1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. modi modi in west bengal assembly know the matter mtj

विधानसभा में सीएम के संबोधन के बीच भाजपा विधायकों ने लगाये ‘मोदी- मोदी’ के नारे

ममता बनर्जी ने जैसे ही अपना भाषण शुरू किया, भाजपा विधायकों ने ‘मोदी, मोदी’, ‘भारत माता की जय’ और ‘जय श्री राम’ जैसे नारे लगाने शुरू कर दिये. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के पूरे 40 मिनट के भाषण के दौरान ये नारे लगाते रहे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सोमवार को राज्यपाल को अभिभाषण को छोटा करके पढ़ने के लिए मनाया
सोमवार को राज्यपाल को अभिभाषण को छोटा करके पढ़ने के लिए मनाया
File Photo

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा में बुधवार को भी शोर-गुल व हंगामा देखने को मिला. बुधवार को जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee West Bengal) सदन में राज्यपाल जगदीप धनखड़ के अभिभाषण पर पेश धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब दे रहीं थीं. भाजपा सदस्यों ने ‘मोदी-मोदी’ (Modi- Modi) के नारे लगाकर उन्हें बार-बार बाधित किया. मुख्यमंत्री ने इसके जवाब में ‘जय बांग्ला’ के नारे के साथ पलटवार किया और भाजपा सदस्यों को ‘जय श्रीराम’ की बजाय ‘जय सिया राम’ कहने की सलाह दी.

भारत माता की जय और जय श्री राम के नारे सदन में गूंजे

ममता बनर्जी ने जैसे ही अपना भाषण शुरू किया, भाजपा विधायकों ने ‘मोदी, मोदी’, ‘भारत माता की जय’ और ‘जय श्री राम’ जैसे नारे लगाने शुरू कर दिये. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के पूरे 40 मिनट के भाषण के दौरान ये नारे लगाते रहे. इससे नाराज सुश्री बनर्जी ने दावा किया कि भाजपा राज्य में शांति भंग करना चाहती है, जबकि तृणमूल शांति के लिए लड़ रही है.

राज्याल को धन्यवाद

ममता बनर्जी ने सोमवार को राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान भाजपा विधायकों द्वारा विधानसभा में किये गये हंगामे का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा सदस्यों ने कार्यवाही को बाधित करने की कोशिश की. लेकिन, उनकी साजिश सफल नहीं हुई, राज्यपाल को धन्यवाद.

भाजपा वाले बेशर्म हैं

राज्य विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन सोमवार को शोर-शराबा हुआ, क्योंकि भाजपा विधायकों ने राज्य में हाल में संपन्न निकाय चुनावों में कथित हिंसा को लेकर विरोध किया. इसके चलते जगदीप धनखड़ को अपना अभिभाषण छोटा करना पड़ा. वहीं, तृणमूल की महिला विधायकों ने राज्यपाल से अभिभाषण देने का अनुरोध किया. ममता बनर्जी ने कहा कि वे (भाजपा विधायक) चुनाव (विधानसभा चुनाव और हाल ही में हुए नगरपालिका चुनाव) हारने के बाद भी विधानसभा में उपद्रव कर रहे हैं. वे बेशर्म हैं.

टीएमसी ने निकाय चुनावों में किया क्लीन स्वीप

उन्होंने कहा कि तृणमूल ने हाल के निकाय चुनावों में 109 में से 105 सीटें जीती हैं. उन्होंने अपनी पार्टी की राज्यसभा सांसद डोला सेन और एस छेत्री के निलंबन का उल्लेख करते हुए कहा कि उन्होंने हमारे सांसदों को राज्यसभा से निलंबित कर दिया. वहां एक वोट भी मायने रखता है. बंगाल (विधानसभा) में अलग स्थिति क्यों होगी?

केंद्र ने राज्य की मदद नहीं की

ममता बनर्जी का परोक्ष तौर पर इशारा बुधवार सुबह राज्य विधानसभा से भाजपा के दो विधायकों के निलंबन की ओर था. उन्होंने कहा कि देश को बचाने के लिए भाजपा को जाना होगा. भाजपा शासित उत्तर प्रदेश की ओर परोक्ष तौर पर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 रोगियों के शवों को गंगा में फेंक दिया गया था. किसानों को वाहनों के नीचे कुचल दिया गया. उन्होंने भाजपा से कहा कि वह उन्हें विरोध करना न सिखाएं. ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि चक्रवात अम्फान, यस के साथ-साथ कोविड महामारी के कारण बड़े पैमाने पर नुकसान के बावजूद केंद्र ने राज्य की मदद नहीं की.

Posted By: Mithilesh Jha

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें