1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. ganga sagar mela 2021 calcutta high court asks for report on preparations for ganga sagar mela ground ready smj

Ganga Sagar Mela 2021 : गंगासागर मेला की तैयारी पर हाइकोर्ट ने मांगी रिपोर्ट, मेला ग्राउंड सज-धज कर तैयार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal news : गंगासागर मेला को लेकर तैयारी पूरी. कलकत्ता हाईकोर्ट में गुरुवार को होगी सुनवाई.
Bengal news : गंगासागर मेला को लेकर तैयारी पूरी. कलकत्ता हाईकोर्ट में गुरुवार को होगी सुनवाई.
सोशल मीडिया.

Ganga Sagar Mela 2021, Bengal News, Kolkata News, कोलकाता : गंगासागर मेला के आयोजन को लेकर राज्य सरकार ने क्या-क्या कदम उठाये हैं. राज्य सरकार ने इसके लिए क्या-क्या तैयारियां की हैं. इसे लेकर कलकत्ता हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश टीबीएन राधाकृष्णन व न्यायाधीश अरिजीत बनर्जी की खंडपीठ ने राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है.

जानकारी के अनुसार, गुरुवार (7 जनवरी, 2021) को मामले की सुनवाई के दौरान राज्य के महाधिवक्ता किशोर दत्त इस बारे में रिपोर्ट पेश करेंगे. बुधवार (6 जनवरी, 2021) को मामले की सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश ने महाधिवक्ता (Advocate General) से गंगासागर मेला को लेकर अपना रुख स्पष्ट करने को कहा.

इस पर महाधिवक्ता किशोर दत्त ने हाइकोर्ट से समय देने की मांग की. मामले की सुनवाई के दौरान हाइकोर्ट ने कहा कि वार्षिक उत्सव के लिए सबरीमाला मंदिर को भी खोल दिया गया है. सबरीमाला मंदिर में इस समय हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ती है. कड़ी निगरानी में पुण्यार्थियों को प्रवेश करने का अधिकार दिया जा रहा है. ऑनलाइन आवेदन करने के बाद एक साथ मात्र 20 लोगों को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति दी जा रही है. पश्चिम बंगाल सरकार को भी यहां पर इस प्रकार की व्यवस्था शुरू करनी चाहिए.

गौरतलब है कि कोरोना की परिस्थिति को देखते हुए गंगासागर मेला में भीड़ नियंत्रित करने के लिए हाइकोर्ट में जनहित याचिका दायर की गयी है. हावड़ा के रहनेवाले अजय कुमार दे ने अपनी याचिका में सागरद्वीप में मेला परिसर व बाबूघाट क्षेत्र को एक महीने के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित करने की मांग की है.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अजय कुमार दे ने दुर्गापूजा, कालीपूजा, छठ पूजा व जगधात्री पूजा के दौरान भीड़ नियंत्रित करने की मांग पर याचिका दायर की थी और हाइकोर्ट ने भीड़ नियंत्रण के लिए गाइडलाइन भी जारी की थी.

कोविड प्रबंध के साथ गंगासागर मेला ग्राउंड सजधज कर तैयार

विश्व प्रसिद्ध गंगासागर मेला हर बार से थोड़ा चुनौतीपूर्ण है. यही कारण है कि प्रशासन कोविड प्रबंधन को लेकर बहुत सतर्क है. गंगासागर मेला ग्राउंड में प्रशासन की पूरी नजरदारी रहेगी, जिससे किसी भी श्रद्धालु को कोई असुविधा न हो. बुधवार को अलीपुर जिला परिषद में दक्षिण 24 परगना के जिलाधिकारी डॉ पी उल्गानाथन ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार ही सारी तैयारियां हो रही हैं. लेकिन, सरकार को ज्यादा श्रद्धालुओं के आने का भी लगातार पिछले कई वर्षों से अनुभव रहा है. इसलिए सरकार अपनी ओर से पूरी तैयारी कर रही है. यदि श्रद्धालु पिछले वर्ष की तरह ज्यादा भी आयेंगे, तो उन्हें संक्रमण का कोई डर न हो, प्रशासन ऐसी व्यवस्था कर रहा है.

सेफ होम की व्यवस्था

उन्होंने बताया कि गंगासागर में आनेवाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर 600 बेड की सुविधा के साथ 6 कोविड अस्पताल तैयार किये जा रहे हैं. वहीं, 615 बेडों की सुविधा के साथ सेफ होम की व्यवस्था की जा रही है. ये सेफ होम डायमंड हार्बर, काकद्वीप व सागर में बनाये जा रहे हैं.

दुर्घटना में जान जाने व घायल होने पर मिलेगा मुआवजा

कोविड संक्रमितों के लिए 3 वाटर एंबुलेंस व 2 एयर एंबुलेंस मेला ग्राउंड में उपलब्ध रहेंगे. गंगासागर मेला (8 से 16 जनवरी) के दौरान यदि दुर्घटना में किसी की जान जाती है या घायल होते हैं, तो मुआवजा दिया जायेगा. मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपये तक का मुआवजा दिया जायेगा.

बने हैं 13 प्रवेश द्वार

जिलाधिकारी डॉ पी उल्गानाथन ने बताया कि गंगासागर मेला में प्रवेश के लिए 13 द्वार बनाये गये हैं. सभी जगह पर स्क्रीनिंग व एंटिजेन टेस्ट की सुविधा रहेगी. उन्होंने भीड़ प्रबंधन की बात पर कहा कि नजरदारी के लिए भारी संख्या में पुलिस की तैनाती होगी. साथ ही बसों, वेसल्स व बार्ज में जीपीआरएस की सुविधा के साथ कम लोगों को ले जाने का प्रबंध किया गया है.

2 लाख लोगों का डाटाबेस तैयार

उन्होंने कहा कि स्टाल्स के लिए अनुमति रहेगी, लेकिन इस वर्ष पिछले वर्षों से कम स्टॉल लगाया जायेगा. इस विषय में जागरूकता के लिए सभी मीडिया का इस्तेमाल किया जायेगा. उन्होंने वैक्सीन ट्रायल को लेकर सवाल पूछने पर कहा कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा ट्रायल का काम शुरू हो जायेगा. इससे मेले के दौरान कोई असुविधा नहीं होगी. स्वास्थ्यकर्मियों व पुलिस को वैक्सीन की सुविधा पहले दी जायेगी. जिनका लगभग एक से दो लाख का डाटाबेस तैयार हो चुका है. सरकार ने वैक्सीन का चैलेंज भी ले लिया है. वैक्सीन को लेकर जो लोगों के मन में शंका है, उसे लेकर भी जागरूक किया जायेगा.

कोरोना से बचाव के साथ क्राइम फ्री मेला हमारा लक्ष्य : एसपी

लॉट- 8 स्थित सुंदरवन जिला पुलिस के एसपी कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए एसपी वैभव तिवारी ने कहा कि उनकी तैयारी कोरोना से बचाव के साथ ‘क्राइम फ्री गंगासागर मेले’ का आयोजन की है. मेला के दौरान पुलिस पूरी तरह से चौकन्ना रहेगी, जिससे किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न हो.

10,500 पुलिसकर्मी रहेंगे तैनात

श्री तिवारी ने बताया कि पूरे मेला क्षेत्र को 2 भागों में बांटा गया है, जिसमें 12 पुलिस इलाके व 7 एडिशनल सब सेक्टर बनाये गये हैं. सभी रैंक के 10,500 पुलिसकर्मी को मेले के लिए तैनात किया गया है. 3 एडीजी रैंक, 2 आइजी रैंक व 3 डीआइजी रैंक के अधिकारी सभी गतिविधियों को नियंत्रित करेंगे. मेले में मुख्य रूप से आपराधिक गतिविधियां न हों, इस पर ध्यान दिया जायेगा. हमारा लक्ष्य ही क्राइम फ्री मेला होगा, जिसमें 22 एंटी क्राइम पेट्रोल टीम 24 घंटे गश्त लगायेगी.

10 बफर जोन बने

श्री तिवारी ने बताया कि ट्रैफिक प्रबंधन को बहुत ही सुविधाजनक व सरल बनाया गया है, जिससे दुर्घटना न के बराबर हो. सुंदरवन में 6 बफर जोन को लेकर कुल 10 बफर जोन बनाये गये हैं. 320 जलप्रहरी 17 लॉन्च, 6 फास्ट इंटरसेप्टर बोट्स व जेटी में उपस्थित होंगे. वहीं, 20 पुलिस असिस्टेंट बूथ व 36 वाच टावर होंगे. पुलिस की विशेष सेवा कोविड कंट्रोल रूम, टास्क फोर्स में होगी. सभी टेस्टिंग सेंटर, कोरेंटिन सेंटर व सेफ होम में पर्याप्त मात्रा में पुलिसकर्मी उपस्थित रहेंगे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें