गुमला व चतरा में बोले मोदी, खून नहीं, पसीना बहाने से होगा विकास

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गुमला व चतरा में भाजपा की भारत विजय रैली

माओवादियों ने बंद बुला कर लोकतंत्र को ललकारा है

माओवादियों के हाथों में बंदूक नहीं हल होना चाहिए, कलम होनी चाहिए

लोकसभा चुनाव तूफान बन चुका है, जो लुटेरों और विध्वंसकों को देश से बहा ले जायेगा

कांग्रेस नेता कोयला और लौह अयस्क के खनन से जुड़े भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, जिससे लोगों की समृद्धि प्रभावित हो रही है

गुमला/चतरा : झारखंड दौरे पर आये भाजपा प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कहा कि माओवादियों ने लोकतंत्र को ललकारा है. बंद बुला कर लोगों को सभा में जाने से रोकने का प्रयास किया. लेकिन जनता ने बता दिया कि बंदूक से ज्यादा ताकत लोकतंत्र की होती है. मैं पिछले चुनाव में भी गुमला आया था, लेकिन ऐसा नजारा नहीं देखा था. महात्मा गांधी ने अहिंसा का संदेश दिया है. लेकिन गुमराह करनेवाले माओवादी लोगों को खून से रंग रहे हैं.

देश व राज्य का विकास खून बहाने से नहीं, पसीना बहाने से होगा. झारखंड को विकास के रंग में रंगने की जरूरत है. माओवादियों के हाथों में बंदूक नहीं हल होना चाहिए, ताकि भूखे व गरीब का पेट भर सकें. इनके हाथ में कलम की जरूरत है, ताकि विकास को सही दिशा मिल सके. गुमला की जनता ने आज दिखा दिया कि वे बंदूक नहीं लोकतंत्र पर विश्वास करते हैं. श्री मोदी गुरुवार को गुमला के एरोड्राम मैदान व चतरा के बाबा मैदान में भारत विजय रैली को संबोधित कर रहे थे.

भ्रष्टाचार कांग्रेस की पहचान : श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस की गलत नीतियों का खमियाजा पूरा देश भुगत रहा है़ महंगाई, भ्रष्टाचार व घोटाला यूपीए सरकार की पहचान बनी हुई है.

उन्होंने कहा कि जो सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए, वे गरीबों का हाल क्या जानेंग़े जब-जब चुनाव आता है, कांग्रेस गरीबी मंत्र का जाप करने लगती है़ अपने पारंपरिक अंदाज में श्री मोदी ने लोगों से कई सवाल पूछ़े कहा कि नौजवान को बचाना है, तो हिंदुस्तान बचाना होगा, हिंदुस्तान बचाना है, तो कांग्रेस को हटाना होगा़

दमदार नेता दिला सकता है भ्रष्टाचार से मुक्ति : श्री मोदी ने कहा कि देश को भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलायी जा सकती है. बशर्ते नेता में दम होना चाहिए. सरकार की नीयत व नीति साफ होनी चाहिए. गुजरात सरकार ने माइनिंग पॉलिसी को ऑनलाइन कर भ्रष्टाचार को समाप्त किया. इस योजना के लिए केंद्र सरकार से गुजरात सरकार को पुरस्कार भी मिला. सभी राज्यों को इसे लागू करने का निर्देश दिया गया है. अगर सरकार की नीति और नीयत साफ होगी, तो भ्रष्टाचार से निजात मिल सकता है.

पर्यावरण मंजूरी के लिए पैसा देना पड़ता है : मोदी ने कहा कि जब भी दिल्ली में खानों की बात होती है, पर्यावरण मंत्रलय रोड़ा अटका देती है. आपने आयकर, बिक्री कर के बारे में सुना होगा. वहां दिल्ली में जयंती कर भी है. अगर किसी को पर्यावरण मंजूरी चाहिए, तो उन्हें पैसा देना पड़ता है. बिना भुगतान के फाइलों को मंजूरी नहीं दी जाती.

60 साल नहीं 60 माह का मौका दें : मोदी ने कहा कि कांग्रेस के कुशासन से जनता त्रस्त है. ऐसे में परिवर्तन जरूरी है. कांग्रेस ने इस राज्य में 60 साल तक शासन किया है. मैं आपसे सिर्फ 60 माह मांग रहा हूं. वर्ष 2014 में झारखंड की 14 सीट दिला कर भाजपा को बहुमत की सरकार बनाने में सहयोगी बनें.

लालू पर भी साधा निशाना : मोदी ने कहा कि एक नेता (राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद) ने कहा था कि झारखंड मेरी लाश पर बनेगा और आज वो राजनीति कर रहे हैं. आखिर अब कहां चले गये ऐसे नेता. मोदी ने कहा कि झारखंड इस समय बदहाल है. यहां रोजगार के अवसर नहीं हैं. झारखंड की भूमि अमीर है, लेकिन यहां के लोग गरीब हैं. ऐसा सिर्फ सरकार की नीतियों के चलते यहां हो रहा है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें