1. home Hindi News
  2. business
  3. lics jeevan lakshya yojana provides benefits of safety as well as savings it means big insurance bigger profit

जितना बड़ा बीमा, उतना बड़ा लाभ : LIC की इस इंश्योरेंस पॉलिसी में सुरक्षा के साथ-साथ बचत से भी फायदा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
एलआईसी की इंश्योरेंस पॉलिसी.
एलआईसी की इंश्योरेंस पॉलिसी.
प्रतीकात्मक फोटो.

LIC Jeevan Lakshya Plan : भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की जीवन लक्ष्य योजना एक पारंपरिक बचत योजना है, जो एक ही समय पर सुरक्षा के साथ बचत भी प्रदान करती है. इस योजना के दौरान पॉलिसीधारक को मिलने वाला मृत्यु लाभ वार्षिक इंस्टालमेंट में दिया जाता है, जो पॉलिसीधारक की मृत्यु के बाद उसके परिवार की वित्तीय जरूरतों को पूरा करता है. पॉलिसीधारक की मृत्यु के मामले में वार्षिक भुगतान के अलावा पॉलिसी अवधि के अंत में अतिरिक्त 110% की कवर राशि का भुगतान भी नॉमिनी को किया जाता है. इस योजना में हर साल एलआईसी द्वारा घोषित किए गए बोनस का भी लाभ मिलता है. इस योजना के साथ आप दो अतिरिक्त राइडर (दुर्घटना मृत्यु राइडर और दिव्यांग लाभ राइडर) भी ले सकते हैं.

जीवन लक्ष्य योजना कैसे करती है काम?

पॉलिसी खरीदते वक्त पॉलिसीधारक कवर अमाउंट (बीमित रकम) और पॉलिसी की अवधि का चुनाव करता है. इस योजना में प्रीमियम पॉलिसी की अवधि से तीन साल कम तक (पॉलिसी अवधि-3 वर्ष) भरना पड़ता है. अगर पॉलिसीधारक पॉलिसी अवधि पूरा होने तक जीवित रहता है, तो, मैच्यूरिटी (परिपक्वता) पर पॉलिसीधारक को उसके द्वारा चुनी हुई बीमित रकम और जमा हुआ बोनस वापस मिलता है. अगर पॉलिसीधारक की मृत्यु पॉलिसी अवधि के दौरान हो जाती है, तो मृत्यु लाभ के रूप में नॉमिनी को बीमित रकम का 10 फीसदी वार्षिक किस्त के तौर पर दिया जाता है. इसके साथ ही, पॉलिसी अवधि के अंत में बीमित रकम का 110 फीसदी (रिवर्सनरी बोनस और फाइनल एडिशन बोनस के साथ) नॉमिनी को दिया जाता है.

योजना के लाभ

मैचुरिटी(परिपक्वता) लाभ: अगर पॉलिसीधारक ने बचे हुए सारे प्रीमियम भरे हैं और वह जीवित है, तो पॉलिसी मैच्योर (परिपक्व) होने पर उसे बीमित रकम के साथ-साथ सिंपल रीवर्जनरी बोनस और फाइनल एडीशन बोनस (कुछ है तो) का भुगतान किया जाएगा.

मृत्यु लाभ : अगर पॉलिसी अवधि में पॉलिसी धारक की मृत्यु होती है और उसने अपने मृत्यु तक के सारे प्रीमियम का भुगतान किया है, तो उसे मृत्यु पे बीमित रकम के साथ जमा हुआ सिंपल रीवर्जनरी बोनस और फाइनल एडीशन बोनस (कुछ है तो) का भुगतान एलआईसी द्वारा होगा. यहां पर मृत्यु पर बीमित रकम का मतलब बीमित रकम का 10 फीसदी वार्षिक आय लाभ के रूप में हर वर्ष नॉमिनी को मिलती है. यह मृत्यु के अगले वर्ष से शुरू होता है और मैच्यूरिटी से एक साल पहले तक मिलता रहता है.

पूर्ण अस्योर्ड रकम : मैच्यूरिटी (परिपक्वता) पर बीमित रकम का 110 फीसदी नॉमिनी को मिलती है.

बोनस : इसके अतिरिक्त सिंपल रीवर्जनरी बोनस और फाइनल एडीशन बोनस जो एलआईसी द्वारा घोषित किया जाता है, उसका भी भुगतान नॉमिनी को किया जाता है. नॉमिनी को दिया गया मृत्यु लाभ अब तक भरे हुए प्रीमियम से 105 फीसदी से कम नहीं होना चाहिए.

Posted By : Vishwat sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें