गूगल ने पंजाब सरकार की शिकायत पर अलगाववाद को बढ़ावा देने वाला एेप हटाया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चंडीगढ़: गूगल ने पंजाब सरकार की शिकायत के बाद अपने प्ले स्टोर से भारत विरोधी मोबाइल एेप '2020 सिख रेफरेंडम' हटा दिया है. पंजाब सरकार के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को यहां बताया कि यह ऐप अब भारत में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं के लिए गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है.

विदेश स्थित एक समूह और भारत द्वारा प्रतिबंधित 'सिख्स फॉर जस्टिस' अपने '2020 सिख रेफरेंडम' अभियान के जरिये पंजाब के अलगाव की कवायद में लगा है. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इस अभियान में पाकिस्तान की खुफिया सेवा के शामिल होने का आरोप लगाया.

इस महीने की शुरुआत में उन्होंने राज्य सरकार के अधिकारियों से गूगल से संपर्क करने और साथ ही केंद्र सरकार की एजेंसियों के साथ समन्वय करने के लिए कहा था ताकि नये एेप को हटाया जा सके.

गूगल को आठ नवंबर को सूचना प्रौद्योगिकी कानून की धारा 79(3)बी के तहत एक नोटिस भेजकर 'आइसटेक' द्वारा बनाये एेप को हटाने की मांग की गई. एेप में मोबाइल उपभोक्ताओं को अलगाववाद के लिए समर्थन दिखाने के वास्ते पंजीकरण कराने के लिए कहा जाता है.

सरकार ने एक बयान में कहा कि वेबसाइट 'येस2खालिस्तान' भी इसी उद्देश्य के लिए शुरू की गई. राज्य सरकार ने कहा कि गूगल इंडिया इस बात से आश्वस्त हुआ कि उसके प्लेटफॉर्म का 'गैरकानूनी और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों' को अंजाम देने के लिए प्रतिबंधित संगठनों द्वारा दुरुपयोग किया गया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें