1. home Home
  2. election
  3. up assembly elections
  4. former cabinet minister abhishek mishra reached agra told bjp to divide party in name of religion acy

Agra News: पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा ने BJP पर बोला हमला, बताया धर्म के नाम पर बांटने वाली पार्टी

समाजवादी पार्टी के पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा व मनोज पांडे आज आगरा पहुंचे. यहां उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद प्रेस वार्ता की और बीजेपी पर जमकर हमला बोला.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Agra
Updated Date
पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा
पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा
प्रभात खबर

Agra News: समाजवादी पार्टी के पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा व मनोज पांडे भगवान परशुराम की मूर्ति स्थापना और अन्य कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए सोमवार को आगरा पहुंचे. यहां उन्होंने सपा नेता सचिन चतुर्वेदी के आवास पर कार्यकर्ताओं के साथ 2022 के चुनावों को लेकर की जा रही तैयारियों पर चर्चा की. ,साथ ही, बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना भी साधा.

समाजवादी पार्टी की सरकार में उत्तर प्रदेश के मंत्री रहे अभिषेक मिश्रा और मनोज पांडे आगरा स्थित समाजवादी पार्टी के नेता सचिन चतुर्वेदी के आवास पर पहुंचे. यहां उन्होंने करीब 1:00 बजे प्रेस वार्ता का आयोजन किया और बीजेपी की सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार धर्म के नाम पर लोगों को बांटने वाली सरकार है. इस सरकार ने हमेशा झूठ की राजनीति की है और लोगों को महंगाई बढ़ाकर ठगा है.

सपा नेताओं ने कहा कि हम आगरा इसलिए आए हैं ताकि लोगों को बता सकें कि किस तरह से पिछले 5 साल में बीजेपी ने उनको सिर्फ झूठे वादे देकर ठगा है और किस तरह से 2012 में बनी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सरकार ने उनके लिए योजनाओं का भंडार खोल दिया था.

पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा ने बताया कि जब से उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है तभी से कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. उन्होंने याद दिलाया कि बीजेपी की पूर्व राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने यह तक कह दिया कि महिलाओं को 5 बजे के बाद पुलिस थाने नहीं जाना चाहिए क्योंकि कहीं ना कहीं उन्हें भी यह पता है कि बीजेपी के राज में महिलाएं सूरज डूबने के बाद सुरक्षित नहीं है.

पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कासगंज में पुलिस अभिरक्षा में हुई मौत के मामले में कहा कि अधिकारियों ने युवक की मौत को 2 फीट की टोटी से फांसी लगाकर होना बताया है, जिसमें आधिकारिक जांच होनी चाहिए, जब आधिकारिक जांच होगी तो कोई भी अधिकारी चाहे कितना भी ताकतवर क्यों ना हो, वह बिल्कुल भी नहीं बच पाएगा.

रिपोर्ट- राघवेंद्र सिंह

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें