1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. the officials of ramgarh military camp who came to see the cultivation of watermelon gave confidence increased concern of the farmers due to the rain of cyclonic storm yaas and rotting of watermelon in lockdown grj

तरबूज की खेती देखने पहुंचे रामगढ़ मिलिट्री कैंप के अधिकारियों ने दिया भरोसा, चक्रवाती तूफान Yaas की बारिश व Lockdown में तरबूज सड़ने से किसानों की बढ़ी चिंता

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Cultivation Of Watermelon In Jharkhand : तरबूज की खेती देखने पहुंचे अधिकारी
Cultivation Of Watermelon In Jharkhand : तरबूज की खेती देखने पहुंचे अधिकारी
प्रभात खबर

Cultivation Of Watermelon In Jharkhand, बोकारो न्यूज (नागेश्वर) : झारखंड के बोकारो जिला अंतर्गत गोमिया प्रखंड की कंडेर पंचायत के कंडेर ग्राम में पांच एकड़ में दो सगे भाइयों के द्वारा की गयी तरबूज की खेती पर चक्रवाती तूफान यास व लॉकडाउन में हुई क्षति तथा खेत में पड़े 40-50 टन तरबूज सड़ने की सूचना पाकर रामगढ़ मिलिट्री कैंप के अधिकारी एम श्री कुमार सौरभ चक्र प्रेसिडेंट रामगढ़ कैंट शिख रेजिमेंट, बोर्ड व कुमार रणविजय सेना मेडल सहायक कमाडेंट व मेजर अमित कुमार कंडेर पहुंचे. वहां पर कृषि फार्म में खेती देख तथा हुए नुकसान पर कृषकों से बातचीत की और उन्हें भरोसा दिया.

रामगढ़ मिलिट्री कैंप के अधिकारियों ने कृषक राजू कुमार महतो तथा किसान श्री महतो से बातचीत के बाद कहा कि किसान अन्नदाता हैं. किसान मेहनत से अन्न व खाद्य पदार्थों को उगाते हैं तो उन्हें वाजिब मेहनताना मिलना चाहिए. उन्होंने कृषकों की हौसला अफजाई करते हुये कहा कि आप सभी हताश ना हों. आगे अपनी खेती को और विकसित करें. उन्होंने कैंप के लिए उत्पादों की खरीदारी करने की बात कही.

अधिकारियों ने कृषि फार्म में कार्यरत 40 के आसपास महिला व पुरुषों के बीच अनाज का पैकट वितरण किया. किसान राजू महतो ने कहा कि काफी मेहनत से खेती की, पर ये नहीं पता था कि मौसम व यास के साथ-साथ लॉकडाउन उनकी मेहनत पर पानी फेर देगा. उन्होंने कहा कि मैंने तरबूज की बिक्री के लिए कृषि विभाग से लेकर महाजनों तक की दौड़ लगायी ताकि कम से कम मुनाफा नहीं तो लागत मिल जाये, पर वो तो हुवा नहीं, इस खेती में काफी नुकसान हुआ. फिर भी हौसले को बुलंद रखते हुए आगे कृषि कार्य को और विकसित करने की बात कही.

आपको बता दें कि श्री महतो ने अपने दो सगे भाइयों को कृषि कार्य से जोड़ा है. इसके पूर्व 20 एकड़ भूमि में विभिन्न प्रकार की साग सब्जियों का उत्पादन कर आत्मनिर्भर बनने में जुटे हैं. इसमें श्री महतो के पिता नारायण महतो, माता मुटरी देवी, पत्नी नीतू रानी देवी भी खेती में सहयोग कर रही हैं. कृषि विकास के लिए गोमिया के विधायक डॉ लबोदर महतो के द्वारा बिजली व कूप प्रदान किया गया है, ताकि कृषि के विकास में बल मिले. एक दिन पूर्व कृषि फार्म से लगभग पांच टन तरबूज जवान ले गये थे. तरबूज की खेती में नुकसान का कृषि विभाग द्वारा आंकलन कर वरीय पदाधिकारियों को सूचना दी गयी है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें