1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 in the third phase of election tmc bjp and alliance of cpim congress and isf veterans have tough fight in this election

बंगाल चुनाव 2021: तीसरे चरण में TMC,BJP और संयुक्त मोर्चा के दिग्गजों के बीच होगी कांटे की टक्कर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
तीसरे चरण में टीएमसी, बीजेपी और संयुक्त मोर्चा के दिग्गजों में होगी कांटे की टक्कर
तीसरे चरण में टीएमसी, बीजेपी और संयुक्त मोर्चा के दिग्गजों में होगी कांटे की टक्कर
Prabhat Khabar

बंगाल चुनाव 2021: बंगाल विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण की वोटिंग मंगलवार को होनी है. तीसरे चरण में 31 सीटों पर 205 कैंडिडेट्स है जिनके भाग्य का फैसला कल होना है. हावड़ा, दक्षिण 24 परगना और हुगली में तीसरे चरण में वोटिंग है. हावड़ा में 7 सीटों पर, दक्षिण 24 परगना की 16 सीटों पर और हुगली के 8 सीटों पर वोटिंग है. इनमें कुछ सीट ऐसी हैं जहां टीएमसी और बीजेपी और संयुक्त मोर्चा ने बड़े चेहरेऔर दिग्गजों पर ही दांव खेला है.उलूबेड़िया उत्तर से टीएमसी ने सीटिंग विधायक और डाॅक्टर निर्मल मांझी को चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं बीजेपी ने चिरान बेरा और संयुक्त मोर्चा के आइएसएफ ने अशोक दोलुई को कैंडिडेट बनाया है.

आमता में तीसरी बार भी मिला टिकट, मंत्री की पत्नी भी दौड़ में 

आमता में संयुक्त मोर्चा के कांग्रेस ने असिम मित्रा पर तीसरी बार भी भरोसा जताया है हैं. वो यहां से दो बार विधायक बन चुके हैं. बीजेपी ने यहां से देवतनु भट्टाचार्य को टिकट दिया है तो टीएमसी ने सुकांत पाल को चुनवी मैदान में उतारा है. हरिपाल विधानसभा सीट से मंत्री बेचाराम मान्ना की पत्नी करवी मान्ना को टीएमसी ने उम्मीदवार बनाया है. इस सीट से बीजेपी ने समीरन मित्रा को जबकि संयुक्त मोर्चा के आइएसएफ ने चेयरमैन सिमल सोरेन को चुनावी मैदान में उतारा है.

राज्यसभा की सदस्यता छोड़ चुनावी मैदान में उतरे

जंगीपाड़ा से बीजेपी ने देबजीत सरकार को कैंडिडेट बनाया है. टीएमसी ने स्नेहाशीष चक्रवर्ती को जबकि संयुक्त मोर्चा के आइएसएफ ने शेख मोइनुद्दीन (बूड़ो) को चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं तारकेश्वर सीट से बीजेपी ने राज्यसभा के पूर्व सदस्य स्वप्न दासगुप्ता को टिकट दिया है. हालांकि इनको टिकट देने के बाद टीएमसी ने इनकी राज्यसभा सदस्यता पर बने रहने पर इन्हें घेरा था. इसके बाद उन्होंने राज्यसभा पद से इस्तीफा दिया. टीएमसी ने रमनेंदु सिंह राय को यहां से टिकट दिया है जबकि संयुक्त मोर्चा के लेफ्ट ने सुरजीत घोष को उतारा है.

पुरसुड़ा से टीएमसी ने जिला अध्यक्ष दिलीप यादव को टिकट दिया है. वहीं बीजेपी ने विमान घोष और संयुक्त मोर्चा के कांग्रेस ने मोनिका मल्लिक घोष को चुनावी मैदान में उतारा है. आरामबाग से टीएमसी ने बीजेपी सांसद सौमित्र खां की पत्नी सुजाता खां मंडल को टिकट दिया है. दोनों का अभी तलाक का मामला चल रहा है. वहीं बीजेपी ने मधुसूदन बाग और संयुक्त मोर्चा ने शक्ति मोहन मल्लिक को टिकट दिया है. गोघाट में बीजेपी ने फारवार्ड ब्लाॅक छोड़कर आये पूर्व विधायक विश्वनाथ कारक को टिकट दिया है. वहीं टीएमसी ने मानस मजूमदार और संयुक्त मोर्चा ने शिव प्रसाद मल्लिक को मैदान में उतारा है.

दो बार हारने के बाद भी फिर मैदान में 

रायदीघी सीट पर इस बार दिलचस्प मुकाबला होना है. दो बार से टीएमसी की विधायक देबश्री राय से पराजित पूर्व विधायक कांति गांगुली को संयुक्त मोर्चा ने फिर टिकट दिया है. टीएमसी ने इस बार देबश्री राय को टिकट ना देकर आलोक जलदाता को टिकट दिया है. वहीं बीजेपी ने शांतनु बापुली को चुनाव में उतारा है. बासंती विधानसभा सीट से इस बार संयुक्त मोर्चा के आरएसपी कैंडिडेट सुभाष नस्कर चुनावी मैदान में है.बीजेपी ने रमेश मांझी और टीएमसी ने श्यामल मंडल को चुनावी मैदान में उतारा है.

अभिषेक बनर्जी के गढ़ में सेंध लगाने की कोशिश

कैनिंग पूर्व विधानसभा सीट से टीएमसी ने सीटिंग विधायक सौकत मोल्ल को टिकट दिया है. इस सीट से 2016 में यहां से सौकत मोल्ला विधायक बने थे. इस बार भी उन पर ही पार्टी ने भरोसा जताया है. बीजेपी ने कालीपद नस्कर और संयुक्त मोर्चा के आइएसएफ ने गाजी शहाबुद्दीन सिराज को टिकट दिया है. बारुईपुर पश्चिम से राज्य के विधानसभा स्पीकर विमान बनर्जी को टीएमसी ने टिकट दिया है. वहीं बीजेपी ने देवपम चट्टोपाध्याय को टिकट दिया है जबकि संयुक्त मोर्चा लहेक अली को टिकट दिया है. वहीं अभिषेक बनर्जी के गढ़ डायमंड हार्बर में टीएमसी छोड़ बीजेपी में शामिल दीपक हल्दर को टिकट दिया गया है. वहीं संयुक्त मोर्चा के आइएसएफ ने राज्य अध्यक्ष प्रतीक उर रहमान को और टीएमसी ने पन्नालाल हल्दर को टिकट दिया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें