिल सकेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य का केंद्र के पास 13,500 करोड़ रुपये बकाया है.

उस पैसे को हासिल करने के लिए भी उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा है. उन्होंने कहा: हमने अपने अनुरोधों को पुख्ता करने के लिए काफी दस्तावेज सौंपे. बंगाल की जीडीपी 12.8 प्रतिशत है जो देश में सबसे अधिक है. हमने उन्हें दिखाया है कि कैसे कर्ज के इतने बोझ के बावजूद बंगाल प्रगति कर रहा है.

हमने अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों को उजागर करते हुए उन्हें दस्तावेज भी दिये. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने यह भी कहा कि उन्होंने पश्चिम बंगाल को नया नाम देने का मुद्दा भी उठाया और बताया कि मोदी इस विचार से असहमत नहीं हैं. उन्होंने कहा : बंगाल को नया नाम देना हमारा मुख्य एजेंडा है इसलिए हमने बांग्ला को ध्यान में रखते हुए प्रस्ताव दिया है. प्रधानमंत्री ने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है.

मैंने उन्हें बताया कि बंगाल के लोगों की भावनाएं इस मुद्दे से जुड़ी हैं और हम केंद्र से सुझाव मिलने के लिए तैयार हैं. पश्चिम बंगाल विधानसभा ने राज्य को नया नाम ‘बांग्ला' देने के प्रस्ताव को पारित कर दिया है. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उन्होंने राजनीतिक स्थिति पर बहुत ‘‘कम' बात की.  बैंकों के विलय, एयर इंडिया व अन्य कंपनियों के निजीकरण के संबंध में भी राज्य के रुख से अवगत कराते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री को पत्र सौंपा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वित्तीय मामलों के संबंध  में राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से बाद में मुलाकात करेंगे. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) के मुद्दे पर पीएम के साथ कोई चर्चा नहीं हुई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि बैठक में एनआरसी पर कोई चर्चा नहीं हुई. एनआरसी असम के साथ जुड़ा मामला है. इसका बंगाल के साथ कोई संबंध नहीं है. मुख्यमंत्री ने कहा कि एनआरसी को लेकर न तो बंगाल में कोई सुझाव है न ही चर्चा है और न ही वह वहां इसे लागू करने वाली हैं.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement