1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. two murders within 24 hours in capital stabbed in front of police in land dispute murder in ranchi srn

राजधानी में 24 घंटे के अंदर दो हत्याएं, जमीन विवाद में पुलिस के सामने चाकू मार कर हत्या

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
राजधानी में 24 घंटे के अंदर दो हत्याएं
राजधानी में 24 घंटे के अंदर दो हत्याएं
सांकेतिक तस्वीर

रांची : राजधानी में जमीन विवाद को लेकर हत्या का सिलसिला जारी है. 35 साल से 73 डिसमिल जमीन को लेकर चल रहे पारिवारिक विवाद ने रविवार को हिंसक रूप ले लिया. घटना दोपहर 1:30 बजे जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के हेसाग के उरांव चौक के पास की है. इसमें अल्लाउदीन अंसारी उर्फ बबलू (36 वर्ष) की पुलिस के सामने ही चाकू मार कर हत्या कर दी गयी.

घटना के दौरान मारपीट और पत्थरबाजी भी हुई. जिसमें मृत के रिश्तेदार जाकिर हुसैन, खुशबुद्दीन व एक अन्य घायल हो गये. पुलिस ने घटना को अंजाम देने के आरोप में मुख्तार अंसारी और शमीम अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है. वारदात को लेकर दिनभर तनाव की स्थिति रही. शाम में दोनों पक्ष के लोग घटनास्थल से चले गये.

लेकिन स्थिति दोबारा खराब नहीं हो, इसके लिए घटनास्थल के आसपास फोर्स की तैनाती की गयी है. मृत के परिजनों का आरोप है कि हत्या की वारदात पुलिस (पीसीआर 16) के सामने हुई है, जबकि सिटी एसपी इस बात से इंकार कर रहे हैं.

सुबह में पुलिस ने विवाद कराया शांत, दोपहर में हो गयी हत्या : जानकारी के अनुसार, हेसाग स्थित लगभग 73 डिसमिल जमीन को लेकर बबलू उर्फ अल्लाउदीन अंसारी व मुख्तार अंसारी के बीच 35 वर्षों से पारिवारिक विवाद चल रहा था. इसे लेकर रविवार सुबह अल्लाउदीन अंसारी व मुख्तार अंसारी के बीच विवाद शुरू हो गया. इसके बाद जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र की पीसीआर नंबर 16 की पुलिस ने सुबह 11 बजे पहुंच कर मामले को शांत कराया.

इसके बाद पुलिस चली गयी. बावजूद इसके दोपहर लगभग 1:30 बजे दोनों पक्षों में फिर से मारपीट शुरू हो गयी. इस क्रम में दूसरे पक्ष के लोगों ने बबलू उर्फ अल्लाउदीन अंसारी के पेट एवं गर्दन में चाकू मार दिया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गये. रिम्स ले जाने के क्रम में उनकी मौत हो गयी. मारपीट में तीन अन्य लोग भी घायल

मृतक के परिजनों का कहना था कि पीसीआर 16 में तैनात पुलिस के सामने ही चाकू मार कर हत्या कर दी गयी, लेकिन घटना के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही. जब सुबह मारपीट की घटना हुई थी, उसी समय पुलिस अगर दोनों पक्षों को थाना पकड़ कर ले गयी होती और कार्रवाई करती, तब ऐसी स्थिति में बबलू की हत्या नहीं होती.

पुलिस ने बताया कि मारपीट के समय महिलाओं द्वारा ईंट-पत्थर भी चलाये जा रहे थे. घटना के बाद दोनों पक्षों के बीच तनाव को देखते हुए पीसीआर 16, 17, 14 तथा जिला पुलिस से पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. दोनों पक्ष के बीच तनाव की स्थिति को देखते हुए इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है.

कई लोगों पर हत्या का आरोप हिरासत में महिलाओं से पूछताछ

मृतक के परिजनों ने हत्या के आरोप में मकसूद अंसारी, मुख्तार अंसारी, समसुद्दीन अंसारी, इरफान अंसारी, रेहान अंसारी, एनामुल अंसारी, मंजूर अंसारी, शमीम अंसारी, शफीक अंसारी, मकसूद आलम, इम्तियाज अंसारी, मोमिना खातून, समीद अंसारी, तैमुन निशा और सलीम अंसारी के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करायी है. पुलिस अन्य लोगों की संलिप्तता पर भी जांच कर रही है. पुलिस ने पूरे मामले में पूछताछ के लिए दो महिलाओं को भी हिरासत में लिया है.

घटना की जानकारी मिलने के बाद पीसीआर 16 में तैनात पुलिस पदाधिकारियों को वहां जांच के लिए भेजा गया था. पुलिस मौके पर पहुंचती, उससे पहले हत्या को चुकी थी. हत्या की घटना पुलिस की मौजूदगी में नहीं हुई है. सुबह में मारपीट की घटना की सूचना पुलिस को नहीं मिली थी.

सौरभ, सिटी एसपी, रांची

रैश ड्राइविंग व ओवरटेक के विवाद में फायरिंग, चाकू गोद युवक की हत्या

रैश ड्राइविंग और ओवरटेक करने को लेकर हुए विवाद में शनिवार रात 11 बजे स्कूटी सवार दो युवकों ने अरगोड़ा बस्ती निवासी रोहित कश्यप (30) की हत्या कर दी. युवकों ने पहले फायरिंग की और उसके बाद चाकू से रोहित के शरीर पर एक के बाद एक कई वार किये. घटना के बाद गंभीर स्थिति में उसे रिम्स ले जाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची थी, लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुके थे. रोहित छोटी-मोटी ठेकेदारी करता था, जबकि उसके पिता शंकर कश्यप व्यवसायी हैं. उनकी शिकायत पर अरगोड़ा पुलिस ने स्कूटी सवार दो अज्ञात युवकों पर हत्या का केस दर्ज किया है.

घटना के प्रत्यक्षदर्शी और रोहित के दोस्त ने पुलिस को बताया कि शनिवार रात हम तीन दोस्त स्कूटी पर सवार होकर अरगोड़ा चौक से बस्ती स्थित अपने-अपने घर जा रहे थे. रोहित एक स्कूटी पर था, जबकि हम दो दोस्त दूसरी स्कूटी पर थे. शिव मंदिर के पास पहुंचते ही पीछे से एक स्कूटी पर सवार दो युवक हॉर्न बजाते हुए रैश ड्राइविंग करने लगे.

वे तेजी से ओवरटेक करना चाह रहे थे. इस पर रोहित ने उन्हें टोका, कहा : ध्यान देकर चलाओ, तेज क्यों बन रहे हो? इस पर दोनों युवकों ने स्कूटी रोक दी और हमसे झगड़ा करने लगे. इस पर एक युवक ने हम पर पिस्तौल तान दिया. डर से दोनों दोस्त रोहित को अकेला छोड़कर वहां से भाग निकले.

इधर, शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी युवकों ने रोहित को सड़क पटक दिया और उसके शरीर पर 10-11 बार चाकू से जानलेवा हमला किया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया.

किसी बात को लेकर रोहित से होगी आरोपियों की खुन्नस

पुलिस का कहना है कि घटनास्थल से कोई खोखा बरामद नहीं हुआ है. पुलिस आरोपियों का पता लगाने के लिए अरगोड़ा चौक और उसके आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों का फुटेज खंगाल रही है. पुलिस ने कुछ स्थानीय लोगों से भी घटना की जानकारी हासिल की है, जिन्होंने फायरिंग की आवाज सुनने से इनकार किया है. प्रत्यक्षदर्शियों ने केवल चाकूबाजी की बात कही है. जिस ढंग से रोहित को चाकू से गोदा गया, उससे प्रतीत होता है कि आरोपियों की किसी बात को लेकर खुन्नस रही होगी.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें