1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. ballia
  5. battle with corona doctors wife making more than 200 masks daily for poor mbbs son sanitizing people

कोरोना से जंग: डॉक्टर की पत्नी गरीबों के लिये रोज बना रही 200 से अधिक मास्क, एमबीबीएस बेटा कर रहा लोगों को सैनिटाइज

By शशिकांत ओझा
Updated Date
Prabhat Khabar Digital Desk

बलिया. उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में कोरोना वायरस से लोगों में दहशत है. वही लोगों में अफरा-तफरी का माहौल भी है. पूरे देश में लॉकडाउन होने के बाद गरीब और मजदूर लोग बैंग उठाकर पैदल ही अपने घरों के लिये चल पड़े है. उनलोगों को अब कोरोना से भय बिल्कुल ही नहीं है. उनका एक ही मकशद है अपने घर पहुंच जाना. वहीं उत्तर प्रदेश सरकार भी इन लोगों के लिये सुविधा मुहैया कराने में जुटी है. वहीं, इस संकट के दौर में फेफना के एक पांडेय परिवार का योगदान काफी अहम है. चिकित्सक डॉ केके पांडेय की पत्नी ने गरीब लोगों तक मास्क पहुंचाने के लिए स्वयं सिलाई मशीन पकड़ लिया और दो सौ मास्क रोज तैयार कर रही हैं.

डॉक्टर की पत्नी सावित्री देवी का बेटा भी एमबीबीएस डॉक्टर है. सावित्री देवी का बेटा डॉ. डीएस पांडेय ने इलाके के लोगों को बुला-बुला कर सैनिटाइज कर रहे हैं. वही, अपनी मां द्वारा तैयार किए गए मास्क का भी वितरण कर रहे हैं. मां-बेटे ने मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने में कर रहे सहयोग की काफी सराहना की जा रही है. फेफना निवासी डॉ. केके पांडेय का छोटा बेटा डॉ. डीएस पांडेय भी एमबीबीएस है. होली पर लंबी छुट्टी लेकर गांव आये थे और लॉकडाउन होने के कारण घर पर ही रुक गये है. उन्होंने घर में स्थित मेडिकल स्टोर पर लोगों को बुलाकर सैनिटाइज करना शुरू कर दिये है.

डॉ डीएस पांडेय ने लोगों तक मास्क पहुंचाने के लिये बाजार में मास्क खोजने निकल पड़े, लेकिन मास्क उन्हे कहीं भी नहीं मिला. इसके बाद यह बात अपनी मां से उन्होंने बताया. उसके बाद डॉ डीएस पांडेय की मां सावित्री देवी ने घर पर ही मास्क सिलना शुरू कर किया. सावित्री देवी दिन भर में 200 से अधिक मास्क तैयार करती हैं. सावित्री देवी द्वारा बनाया गया मास्क को इलाके के लोगों के बीच डॉ डीएस पांडेय ने सुबह और शाम बांटते हैं. इतना ही नहीं डॉ. डीएस पांडेय लोगों को सैनिटाइज भी कर रहे हैं.

इतना ही नहीं बल्कि पैदल आ रहे लोगों को मानस भवन फेफना (नेशनल हाईवे) में निशुल्क भोजन भी कराते है. डॉ डीएस पांडेय पैदल यात्रा कर अपने घर जा रहे राहगीरों को भी बुलाकर उन्हें सैनिटाइज कर मास्क दे रहे हैं, इसी के साथ भोजन और आवश्यक दवाई भी निशुल्क दे रहे हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें