1. home Hindi News
  2. career
  3. after schooling or graduation many youngsters prefer to do job oriented courses so that they can get jobs soon

नेशनल शुगर इंस्टीट्यूट से करें पढ़ाई : मिलेंगे जॉब के अच्छे मौके

By Shaurya Punj
Updated Date
National Sugar Institute, Kanpur
National Sugar Institute, Kanpur
Prabhat Khabar

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक देश है. उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र एवं हरियाणा जैसे राज्यों में बड़े पैमाने पर संचालित शुगर इंडस्ट्री में युवाओं के लिए करियर की बेहतरीन संभवानाएं मौजूद हैं. आप अगर इस क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो नेशनल शुगर इंस्टीट्यूट से जॉब ओरिएंटेड कोर्स कर अच्छी शुरुआत कर सकते हैं.

जानें कोर्स एवं योग्यता के बारे में

शुगर टेक्नोलॉजी/ शुगर इंजीनियरिंग में पीजी डिप्लोमा : शुगर टेक्नोलॉजी में पीजीडी के लिए 66 एवं शुगर इंजीनियरिंग में पीजीडी के लिए 33 सीटें हैं. ये नेशनल शुगर इंस्टीट्यूट से संबंद्ध कोर्स हैं.

योग्यता : शुगर टेक्नोलॉजी में पीजीडी करने के लिए केमिस्ट्री, फिजिक्स एवं मैथमेटिक्स में बीएससी या केमिकल इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री होनी चाहिए. शुगर इंजीनियरिंग में पीजीडी के लिए बैचलर डिग्री या मेकेनिकल/ प्रोडक्शन/ इलेक्ट्रिकल/ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स में एएमआईई (इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स, इंडिया) आवश्यक है.

इंडस्ट्रियल फर्मेन्टेशन एंड एल्कोहल टेक्नोलॉजी में पीजीडी : इस कोर्स की कुल 39 सीटें हैं.

योग्यता : इसमें प्रवेश के लिए केमिस्ट्री/ अप्लाइड केमिस्ट्री/ इंडस्ट्रियल केमिस्ट्री/ बायो केमिस्ट्री में से किसी एक विषय में बीएससी या बायोटेक्नोलॉजी/ केमिकल इंजीनियरिंग या बायोकेमिकल इंजीनियरिंग होना चाहिए.

शुगरकेन प्रोडक्टिविटी एंड मैच्योरिटी मैनेजमेंट : इस विषय के पीजीडी कोर्स की कुल 20 सीटें हैं.

योग्यता : बीएससी / बीएससी एग्रीकल्चर की योग्यता रखनेवाले इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं.

इंडस्ट्रियल इंस्ट्रूमेंटेशन एंड प्रोसेस ऑटोमेशन में पीजीडी : इस कोर्स के लिए 17 सीटें हैं.

योग्यता : इसके लिए बैचलर डिग्री या इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंटेशन/ इलेक्ट्रॉनिक्स / इंस्ट्रूमेंटेशन/ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स/ अप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंटेशन/ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन/ इंस्ट्रूमेंटेशन एंड कंट्रोल में एएमआईई (इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स, इंडिया) होना चाहिए.

क्वाॅलिटी कंट्रोल एंड एनवायर्नमेंटल साइंस में पीजीडी : इस कोर्स की कुल सीटों की संख्या 22 है.

योग्यता : फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स या जूलॉजी, बॉटनी, केमिस्ट्री के साथ बीएससी / एनवायर्नमेंटल साइंस में बीएससी/ बीएससी (बायो टेक्नोलॉजी) या / बीटेक (बायाे- टेक्नोलॉजी) की योग्यता वाले यह काेर्स कर सकते हैं.

शुगर बॉइलिंग सर्टिफिकेट कोर्स : इस सर्टिफिकेट कोर्स की कुल 63 सीटें हैं.

योग्यता : साइंस/ एग्रीकल्चर के साथ मैट्रिकुलेशन / हाईस्कूल की योग्यता एवं वैक्यूम पैन शुगर फैक्ट्री में एक वर्ष का कार्यानुभव होना चाहिए.

शुगर इंजीनियरिंग सर्टिफिकेट कोर्स : इस कोर्स की सीटों की संख्या 17 है.

योग्यता : मेकेनिकल/ प्रोडक्शन/ इलेक्ट्रिकल/ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स में डिप्लोमा करनेवाले अभ्यर्थी यह कोर्स कर सकते हैं.

क्वाॅलिटी कंट्रोल में सर्टिफिकेट कोर्स : इस सर्टिफिकेट कोर्स के लिए कुल 22 सीटें हैं.

योग्यता : इस कोर्स के लिए साइंस (फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथमेटिक्स) से बारहवीं पास होना आवश्यक है.

आयु सीमा

उपरोक्त सभी कोर्सेज में आवेदन के लिए ऊपरी आयु 35 वर्ष होनी चाहिए. आयु की गणना 1 जुलाई, 2020 के आधार पर की जायेगी.

एेसे मिलेगा प्रवेश

सभी कोर्सेज में प्रवेश के लिए एडमिशन टेस्ट देना होगा. टेस्ट का आयोजन देश के छह शहरों- चेन्नई, दिल्ली, कानपुर, कोलकाता, पटना और पुणे में किया जायेगा. एडमिशन के लिए लिखित प्रवेश परीक्षा 14 जून, 2020 को आयोजित की जायेगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें