1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. dvc electricity bill dvc again warns say give money otherwise blackout these districts are most threatened srn

DVC Electricity Bill : डीवीसी ने फिर दी चेतावनी, कहा - पैसे दें, नहीं तो ब्लैकआउट, इन जिलों को है सबसे ज्यादा खतरा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
डीवीसी ने फिर दी चेतावनी, कहा - पैसे दें, नहीं तो ब्लैकआउट
डीवीसी ने फिर दी चेतावनी, कहा - पैसे दें, नहीं तो ब्लैकआउट
Prabhat Khabar

jharkhand news, DVC news, dvc electricity bill रांची : डीवीसी ने झारखंड बिजली वितरण निगम द्वारा बकाया नहीं चुकाये जाने पर जेबीवीएनएल का लेटर ऑफ क्रेडिट (एलसी) भुना कर कमांड एरिया से ब्लैकआउट की चेतावनी दी है. डीवीसी के मुख्य अभियंता (वाणिज्य) मानिक रक्षित ने प्रेस बयान जारी कर यह चेतावनी दी है.

गौरतलब है कि डीवीसी के पास पेमेंट गारंटी के एवज में जेबीवीएनएल का 177 करोड़ रुपये का एलसी जमा हैं. इसमें शर्त यह है कि डीवीसी तब तक इसे नहीं भुना सकता, जब तक कि जेबीवीएनएल भुगतान करता रहेगा. इस चेतावनी के बाद एक बार फिर से धनबाद, बोकारो, हजारीबाग, गिरिडीह, रामगढ़, कोडरमा व चतरा में बिजली कटौती का खतरा मंडरा रहा है.

पूर्व में ही डीवीसी ने त्रिपक्षीय समझौता के तहत 1450 करोड़ रुपये राज्य सरकार के खाते से काट लिया है. जनवरी में भी दूसरी किस्त (750 करोड़ रुपये) काटने की प्रक्रिया चल रही है. दूसरी ओर अब एलसी भी जब्त कर भुनाने (इनकैश) की चेतावनी दी गयी है.

डीवीसी का 1960.20 करोड़ बकाया :

डीवीसी द्वारा कहा गया है कि कोडरमा थर्मल पावर स्टेशन से जेबीवीएनएल को 600 मेगावाट बिजली की आपूर्ति होती है. यह पावर परचेज एग्रीमेंट के तहत होती है. साथ ही 60 मेगावाट अतिरिक्त बिजली कंज्यूमर मोड में की जाती है. जेबीवीएनएल द्वारा लगातार भुगतान में विलंब किया जाता रहा है, जिससे बकाया बढ़ता जा रहा है.

श्री रक्षित ने लिखा है कि जनवरी 2020 से दिसंबर 2020 तक डीवीसी का 1960.20 करोड़ रुपये बकाया है. इसके विरुद्ध जेबीवीएनएल द्वारा केवल 893.18 करोड़ रुपये का ही भुगतान किया गया है. एक साल में 1067 करोड़ रुपये का बकाया हो गया है. पूर्व के बकाये को लेकर कुल पांच हजार करोड़ रुपये हो चुके हैं.

डीवीसी के बार-बार आग्रह के बावजूद जेबीवीएनएल भुगतान नहीं कर सका है. श्री रक्षित ने कहा कि जेबीवीएनएल डीवीसी का एक बड़ा उपभोक्ता है, जिसके द्वारा बकाया भुगतान नहीं किये जाने की वजह से डीवीसी की आर्थिक स्थिति प्रभावित हुई है. इससे डीवीसी को कोयला आपूर्ति, सूद के भुगतान व अॉपरेशन में कठिनाई आ रही है. कैश फ्लो कम होने से कोयला आपूर्तिकर्ता एजेंसी व अन्य सेवा प्रदाताओं के समक्ष भी कठिनाई आ रही है.

13 जनवरी तक शेष राशि के भुगतान का भरोसा

बकाये को लेकर डीवीसी द्वारा कमांड एरिया में लगातार बिजली कटौती की जा रही है. हालांकि, गुरुवार को लोड शेडिंग नहीं की गयी है. बताया जा रहा है कि बुधवार को झारखंड बिजली वितरण निगम द्वारा डीवीसी को अतिरिक्त 44 करोड़ रुपये दिये गये. 150 करोड़ रुपये मासिक बकाये बिल में निगम द्वारा 94 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है. साथ ही 13 जनवरी तक शेष राशि के भुगतान की बात कही गयी है.

Posted By : sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें