1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. harradipa case village women protecting the victim and her family smj

हर्राडीपा दुष्कर्म मामला : पीड़िता एवं उसके परिवार की सुरक्षा कर रही गांव की महिलाएं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले के बाद पीड़िता और उसके परिवार को ग्रामीण महिलाओं ने सुरक्षा देने का उठाया बीड़ा.
Jharkhand news : छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले के बाद पीड़िता और उसके परिवार को ग्रामीण महिलाओं ने सुरक्षा देने का उठाया बीड़ा.
प्रभात खबर.

Jharkhand news, Gumla news : गुमला (दुर्जय पासवान) : गुमला जिला स्थित चैनपुर प्रखंड के हार्राडीपा गांव में पांचवीं कक्षा की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद आरोपियों द्वारा जेल जाने से पहले दी गयी धमकी के बाद पीड़िता एवं उसके परिवार की सुरक्षा गांव की महिलाएं कर रही हैं. शनिवार को सामूहिक दुष्कर्म हुआ था और मंगलवार को मामला उजागर हुआ था. इस घटना के बाद बुधवार को गांव की दर्जनों महिलाएं लाठी- डंडा लेकर पीड़िता के परिवार की सुरक्षा प्रदान करते नजर आयी.

इस संबंध में ग्रामीण महिलाओं ने कहा है कि अब गांव में जो भी अपराध करेगा. उसे कड़ी सजा दी जायेगी. गांव की बहू- बेटियों पर बुरी नजर रखने वालों को बख्शा नहीं जायेगा. महिलाओं ने कहा है कि पीड़िता एवं उसके परिवार को कुछ न हो. इसका पूरा ख्याल गांव की महिला मंडल समूह रख रही है. किसी भी संकट से निबटने के लिए महिलाएं तैयार है.

इधर, बुधवार को पुलिस भी गांव में चौकस नजर आयी. चैनपुर थाना प्रभारी सुदामा राम पुलिस बल के साथ गांव में तैनात नजर आये. जिससे गांव में शांति व्यवस्था बनी रहे. अधिकारी एवं जनप्रतिनिधियों ने गांव में शांति बहाल करने के लिए ग्रामीणों के साथ बैठक किये. सर्किल इंस्पेक्टर अनूप दीप केरकेट्टा एवं थाना प्रभारी सुदामा राम ने ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि हर्राडीपा गांव में जो घटना घटी वह काफी निंदनीय और अमानवीय है. लेकिन, इस घटना के बाद आपस में कोई तनाव ना रहे. इसके लिए हमें एकजुट होकर काम करना होगा. कई लोग शांति भंग करने का भी प्रयास करेंगे, लेकिन वैसे लोगों को मैं चेतावनी देना चाहता हूं कि किसी भी तरह की अनहोनी कार्य ना करें. नहीं तो बाध्य होकर पुलिस उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करेगी. पूर्व की भांति गांव के लोग एकता के सूत्र में बंधकर आपसी सद्भावना के साथ रहें. विकास के कार्यों में अपनी महती योगदान दें.

प्रखंड के बीसीओ कृष्णा ओहदार ने कहा कि सामूहिक दुष्कर्म की घटना की जितनी निंदा की जाये कम है. हैवानियत की हद को पार कर दिया गया है, जो क्षमा योग्य नहीं है. गांव में शांति बहाल हो. इसके लिए हमें मिलकर कार्य करना होगा. उप प्रमुख सह झामुमो के जिला उपाध्यक्ष सुशील दीपक मिंज ने गांवों में शांति बहाल के लिए ग्रामीणों से अपील की है. उन्होंने कहा कि आपसी सद्भावना के साथ मेल- मिलाप के साथ गांव में रहें.

श्री मिंज ने चम्पा सखी महिला मंडल और चमेली सखी महिला मंडल की प्रशंसा करते हुए कहा कि सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद महिला मंडल की महिलाओं ने सोमवार की रात में दुष्कर्म पीड़िता के घर की जो सुरक्षा की वह सराहनीय कार्य है. महिलाओं के इस कार्य से उस दिन एक बड़ी घटना टल गयी. मौके पर मुख्य रूप से मुखिया कमल केरकेट्टा, शाहिद अनवर, राहुल कुमार, संध्या केरकेट्टा, तेरेसा मिंज, ग्लोरिया टोप्पो, बसंती कुजूर, अलमा रेजिना टोप्पो सहित कई ग्रामीण मौजूद थे.

पीड़िता के 2 भाई एवं चाचा को भी भेजा जेल

चैनपुर थाना की पुलिस ने हर्राडीपा सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता के 2 भाई गोविंद बड़ाईक, तुलसी बड़ाईक एवं चाचा गोपाल बड़ाईक को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इन तीनों पर दुष्कर्म के आरोपी इलियास तिर्की एवं अमरजीत के साथ मारपीट करने का आरोप है. जब छात्रा के साथ दुष्कर्म हुआ और आरोपियों ने घर पर हमला किया. इसके बाद जवाबी कार्रवाई में पीड़िता के दोनों भाई एवं चाचा ने आरोपियों पर हमला किया था. इस मामले में दुष्कर्म के आरोपी इलियास तिर्की की मां मिरिसतीला तिर्की ने चैनपुर थाने में अपने बेटे इलियास तिर्की एवं अमरजीत के साथ मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर देने का आरोप लगाते हुए चैनपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज की थी. इसके बाद चैनपुर थाना प्रभारी सुदामा राम ने प्राथमिकी दर्ज कर पीड़िता के चाचा एवं दोनों भाई को जेल भेज दिया है.

क्या है मामला

चैनपुर के हर्राडीपा गांव में शनिवार को छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था. इसके बाद पीड़िता की मां गांव में पंच एवं वार्ड सदस्यों के पास बैठक कर फरियाद लगाने गयी थी. जिसकी सूचना दुष्कर्म के आरोपियों को लग गयी. आरोपी लोग पीड़िता के घर पहुंचकर धमकी दिये. इतना ही नहीं, पीड़िता के भाई एवं उसकी मां के साथ मारपीट भी किया था. जिसके बाद पीड़िता के दोनों भाई एवं चाचा आत्मरक्षा के लिए आरोपियों पर जानलेवा हमला किया था. जिसमें एक आरोपी अमरजीत तिर्की के दोनों पैर एवं हाथ में धारदार हथियार से वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया था.

दुष्कर्मियों को महिलाओं ने चेताया

हर्राडीपा गांव की महिला मंडल की अध्यक्ष संध्या कुजूर एवं तेरेसा मिंज ने बताया कि गांव की एकता और अखंडता पर प्रहार करने वालों की अब खैर नहीं है. महिलाएं ममता की मूर्त है, लेकिन जरूरत पड़ने पर दुर्गा का रूप भी धारण कर सकती है. गांव में किसी भी तरह की अनहोनी होने नहीं दिया जायेगा. हम एकजुट होकर गांव की रक्षा करेंगे. पीड़िता एवं उसके परिजनों की हम पूरी तरीके से रक्षा करेंगे. कोई भी पीड़ित परिवार की ओर बुरी नजर नहीं डाल सकता है. हम महिलाएं जाग चुके हैं. दुष्कर्मी ये भूल ना करें कि पीड़ित परिवार को किसी भी तरीके का क्षति पहुंचाएंगे.

हेमंत सरकार में बेटियां सुरक्षित नहीं : सांसद

सांसद सुदर्शन भगत ने कहा है कि इस प्रकार की घटना से पूरी मानवता शर्मसार हो रही है. यह गंभीर मामला है. उन्होंने घटना की जानकारी होने पर दूरभाष से पूरे मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक से ली. एसपी ने बताया कि इस मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. सांसद ने एसपी से कहा कि ऐसी जानकारी मिली है कि आरोपियों द्वारा पीड़ित परिवार पर हमला भी किया गया. इस लिहाज से पीड़ित परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने के साथ बिशुनपुर मामले पर भी आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कही. सांसद ने कहा कि इस प्रकार की घटना लोहरदगा में भी घटी है. उन्होंने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था दिनोंदिन गिरती जा रही है. महिलाओं पर अत्याचार बढ़ा है. सरकार इसे रोकने नाकाम साबित हो रही है. यूपी की हाथरस की घटना कांग्रेस को दिखी. चूंकि वहां राजनीति करना है. कांग्रेस को झारखंड में हो रही घटनाओं पर ध्यान नहीं है. आदिवासी बहनों पर हो रहे अत्याचार नहीं दिख रहा है. उन्होंने सरकार से मांग किये कि इस प्रकार की घटना पर तत्काल रोक लगाये.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें