1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. agra
  5. up board exam 2022 evaluation of copies of up board exam started in agra acy

UP Board Exam: आगरा में यूपी बोर्ड परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन शुरू, इतने परीक्षकों की लगी ड्यूटी

आगरा जिले में तीन केंद्रों पर इंटरमीडिएट और दो पर हाईस्कूल की कॉपियों का मूल्यांकन कराया जाएगा. जिले में यूपी बोर्ड परीक्षा की करीब 7.07 लाख कॉपियों का मूल्यांकन होना है. इसके लिए बोर्ड ने 2294 परीक्षकों और 234 उपप्रधान परीक्षकों की ड्यूटी लगाई है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Agra
Updated Date
UP Board Exam 2022
UP Board Exam 2022
File

Agra News: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा संपन्न हो गई है. ऐसे में उनकी कॉपियों का मूल्यांकन कार्य 23 अप्रैल से शुरू हो गया है. आगरा की बात की जाए तो यहां पर 7.07 लाख कॉपियों का मूल्यांकन होना है, जिसके लिए मूल्यांकन से पहले परीक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा और साथ ही साथ माध्यमिक शिक्षा परिषद बोर्ड की तरफ से जारी किए गए दिशा-निर्देशों से उप नियंत्रक, उप प्रधान परीक्षकों और परीक्षकों को अवगत कराएंगे, जिसमें उप प्रधान परीक्षक द्वारा नमूना कॉपियों का मूल्यांकन करवाया जाएगा.

ताजनगरी के जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार के अनुसार, जिले में पांच केंद्रों पर मूल्यांकन होना है. तीन केंद्रों पर इंटरमीडिएट और दो पर हाईस्कूल की कॉपियों का मूल्यांकन कराया जाएगा. उन्होंने बताया कि जिले में यूपी बोर्ड परीक्षा की करीब 7.07 लाख कॉपियों का मूल्यांकन होना है. इसके लिए बोर्ड ने 2294 परीक्षकों और 234 उपप्रधान परीक्षकों की ड्यूटी लगाई है. यह सभी कॉपियों का मूल्यांकन बोर्ड के दिशा निर्देशानुसार करेंगे.

शुक्रवार शाम को हुई एक गूगल मीट में अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने बताया कि मूल्यांकन केंद्र में किसी भी व्यक्ति को मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी. मोबाइल को मूल्यांकन कक्ष से पहले ही जमा करा दिया जाएगा, जिसके लिए एक क्लॉक रूम बनाया जाना है. वहीं मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक डॉ मुकेश अग्रवाल और जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार इस मीटिंग में शामिल हुए. डॉ मुकेश अग्रवाल ने बताया कि गूगल मीट में निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी जनप्रतिनिधि या शिक्षक प्रतिनिधि को मूल्यांकन कक्ष में या केंद्र में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. साथ ही साथ कोई भी बाहरी व्यक्ति केंद्र में नहीं घुस सकेगा और मूल्यांकन कार्य को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा.

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ शर्मा गुट के जिला अध्यक्ष अजय शर्मा व जिला मंत्री ने शिक्षा विभाग से मांग की है कि मूल्यांकन केंद्रों पर शुद्ध शीतल पानी, पंखे, साफ सफाई, प्रकाश व्यवस्था की उपलब्धता पूर्ण की जाए. साथ ही महिला शिक्षकों के लिए प्रशासन की व्यवस्था भी की जाए और मूल्यांकन के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का भी पूर्ण रूप से पालन कराया जाए.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें