1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. opposition leader suvendu adhikari meets governor jagdeep dhankhar over cm mamata banerjee chief advisor alapan bandhopadhyay read full details abk

ममता के चहेते आलापन पर भ्रष्टाचार के आरोप, राज्यपाल से मिले नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी, जांच करने की मांग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आलापन पर भ्रष्टाचार के आरोप, राज्यपाल से मिले नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी
आलापन पर भ्रष्टाचार के आरोप, राज्यपाल से मिले नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी
सोशल मीडिया

Bengal Politics Latest Update: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के मुख्य सलाहकार आलापन बंद्योपाध्याय (Alapan Bandhopadhyay) पर छिड़ा सियासी महाभारत थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) ने आलापन बंद्योपाध्याय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. बुधवार को शुभेंदु अधिकारी राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) से मुलाकात करने पहुंचे. इस दौरान शुभेंदु अधिकारी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के रिजल्ट (Post Poll Violence) के बाद जारी हिंसा को लेकर राज्यपाल से बातचीत की. इसके अलावा सीएम के मुख्य सलाहकार आलापन बंद्योपाध्याय पर भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच की मांग की.

टीएमसी के लिए काम करे आलापन: शुभेंदु

नंदीग्राम सीट से बीजेपी विधायक शुभेंदु अधिकारी ने दावा किया है कि आलापन बंद्योपाध्याय 31 मई को रिटायर हो गए. रिटायर होने तक वो केंद्र सरकार के कर्मचारी थे. अब रिटायरमेंट के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मुख्य सलाहकार का पद संभाल लिया है. इसके साथ ही वो टीएमसी के लिए काम करने लगे हैं. शुभेंदु अधिकारी के मुताबिक आलापन बंद्योपाध्याय ने कई भ्रष्टाचार किए हैं. इसकी जांच की जानी चाहिए. उन्होंने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को ज्ञापन सौंपकर आलापन बंद्योपाध्याय के खिलाफ जांच करने और कड़ी कार्रवाई की मांग भी की है.

चहेतों को बचा रही हैं सीएम ममता बनर्जी

राज्यपाल से मुलाकात के बाद नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए बंगाल की ममता सरकार को कठघरे में खड़ा किया. शुभेंदु अधिकारी के मुताबिक पश्चिम बंगाल का हर हिस्सा हिंसा की आग से जल रहा है. पिछले साल कोरोना संकट की शुरुआत में सीएम ममता बनर्जी ने नकली किट की खरीदारी कराई. उसकी जांच के लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया था. उस कमेटी के अध्यक्ष आलापन बंद्योपाध्याय थे. आज तक उस कमेटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया गया है. मुख्यमंत्री अपने चहेतों को बचाने का काम कर रही हैं.

‘अंडाल एयरपोर्ट की जमीन में भी भ्रष्टाचार’

शुभेंदु अधिकारी के मुताबिक अंडाल एयरपोर्ट के लिए ली गई किसानों की 2,300 एकड़ जमीन में भी घोटाला किया गया है. उस समिति के प्रभारी आलापन बंद्योपाध्याय थे. पहले सरकार की हिस्सेदारी बढ़ाकर 11 प्रतिशत की गई. उसके बाद 28 और फिर 48 प्रतिशत कर दी गई. इसमें घोटाला हुआ है. केंद्र सरकार के पैसे का दुरुपयोग भी किया गया है. सीएम ममता बनर्जी नहीं चाहती हैं कि उनके अपनों पर कानूनी शिकंजा कसे. लिहाजा वो मामले को दबाने में जुटी हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें