1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. tmc mla partha bhowmick taunts suvendu adhikari in defection case baba ke bolo campaign against sisir adhikari in medinpur and on social media dibyenddu adhikari lodged complaint in kanthi ps west bengal politics news mtj

दलबदल मामले में अधिकारी परिवार के खिलाफ सोशल मीडिया पर TMC ने छेड़ा अभियान, विधायक बोले- ‘बाबा के बोलो’

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शिशिर अधिकारी का फोन भी सार्वजनिक कर दिया गया
शिशिर अधिकारी का फोन भी सार्वजनिक कर दिया गया
Prabhat Khabar

कोलकाता: सोशल मीडिया में तृणमूल कांग्रेस के ‘बाबा के बोलो’ प्रचार अभियान के खिलाफ तमलूक के सांसद दिव्येंदु अधिकारी ने कांथी थाना में शिकायत दर्ज करायी है. विधानसभा में बजट सत्र के दौरान बहस के बीच नैहाटी के तृणमूल विधायक पार्थ भौमिक ने कहा था कि आम चुनाव में 18 सीटें गंवाने के बाद तृणमूल ने एक अभियान चलाया था.

तय हुआ कि ‘कन्याश्री’ योजना का लाभ नहीं मिलने पर ‘दीदी के बोलो’, ‘रूपश्री’ योजना का लाभ नहीं मिले, तो ‘बाबा के बोलो’. यानी योजनाओं का लाभ नहीं मिले, तो दीदी से यानी ममता बनर्जी से शिकायत करें. इसलिए दलबदल विरोधी कानून को लेकर विपक्ष के नेता से वह (पार्थ भौमिक) कहना चाहेंगे कि वह ‘बाबा के बोलो’ (पिता से कहो) अभियान अपनायें.

इसके बाद तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ‘बाबा के बोलो’ का लोगो बनाकर सोशल मीडिया पर मुहिम छेड़ दी. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चुनाव चिह्न कमल के साथ शुभेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी की तस्वीर व मोबाइल नंबर अंकित कर दिया. उसके साथ लिख दिया कि जब भी शुभेंदु अधिकारी दलबदल विरोधी कानून की बात कहें, तभी उन्हें कहा जाये ‘बाबा के बोलो’.

सोशल मीडिया और मेदिनीपुर में इस पोस्टर के लगते ही तृणमूल कांग्रेस के संस्थापक सदस्य रहे जंगलमहल के दिग्गज एवं बुजुर्ग नेता शिशिर अधिकारी के मोबाइल पर लगातार फोन आने लगे. उन्हें अपना फोन बंद कर देना पड़ा. इसके बाद शुक्रवार रात को कांथी थाना में शिशिर अधिकारी के बेटे दिव्येंदु अधिकारी ने जाकर शिकायत दर्ज करायी. कहा कि उनके पिता को बेवजह परेशान किया जा रहा है.

उल्लेख्य है कि शिशिर अधिकारी और दिव्येंदु अधिकारी दोनों तृणमूल कांग्रेस के सांसद हैं. हालांकि, शुभेंदु अधिकारी के भाजपा में जाने के बाद तृणमूल ने अधिकारी परिवार से नाता तोड़ लिया है. शिशिर अधिकारी ने बंगाल चुनाव 2021 से पहले 21 मार्च 2021 को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सभा में भाषण भी दिया था.

शिशिर की लोकसभा की सदस्यता रद्द करने की मांग

तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बनर्जी ने शिशिर अधिकारी की लोकसभा की सदस्यता खारिज करने की मांग लोकसभा अध्यक्ष से की है. विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल छोड़कर एक और सांसद भाजपा में शामिल हुए थे. नाम है सुनील मंडल.

सुदीप बंद्योपाध्याय लगातार सुनील मंडल और शिशिर अधिकारी की सदस्यता रद्द करने की मांग लोकसभा के स्पीकर से कर रहे हैं. लोकसभा अध्यक्ष ने उन्हें आश्वासन दिया है कि इस मामले में वह समिति का गठन करेंगे. हालांकि, अभी तक दलबदल करने वाले सांसदों के खिलाफ स्पीकर ओम बिरला ने कोई कदम नहीं उठाया है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें