1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. lay foundation stone of first rubber dam on falgu river of bihar by chief minister nitish planning to increase the water level skt

फल्गु नदी में अब सालोंभर रहेगा पर्याप्त पानी, बिहार के पहले रबड़ डैम का सीएम नीतीश करेंगे शिलान्यास

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
Social media

पटना: राज्य में पहली बार रबड़ का डैम फल्गु नदी पर बनाया जायेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को इसका उद्घाटन करेंगे. इस डैम को बनाने का मकसद गया के प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर के पास फल्गु में सालोंभर कम से कम दो फीट पानी उपलब्ध कराना है. इस संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल संसाधन विभाग को पिछले दिनों निर्देश दिया था. पितृपक्ष में वहां स्नान, तर्पण व पिंडदान के लिए देश-विदेश से लाखों श्रद्धालु आते हैं.

405 मीटर लंबा और तीन मीटर ऊंचा रबड़ डैम का निर्माण

जल संसाधन विभाग के सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस निर्देश पर जल संसाधन विभाग वहां 405 मीटर लंबा और तीन मीटर ऊंचा रबड़ डैम का निर्माण करायेगा, जो आकर्षण का केंद्र होगा. इस पर 405 मीटर लंबा पैदल पार पथ भी बनेगा.

डैम के बनने से फल्गु नदी के पानी का 100 फीसदी उपयोग हो सकेगा

सूत्रों का कहना है कि इस डैम के बनने से फल्गु नदी के पानी का 100 फीसदी उपयोग हो सकेगा, क्योंकि गर्मी के मौसम में यह नदी लगभग नाले का रूप ले लेती है. गया में पिंडदान के लिए फल्गु नदी का धार्मिक महत्व है. इसकी भौगोलिक संरचना ऐसी है कि इसमें पानी का ठहराव नहीं होता. इस नदी में बालू के करीब 25 फुट नीचे पानी की उपलब्धता रहती है.

क्षेत्र का ग्राउंड वाटर लेवल बढ़ेगा

हालांकि, बारिश के मौसम में इस नदी में भरपूर पानी आ जाता है. डैम बनाकर इस पानी को संरक्षित करने, पेयजल और सिंचाई के लिए उपयोग करने की योजना है. ऐसा होने पर क्षेत्र का ग्राउंड वाटर लेवल बढ़ेगा, सिंचाई का पानी मिलने से फसलों को फायदा होगा.

जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने भी ट्वीट कर जानकारी दी

जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने भी ट्वीट कर जानकारी दी है कि गया के प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर के पास फल्गू में सालोंभर न्यूनतम दो फीट पानी रहे, इसके लिए जल संसाधन विभाग की महत्वाकांक्षी योजना का शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 22 सितंबर को करेंगे.

Published by : Thakur Shaktilochan Shandilya

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें