1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. coron blast in jharkhand 93 corona positives in one day read top 5 news of jharkhand

झारखंड में कोरोना ब्लास्ट : एक दिन में 93 कोरोना पॉजिटिव मिले, पढ़ें झारखंड की टॉप 5 खबरें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

झारखंड में शुक्रवार को कोरोन ब्लास्ट हुआ है. एक ही दिन में 93 कोरोना संक्रमित मिले हैं. यह एक दिन में मिले कोरोना संक्रमितों में सर्वाधिक मामला है. वहीं, रांची के रिम्स में एक मरीज की मौत हो गयी है. जिस शख्स की मौत हुई है, वे 70 साल के बुजुर्ग थे और रिम्स के कोविड-19 वार्ड में भर्ती थे. बुजुर्ग मूल रूप से सिमडेगा के रहनेवाले थे. शुक्रवार को मिले ने मरीजों को मिला कर अब तक राज्य में कोरोना के 936 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें सात की मौत हो चुकी है, जबकि 410 मरीज स्वस्थ हो कर घरों को लौट चुके हैं. फिलहाल राज्य में कोरोना के कुल 519 एक्टिव केस हैं. शुक्रवार को मिले संक्रमितों में सिमडेगा के 30, हजारीबाग के 24, पूर्वी सिंहभूम के 15, रामगढ़ के सात, लातेहार के छह और गढ़वा के छह मरीज शामिल हैं. वहीं, धनबाद, कोडरमा, गुमला, रांची और पलामू से एक-एक संक्रमित मिले हैं.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि हाट-बाजार में कोई महिला शराब नहीं बेचे. उनके लिए रोजगार के नये अवसर तैयार किये जायेंगे. उन्होंने राज्य के सभी उपायुक्तों को ऐसी महिलाओं के लिए रोजगार उपलब्ध कराने के लिए योजना बनाने का निर्देश दिया है. सीएम ने कहा कि हाट-बाजार में शराब की बिक्री करनेवाली महिलाओं को बल पूर्वक नहीं हटाकर उन्हें अन्य रोजगार से जोड़ने की पहल करनी है. महिलाओं का समूह बनाकर रोजगार के नये अवसर तैयार करना है. धीरे-धीरे महिलाओं को शराब बिक्री नहीं करने के लिए जागरूक करते हुए उनके अनुरूप कार्य उपलब्ध कराना है. मुख्यमंत्री राज्य के सभी उपायुक्तों एवं उप विकास आयुक्तों के साथ आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान यह निर्देश दिया.

कोरोना के खिलाफ जंग भी जारी है. इस जंग पर अंधविश्वास भी भारी है. इधर, कोरोना के नाम से एक देवी का अवतार भी हो गया है. 'कोरोना माई' के नाम से देवी का नया अवतार आया है. इसकी पूजा-अर्चना हो रही है. भक्त कोरोना को दूर भगाने के लिए 'कोरोना माई' की शरण में हैं. पलामू, गढ़वा, डालटनगंज सहित राज्य के अलग-अलग हिस्सों में लोग इस अंधभक्ति में समर्पित हैं. इधर, राजधानी के डुमरदगा, बूटी मोड़ के पास 'कोरोना माई' की पूजा की खबर है. मांडू प्रखंड की कुजू पश्चिमी पंचायत के रामनगर व बमबम नगर में महिलाएं 'कोरोना माई' की पूजा-अर्चना कर रही हैं.

उन्हें प्रसन्न करने के लिए नौ लड्डू, नौ फूल व लौंग चढ़ा रही हैं. शुक्रवार को मांडू प्रखंड की कुजू पश्चिमी पंचायत के रामनगर व बमबम नगर की कुछ महिलाएं प्रातः स्नान ध्यान कर खेत व जंगल की ओर हाथ में लोटा व अन्य पूजन सामग्री लेकर निकल गयीं. इस दौरान न सोशल डिस्टैंसिंग का ख्याल रखा गया और न ही किसी महिला ने मास्क पहन रखा था. खेत में पहुंचते ही महिलाएं नौ लड्डू, नौ फूल, नौ अगरबत्ती चढ़ाकर खेत या जंगल में अपने अलग-अलग गड्ढे खोदकर उसमें डाल देती हैं. उनका मानना है कि ऐसा करने से कोरोना महामारी दो सप्ताह में समाप्त हो जायेगी. बिहार के बरौनी क्षेत्र में 'कोरोना माई' की पूजा का वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल होने के बाद ही विभिन्न क्षेत्रों में यह अंधविश्वास बढ़ रहा है.

राज्य में लॉकडाउन की अवधि में जनता की शिकायतों के निबटारे में साहिबगंज सभी 24 जिलों में टॉप पर रहा है. 23 मार्च से तीन जून तक साहिबगंज जिला प्रशासन ने कुल प्राप्त शिकायतों में से 95.12 प्रतिशत का निपटारा कर सूची में अव्वल स्थान प्राप्त किया है. शिकायतों का निबटारा करने वाली सूची में रांची सबसे फिसड्डी साबित हुई है. रांची जिला में प्राप्त शिकायतों में से 68.53 प्रतिशत शिकायतों का ही निबटारा किया जा सका. हालांकि, साहिबगंज की तुलना में रांची जिला में काफी अधिक शिकायतें दर्ज की गयी थी. लॉकडाउन की अवधि में साहिबगंज में कुल 1,086 शिकायतें दर्ज की गयी थी. जबकि, रांची में दर्ज शिकायतों की कुल संख्या 9,043 रही. इन शिकायतों में से साहिबगंज ने 1,033 मामले निबटा दिये. वहीं, रांची में 6,197 शिकायतों का निबटारा किया गया. जनता की शिकायतों के निबटारे में धनबाद दूसरे और पश्चिम सिंहभूम तीसरे स्थान पर है.

इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए अब अर्बन लर्निंग इंटर्नशिप प्रोग्राम की शुरुआत की गयी है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय व एआइसीटीइ के सहयोग से इसे इंजीनियरिंग कॉलेजों में लागू किया जा रहा है. इसके तहत स्नातक स्तर की शिक्षा पूरी कर चुके नये छात्रों को देश भर के शहरी स्थानीय निकायों और स्‍मार्ट सिटी जैसे प्रोजेक्ट में इंटर्नशिप करने का मौका मिलेगा. इसके लिए एक पोर्टल भी तैयार किया गया है. इस प्रोग्राम के तहत छात्रों को व्यावहारिक अनुभव देने के साथ ही शहरी स्थानीय निकायों और स्मार्ट शहरों के कामकाज में नये विचारों और नवीन सोच व सुधार को बढ़ावा दिया जायेगा. सरकार ने कार्यान्वयन में आसानी के लिए यूएलबी/स्मार्ट सिटीज और इंटर्न के लिए एक हैंडबुक भी तैयार की है, जो विद्यार्थियों को उपलब्ध करायी जायेगी.

posted by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें