Advertisement

patna

  • Sep 14 2017 11:43AM

VIDEO : लालू को जदयू ने दिया हाइ लेबल ‘एंटीबायोटिक’, नीतीश को टेबलेट देने वाली बात पर गरमायी राजनीति

VIDEO : लालू को जदयू ने दिया हाइ लेबल ‘एंटीबायोटिक’, नीतीश को टेबलेट देने वाली बात पर गरमायी राजनीति

पटना : बिहार में इन दिनों सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरमायी हुई है. बेनामी संपत्ति के आरोपों से दो चार हो रहे राजद सुप्रीमो लालू यादव लगातार नीतीश कुमार पर सृजन घोटाले को लेकर हमला बोल रहे हैं. राजद और जदयू के बीच जुबानी जंग जारी है. भागलपुर में राजद की रैली में नीतीश कुमार पर तेजस्वी और तेज प्रताप ने हमला बोला. जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार को महिषासुर बताया गया और उनका वध राबड़ी द्वारा करने की बात तेज प्रताप ने कही. नीरज कुमार ने भी पलटवार करते हुए राजनीतिक श्मशान और श्राद्ध की बात कही. दोबारा लालू यादव ने संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि नीतीश कुमार को हल्का टेबलेट मिला है, तो रिएक्शन हो रहा है. अब इस टेबलेट की बात को लेकर सियासी माहौल गरमा गया है. जदयू के प्रवक्ता सह विधान पार्षद नीरज कुमार ने लालू को टेबलेट वाले बयान का जवाब देते हुए कहा है कि उनके पास उच्च स्तर का एंटीबायोटिक है. नीरज कुमार ने कहा है कि इस दवाई को लेने के बाद पूरे लालू परिवार पर गहरा असर होगा.



नीरज कुमार ने अपने बयान में कहा है कि माननीय लालू प्रसाद जी आपने राजनीति में शाब्दिक मर्यादा खो दी है. टेबलेट की बात कर रहे हैं. हमारे पास उच्च स्तर का एंटीबायोटिक टेबलेट और इंजेक्शन है. जैसा सुट करेगा, वैसी दवा हमारे पास उपलब्ध है. और हम यह बताना चाहते हैं, आपको कि लालू जी हमारी जो दवा है, वह राजनीति में भाषायी मर्यादा को भी कायम करेगा और साथ ही साथ राजनीतिक स्वास्थ्य जो बिगड़ रहा है आपका और आपके परिवार का  उस पर गहरा असर होगा यह हम आपको बताना चाहते हैं.

नीरज कुमार लगातार लालू यादव और जदयू के बागी नेता शरद यादव पर हमले बोल रहे हैं. नीरज ने हाल में चुनाव आयोग द्वारा शरद यादव के दावे को खारिज करने के बाद अपने बयान में कहा कि  आदरणीय शरद यादव जी राजनीति में आपने जो संगति की थी उसका असर चुनाव आयोग में दिखाई पड़ा. चुनाव आयोग ने आपके दावे को अमान्य किया, अब राज्यसभा सदस्यता ख़ारिज होने का खतरा है. हमारा यह सलाह है की जल्द से जल्द लालटेन पकड़ लीजिए और अलग राजनीतिक दल बनाना है तो भेपर लाइट पकड़ कर घूमिये, जनता की अदालत में अब आपकी जगह नहीं है. माननीय शरद जी जब से तेजस्वी और तेजप्रताप के पोलिटिकल अंकल बने हैं और जब उनकी निगाह इस बात पर गई कि जब लालूजी सपरिवार जेल जायेंगे तो हम इनकी संपत्ति के कस्टोडियन बनेंगे.  उसके बाद राजनीति में इनकी दुर्गति शुरू हो गई, चुनाव आयोग में इन्होने दवा किया कि हमारी पार्टी जनता दल यू है तो चुनाव आयोग ने इनके दावों को अमान्य करार दिया.  अब सदस्यता के संबंध में भी नोटिस जारी किया गया तो अब तो सदस्यता भी खारिज होने का खतरा है.

नीरज कुमार ने कहा कि चुनाव आयोग ने जो फैसला लिया है की शरद यादव जी का जनता दल यू पर कोई दावा नहीं है, तो दावा तो खारिज हो गया. इसलिए शरद जी मिलन समारोह की तिथि और समय तय कीजिये. आदरणीय लालूजी तो कानूनी व्यस्तता में बेचैन हैं, तो देखना यह है कि कब आपको समय देते हैं. माननीय अली अनवर जी हैं, शरद जी हैं , रमई राम जी हैं, अर्जुन रॉय हैं तो कब ? पितृपक्ष के पहले या पितृपक्ष के बाद ? मिलन समारोह कब होगा ? दिल तो मिला हुआ था ही अब जल्द से जल्द एंट्री ले लीजिए और तेजस्वी, तेज प्रताप जिंदाबाद का नारा आदरणीय शरद जी जिस दिन लगाइयेगा उस दिन मुझे आत्मसंतुष्टि मिलेगी.

यह भी पढ़ें-

बिहार असली जदयू की लड़ाई : EC का फैसले के बाद शरद की जायेगी मेंबरी, छिनेगा बंगला




 


Advertisement

Comments