1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. mithun chakraborty the cobra appeals calcutta high court to cancel fir lodged against him mtj

...हाइकोर्ट में 'कोबरा', बोले- मेरे खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को रद्द करें हुजूर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
BJP के मंच पर मिथुन चक्रवर्ती उर्फ कोबरा
BJP के मंच पर मिथुन चक्रवर्ती उर्फ कोबरा
फाइल फोटो

कोलकाताः कलकत्ता हाइकोर्ट में कोबरा ने अर्जी लगा दी है. अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने की माननीय न्यायाधीश से अपील की है. ये कोबरा कोई सांप नहीं. बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती हैं.

मिथुन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ब्रिगेड रैली में भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने के बाद कहा था कि वह कोबरा हैं. एक बार जिसे डंस लेंगे, वह तस्वीर बनकर रह जायेगा. यही कोबरा अब अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को रद्द कराने के लिए कलकत्ता उच्च न्यायालय पहुंचे हैं.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान मिथुन चक्रवर्ती पर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में कोलकाता के मानिकतला थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. अब चुनाव परिणाम घोषित किये जाने के लगभग एक माह बाद मिथुन चक्रवर्ती ने कलकत्ता हाइकोर्ट में याचिका दाखिल करके अपील की है कि उनके विरुद्ध दायर एफआईआर को अब खारिज कर दिया जाये.

चुनाव प्रचार के पहले मिथुन चक्रवर्ती पीएम नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में ब्रिगेड की सभा में बीजेपी में शामिल हुए थे. ब्रिगेड रैली में मिथुन ने अपने फिल्म का लोकप्रिय डायलॉग - मारबो एखाने, लाश पोड़बे शशाने यानी मारूंगा यहां और लाश गिरेगा श्मशान में, बोलकर खूब वाहवाही बटोरी थी.

मिथुन चक्रवर्ती खुद कहीं से चुनाव नहीं लड़े, लेकिन भाजपा के लिए उन्होंने जमकर प्रचार किया था. कुछ महीने पहले टीएमसी युवा मोर्चा के एक सदस्य ने मिथुन चक्रवर्ती के डॉयलॉग के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी थी. उन पर आरोप लगाया गया था कि अपने डॉयलॉग से वह हिंसा का समर्थन कर रहे थे और भड़काऊ भाषण देकर समर्थकों को उकसा रहे थे.

राजनीतिक बदले के लिए लगाये गये थे झूठे आरोप- मिथुन

अब मिथुन चक्रवर्ती का दावा है कि राजनीतिक बदला लेने के लिए मुझ पर इस तरह के झूठे आरोप लगाये गये हैं. आरोप में कोई सच्चाई नहीं है. कोलकाता के मानिकतला थाने में मिथुन चक्रवर्ती के खिलाफ धारा 153A, 504, 505 और 120B के तहत दर्ज शिकायत पर कलकत्ता हाइकोर्ट में दायर आवेदन में अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने सफाई दी कि 2014 में आयी एक फिल्म में उनका यह मशहूर डायलॉग था, जो सिर्फ लोगों के मनोरंजन के उद्देश्य से उन्होंने बोला था. इसके पीछे हिंसा की कोई मंशा नहीं थी.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें