1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. 8 point 30 percent interest available on the pf of coal workers proposal agreed in virtual meeting of the board smj

कोल कर्मियों के पीएफ पर मिलेगा 8.30 फीसदी ब्याज, बोर्ड की वर्चुअल मीटिंग में इस प्रस्ताव पर सहमति बनी

कोल कर्मियों के भविष्य निधि पर 8.30 फीसदी ब्याज देने समेत कई अन्य निर्णय ट्रस्टी बोर्ड की हुई वर्चुअल मीटिंग में लिये गये.ट्रस्टी बोर्ड के चेयरमैन अनिल कुमार जैन ने बोर्ड की अगली बैठक में इसे रखने का निर्देश दिया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: कोल कर्मियों के भविष्य निधि पर 8.30 फीसदी ब्याज देने पर सहमति बनी.
Jharkhand news: कोल कर्मियों के भविष्य निधि पर 8.30 फीसदी ब्याज देने पर सहमति बनी.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news: कोयला खान भविष्य निधि संगठन (Coal Mines Provident Fund Organization-CMPFO) कोयला कर्मियों की पेंशन निरंतरता के लिए कोयला कंपनियों से प्रति टन 25-30 रुपया वसूलेगा. कोयला खान भविष्य निधि संगठन ट्रस्टी बोर्ड की हुई वर्चुअल मीटिंग में इस प्रस्ताव पर सहमति बनी है. पेंशन फंड पर चर्चा के दौरान यह प्रस्ताव कोयला सचिव और ट्रस्टी बोर्ड के चेयरमैन अनिल कुमार जैन ने दिया.

CMPF कमिश्नर को प्रस्ताव बनाने का निर्देश

सीएमपीएफ कमिश्नर अनिमेष भारती ने कहा कि कुछ कोल कंपनियां प्रति टन 10 रुपया नहीं दे रही है. केवल कोल इंडिया ही दे रहा है. इस पर ट्रस्टी बोर्ड के चेयरमैन श्री जैन ने प्रस्ताव देते हुए कमिश्नर को प्रस्ताव बनाने का निर्देश देते हुए बोर्ड की अगली बैठक में इसे रखने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि बोर्ड से पारित होते ही यह नियम बन जायेगा. मीटिंग में साल 2021-22 के लिए भविष्य निधि (PF) पर 8.30 फीसदी ब्याज देने समेत कई अन्य निर्णय लिये गये.

DHFL का 1300 करोड़ बट्टे खाता में

मीटिंग में फंड मैनेजर ने कर्ज में डूबी और दिवालिया हो चुकी दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (DHFL) के शेयर में लगाये पैसे को बट्टे खाता (रिटेन ऑफ) में डालने संबंधी इन्वेस्टमेंट सब कमेटी का प्रस्ताव रखा. सब कमेटी में कोयला मंत्रालय के संयुक्त सचिव-आर्थिक सलाहकार संयोजक हैं, जबकि संयुक्त सचिव एसबी नेगी, कमिशन और कोल इंडिया के डीएफ (निदेशक वित्त) सदस्य हैं. बताया जाता है कि रिटेन ऑफ करने का निर्णय बोर्ड ने ले लिया है, पर बोर्ड सदस्य राकेश कुमार कहते हैं कि निर्णय नहीं हुआ है. बोर्ड की अगली बैठक में सब कमेटी की रिपोर्ट विस्तार से रखी जायेगी, तब निर्णय होगा.

बोर्ड में लिये गये निर्णय लागू नहीं होते : एटक

एटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बोर्ड सदस्य रमेंद्र कुमार ने कहा कि बोर्ड में लिये गये निर्णय लागू नहीं होते हैं. सभी कंपनियों के निदेशक कार्मिक सदस्य हैं. ये ना कुछ करते हैं और ना ही बोर्ड की मीटिंग में कुछ बोलते हैं. इस पर कोल सचिव ने सभी कार्मिक निदेशकों को सीएमपीएफ के कार्यों में रुचि लेने का निर्देश देते हुए कहा कि हम जैसे कोयला उत्पादन की समीक्षा करते हैं, वैसे ही आपके कार्यों की समीक्षा करेंगे. एचएमएस नेता और बोर्ड सदस्य राकेश कुमार ने ठेका मजदूरों के कवरेज, लेजर अपडेशन, पासबुक अपडेशन आदि मुद्दे उठाये.

ये थे मीटिंग में

सीएमपीएफ कमिश्नर अनिमेष भारती के अलावा कोल मंत्रालय के संयुक्त सचिव एसबी नेगी, कोल मंत्रालय के संयुक्त सचिव निरुपमा कोटरू, वित्त कोल इंडिया निदेशक विनय रंजन, बीसीसीएल के निदेशक कार्मिक पीवीकेआर मल्लिकार्जुन राव समेत WCL, ECL, NCL, SCCL, SECL के निदेशक कार्मिक, एटक के रमेंद्र कुमार, बीएमएस के वाईएन सिंह, सीटू के डीडी रामनंदन और एचएमएस राकेश कुमार शामिल थे.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें