1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 union home minister amit shah in a public rally in tehatta of nadia district bjp government to give indian citizenship to every matua person abk

नागरिकता देने के साथ सौ करोड़ का विशेष फंड, बोले शाह- ‘मतुआ समुदाय पर फोकस, दीदी की विदाई तय’

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बोले शाह- ‘मतुआ समुदाय पर फोकस, दीदी की विदाई तय’
बोले शाह- ‘मतुआ समुदाय पर फोकस, दीदी की विदाई तय’
बीजेपी ट्विटर

Bengal Election 2021: पश्चिम बंगाल विधानसभा का चुनाव आठ चरणों में हो रहा है. छठे चरण में 22 अप्रैल को नदिया जिले के तेहट्टा में मतदान है. इसको लेकर शुक्रवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तेहट्टा में एक चुनावी सभा को संबोधित किया. इस दौरान अमित शाह ने बंगाल में घुसपैठ, मतुआ समुदाय को नागरिकता देने का जिक्र किया और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी खूब हमले किए. अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता तृणमूल कांग्रेस के शासन से परेशान है. दो मई को रिजल्ट के साथ ही ममता दीदी की विदाई तय है.

अमित शाह ने अपने चुनावी भाषण की शुरुआत घुसपैठ के मुद्दे से की. उन्होंने जिक्र किया कि बीजेपी की सरकार बनने पर पश्चिम बंगाल में घुसपैठ बंद हो जाएगा. इंसान तो दूर की बात है, परिंदा तक पर नहीं मार सकेगा. उन्होंने कहा कि ममता दीदी की सरकार में गरीबों को चावल और युवाओं को रोजगार नहीं मिला. बंगाल में घुसपैठ सिर्फ राज्य नहीं, देश के लिए खतरा है. ममता दीदी की तृणमूल सरकार, कांग्रेस और लेफ्ट भी घुसपैठ को नहीं रोक सकती है. ममता दीदी भूल गई हैं कि जब जनता जागती है तो गुंडे भाग जाते हैं. बंगाल की जनता जाग गई है.

मतुआ समुदाय को नागरिकता सबसे पहले: शाह

अमित शाह ने कहा बीजेपी वोट बैंक की राजनीति नहीं करती है. सत्तर सालों से नागरिकता के लिए संघर्ष करने वालों की मांग पूरी की जाएगी. भारत की नागरिकता पाने वालों के लिए 100 करोड़ का फंड दिया जाएगा. मतुआ दलपतियों को 3,000 मासिक पेंशन दिया जाएगा. मतुआ नामशूद्र विकास बोर्ड की स्थापना होगा. इसके अलावा ठाकुर नगर का नाम श्रीधाम नगर रेलवे स्टेशन किया जाएगा. हम श्रीश्री गुरुचंद्र ठाकुर मंदिर को पर्यटक सर्किल से भी जोड़ने वाले हैं.

‘दो मई को बंगाल से ममता दीदी की विदाई तय’

तेहट्टा की चुनावी सभा में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भरोसा दिया कि मतुआ समुदाय के लोगों और दूसरे समुदाय के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी. अमित शाह ने बोला ममता दीदी कहती हैं कि जब तक वो हैं, मतुआ समुदाय और नाम शूद्र वालों को भारत की नागरिकता नहीं मिलेगी. लेकिन, दीदी भूल गई हैं कि दो मई को बीजेपी की सरकार बनने के साथ मतुआ समुदाय और नाम शूद्र वालों को सम्मान के साथ भारत की नागरिकता दी जाएगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें