1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. neetu chandra says on r madhavan recommendation she was replaced by kangana ranaut in film tanu weds manu bud

नीतू चंद्रा का दावा, माधवन की सिफारिश पर कंगना रनौत से किया गया था रिप्‍लेस

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
neetu chandra
neetu chandra

एक्‍ट्रेस नीतू चंद्रा ने हाल ही में खुलासा किया कि उन्‍हें फिल्‍म 'तनु वेड्स मनु' फिल्म से हटा दिया गया था और उनकी जगह कंगना रनौत को ले लिया गया. हाल ही में एक इंटरव्‍यू में एक्‍ट्रेस ने बताया कि उन्‍होंने इस फिल्‍म को कगना रनौत से पहले साइन किया था लेकिन बाद में आर माधवन के कहने पर कंगना को इस फिल्‍म में ले लिया गया. बता दें कि नीतू चंद्रा 'ट्रैफिक सिग्नल' और 'ओय लकी, लकी ओय' जैसी फिल्मों में काम कर चुकी है.

नीतू ने पिछले दिनों आर माधवन के उस कमेंट के बारे में बताया, जिसमें उन्होंने तनु वेड्स मनु में लीड भूमिका के लिए कंगना की सिफारिश करने का दावा किया था. उन्होंने कहा था, 'तनु वेड्स मनु के लिए एक और अभिनेत्री को साइन किया गया था, लेकिन मैंने कंगना के नाम की सिफारिश की थी," नीतू ने बॉलीवुड हंगामा को दिए इंटरव्‍यू में बताया,' वह एक्‍ट्रेस मैं थी, जिसने तनु वेड्स मनु को पहले साइन किया था.”

उन्‍होंने आगे कहा, "इस तरह की बातें होती रहीं. मुझे छह फिल्मों से हटा दिया गया था. कोई मेरा फोन नहीं उठाता था और न ही कोई फोन करता था. लेकिन यही संघर्ष है और यही सब है जिससे मैं चीजें धीरे-धीरे सीख रही हूं.' यह पूछने पर की जब उन्होंने फिल्म कर दी थी तो की क्यों नहीं? इस पर उन्‍होंने कहा, मैं कैसे कर सकती थी?

एक्‍ट्रेस ने कहा,' क्या लगता है आपको, कि ये मेरे ऊपर निर्भर करता है कि मैं करना चाहती हूं कि नहीं? किसी भी वजह से अगर निर्देशक को लगता है कि हीरो किसी और की सिफारिश कर रहा है, तो ऐसी सिचुएशन में मैं अपने लिए नहीं लड़ सकती हूं. मैं ऐसे बैकग्राउंड से नहीं आती हूं, उस वक्त मैं हेल्पलेस हो जाती हूं.'

बता दें कि, इंडस्‍ट्री के कुछ अभिनेताओं ने हॉलीवुड में अपनी पहली डेब्यू प्रोजेक्ट सफलतापूर्वक हासिल की हैं. ऐसी ही एक अभिनेत्री हैं नीतू चंद्रा, एक्ट्रेस को नेवर बैक डाउन की मल्टी स्टारर फ्रैंचाइज़ी में रोल मिला है जिसका शीर्षक है नेवर बैक डाउन: रिवोल्ट. इसकी कहानी एक महिला पर स्पॉटलाइट डालता है जिसका अपहरण कर लिया जाता है और संभ्रांत भूमिगत झगड़े में प्रतिस्पर्धा करने के लिए मजबूर हो जाती है और उसे स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़नी पड़ती है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें