1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand compartmental exam jac did not take decision regarding compartmental examination one year of so many students will be wasted srn

Jharkhand compartmental exam : जैक ने कंपार्टमेंटल परीक्षा को लेकर नहीं लिया निर्णय, इतने हजार छात्रों का एक साल हो जायेगा बर्बाद

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand Matric and Inter compartmental exam 2020
Jharkhand Matric and Inter compartmental exam 2020
प्रतीकात्मक तस्वीर

रांची : वर्ष 2020 की झारखंड मैट्रिक व इंटर की परीक्षा में फेल 62 हजार विद्यार्थियों का एक साल बर्बाद होने के कगार पर पहुंच गया है. जैक द्वारा जुलाई में मैट्रिक व इंटर की का रिजल्ट जारी किया गया. रिजल्ट प्रकाशन के चार माह होने को हैं, पर अब तक इन विद्यार्थियों की कंपार्टमेंटल (संपूरक) परीक्षा को लेकर अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका है. मैट्रिक की कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होने के लिए 32 हजार और इंटर की कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होने के लिए 30 हजार विद्यार्थियों ने परीक्षा फाॅर्म जमा किया है.

झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने वर्ष 2021 की 11वीं परीक्षा के लिए पंजीयन व परीक्षा फाॅर्म जमा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. मैट्रिक की कंपार्टमेंटल परीक्षा नहीं होने के कारण आवेदन जमा करनेवाले 32 हजार विद्यार्थी न तो 11वीं बोर्ड परीक्षा के लिए परीक्षा फॉर्म जमा कर पायेंगे, न ही वर्ष 2022 की इंटर परीक्षा के लिए अपना पंजीयन करा पायेंगे.

जब तक मैट्रिक की कंपार्टमेंटल परीक्षा का रिजल्ट प्रकाशन नहीं होता, तब तक विद्यार्थी आगे की प्रक्रिया पूरी नहीं कर पायेंगे. इसके अलावा परीक्षा नहीं होने के कारण विद्यार्थियों को अब परीक्षा पास करने के बाद भी इंटर में नामांकन में परेशानी का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि राज्य के अधिकतर कॉलेजों में इंटर में नामांकन प्रक्रिया अंतिम चरण में है.

जैक द्वारा अगर इस माह भी परीक्षा ली जाती है, तो परीक्षा लेने व रिजल्ट प्रकाशन की प्रक्रिया पूरी करने में कम से कम डेढ़ से दो माह का समय लग सकता है. ऐसे में दिसंबर में ही विद्यार्थी 11वीं में नामांकन ले पायेंगे और फरवरी में उन्हें 11वीं की बोर्ड परीक्षा देनी होगी.

स्नातक में नामांकन में होगी परेशानी : वहीं, इंटरमीडिएट की कंपार्टमेंटल परीक्षा भी अब तक नहीं हुई है. परीक्षा में सफल विद्यार्थी स्नातक में नामांकन लेंगे. राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में स्नातक में नामांकन अंतिम चरण में है. कुछ कॉलेजों में नामांकन प्रक्रिया बंद भी हो गयी है. ऐसे में कंपार्टमेंटल परीक्षा में सफल होने के बाद भी स्नातक में नामांकन लेना इन विद्यार्थियों के लिए मुश्किल होगा.

सीबीएसइ की सितंबर में ही हुई परीक्षा

जैक द्वारा परीक्षा आयोजन को लेकर शिक्षा विभाग से अनुमति मांगी गयी है. सरकार से अनुमति मिलने के बाद जैक द्वारा परीक्षा ली जायेगी. एक ओर राज्य में सरकारी विद्यालयों में पढ़ रहे बच्चों की कंपार्टमेंटल परीक्षा लेने पर कोई निर्णय नहीं लिया गया, वहीं सीबीएसइ ने सितंबर में ही कंपार्टमेंटल परीक्षा ले ली.

आइसीएसइ बोर्ड के विद्यार्थियों की भी कंपार्टमेंटल परीक्षा शुरू हो गयी है. इस माह पॉलिटेक्निक परीक्षा भी ली जायेगी. विश्वविद्यालयों द्वारा भी परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है, लेकिन जैक द्वारा ली जानेवाली आधा दर्जन से अधिक परीक्षाएं अब तक लंबित हैं.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें