1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. madhupur by election the discussion on the selection of the candidate due to which the assembly elections were lost bjp is being discussed in the name of the same srn

Madhupur By Election : उम्मीदवार के चयन को लेकर माथापच्ची : जिसकी वजह से विधानसभा चुनाव हारी थी BJP उसी के नाम पर हो रही चर्चा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बीजेपी के प्रत्याशी चयन को लेकर चल रही है माथापच्ची
बीजेपी के प्रत्याशी चयन को लेकर चल रही है माथापच्ची
Prabhat Khabar Graphics

Jharkhand News, Deoghar News, Madhupur By Election 2021 रांची : मधुपुर उपचुनाव में प्रत्याशियों के नाम पर विचार विमर्श करने को लेकर भाजपा प्रदेश चुनाव समिति की बैठक शनिवार को भाजपा कार्यलय में हुई. इसमें सर्वसम्मति से प्रत्याशी चयन को लेकर प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश, विधायक दल के नेता सह पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह को अधिकृत किया गया.

तीनों नेता प्रत्याशियों के नाम पर विचार विमर्श कर अपनी अनुशंसा भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति के पास भेजेंगे. इसके बाद प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की जायेगी. बैठक केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, सांसद विद्युत वरण महतो, विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र राय समेत कई नेता मौजूद थे.

छह दावेदारों के नाम पर चर्चा :

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दो-तीन दिनों में संभावित प्रत्याशियों की सूची केंद्रीय चुनाव समिति के पास भेज दी जायेगी. बैठक में सहयोगी आजसू को विश्वास में लेते हुए मधुपुर में प्रत्याशी उतारने पर भी विचार विमर्श किया गया.

पूर्व मंत्री राज पलिवार, आजसू नेता गंगा नारायण समेत टिकट के छह दावेदारों के नाम पर चर्चा हुई. श्री पलिवार वर्ष 2005 व 2014 में भाजपा के टिकट से चुनाव जीते थे. 2019 में हुए विधानसभा चुनाव में श्री पलिवार झामुमो प्रत्याशी हाजी हुसैन अंसारी से पराजित हुए थे. हाजी हुसैन के निधन होने के कारण यहां उप चुनाव हो रहा है.

आपको बता दें कि 2019 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी राज पलिवार को अपना उम्मीदवार बनाया था और हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक गंगा नरायण के नाम की चर्चा चल रही थी लेकिन राज पलिवार आरएसएस की पृष्ठभूमि से हैं और भाजपा के पुराने नेता हैं इसी वजह से मधुपुर सीट उनकी झोली में चली गयी लेकिन वो झामुमो के हाजी हुसैन अंसारी से हार गये. दिलचस्प बात ये है कि उस वक्त टिकट न मिलने से गंगा नरायण आजसू की टिकट चुनाव लड़ बैठे और उन्हें 45000 हजार से ज्यादा वोट मिले.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें