वन भूमि की खुदाई, जेसीबी जब्त

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

एक नामजद सहित चार-पांच अज्ञात पर केस दर्ज

देवघर : मोहनपुर अंचल के वार्ड नंबर 26 स्थित रामपुर में वन भूमि पर अवैध ढंग से तालाब की खुदाई की सूचना पर डीएफओ ममता प्रियदर्शी के निर्देश के बाद वन विभाग की टीम ने छापेमारी की. रेंज अफसर एसडी सिंह के नेतृत्व में हुई छापेमारी में टीम ने जेसीबी मशीन को मौके पर से जब्त कर लिया. टीम ने निरीक्षण में पाया कि करीब दो एकड़ वन भूमि पर 10 से 15 फीट गहरा कर दिया गया है. विभाग ने जब्त जेसीबी मशीन को रेंज ऑफिस ले आयी. वन भूमि पर अवैध ढंग से मिट्टी की खुदाई कर बेचे जाने के आरोप में रामपुर निवासी बालेश्वर दास समेत चार-पांच अज्ञात पर वन अधिनियम के तहत केस दर्ज कर कोर्ट को सूचना भेज दी गयी है.
वन भूमि पर इस अवैध खुदाई में मोहनपुर प्रखंड के फोरेस्टर राजेंद्र प्रसाद की भी भूमिका संदिग्ध पायी गयी है. विभाग ने फोरेस्टर की भूमिका की जांच शुरू कर दी है.
कुरुमटांड़ व खिजुरिया में बड़े पैमाने पर वन भूमि पर कब्जा: मोहनपुर अंचल में रामपुर समेत खिजुरिया, कुरुमटांड़ व डुमरिया मौजा में भी बड़े पैमाने पर वन भूमि पर कब्जा है. खिजुरिया व कुरुमटांड़ में झाड़ी-जंगल भूमि का दस्तावेज बनाकर जमीन बेची जा रही है. कुरुमटांड़ माैजा में लगभग छह एकड़ जंगल-झाड़ी भूमि को बेचने की तैयारी है. डुमरिया में भी 27 एकड़ वन भूमि पर कब्जे की मापी तो हुई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई.
फोरेस्टर की भूमिका संदिग्ध पायी गयी है : डीएफओ
डीएफओ ममता प्रियदर्शी ने बताया कि रामपुर में जिस जगह वन भूमि की खुदाई चल रही थी, उसके पास ही मोहनपुर के फोरेस्टर राजेंद्र प्रसाद किराये पर रहते हैं. छापेमारी करने गयी वन विभाग की टीम ने जब कार्रवाई शुरू की, तो जेसीबी के ड्राइवर ने फोरेस्टर राजेंद्र को फोन लगाकर सूचना दे दी. एक विभागीय व्यक्ति के क्षेत्र में ही जब वन भूमि को नुकसान पहुंचाया जा रहा था, तो उन्हें कार्रवाई काफी पहले करनी थी. चूंकि गड्ढे खोदने का कार्य काफी पहले से चल रहा था. ऐसी परिस्थिति में इस अवैध कार्य में फोरेस्टर की भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता है. फोरेस्टर के खिलाफ सभी बिंदुओं पर जांच शुरू की गयी है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें