1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar government to make boundary wall of temples and cemetry in bihar gov plan for mandir and kabristan news in hindi skt

बिहार में मंदिरों व कब्रिस्तानों की घेराबंदी करेगी सरकार, जानें किन 15 जिलों में खर्च होंगे 22 करोड़

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बिहार में मंदिरों व कब्रिस्तानों की घेराबंदी करेगी सरकार
बिहार में मंदिरों व कब्रिस्तानों की घेराबंदी करेगी सरकार
सांकेतिक फोटो

बिहार में मंदिर व कब्रिस्तान घेराबंदी के लिए गृह विभाग ने राशि स्वीकृति कर दी है. करीब 22 करोड़ की लागत से राज्य के 15 जिलों सहित 17 जगहों पर कब्रिस्तान और कुल 19 जिलों के दो दर्जन से अधिक मंदिरों के घेराबंदी का काम पूरा किया जायेगा. विभाग ने सभी जगहों के लिए राशि अलग-अलग राशि स्वीकृत कर दी है. गृह विभाग की ओर से स्वीकृति राशि को योजना एवं विकास विभाग आवंटित करेगा. योजना की स्वीकृति वित्तीय वर्ष 2020-21 के तहत की गयी है.

इन जगहों पर होगी कब्रिस्तानों की घेराबंदी

कब्रिस्तान के लिए 13 करोड़ 93 लाख 32 हजार रुपये की राशि स्वीकृत की गयी है. इनमें बिहारशरीफ के लिए 110.82 लाख, अरवल के लिए 125 लाख, औरंगाबाद के लिए 125 लाख, सीवान के लिए 90.62 लाख, बारसोई के लिए 40 लाख, किशनंगज के लिए 125 लाख, पुपरी के लिए 56 लाख, सासाराम के लिए 20 लाख, गोपालगंज के लिए 27 लाख, समस्तीपुर के लिए 125 लाख, पूर्णिया के लिए 93.79 लाख, बेनीपुर के लिए 40 लाख, बेगूसराय के लिए 125 लाख, बक्सर के लिए 12.10 लाख, मोतिहारी के लिए 125 लाख, पकड़ीदयाल के लिए 125 लाख और गया के लिए 28 लाख की राशि स्वीकृत हुई है.

नौ करोड़ से मंदिरों की घेराबंदी

बिहार मंदिर चहारदीवारी योजना के तहत लगभग नौ करोड़ की राशि स्वीकृति मिली है. इसमें पांच करोड़ तीन लाख के लगभग 13 जिलों में खर्च किये जाने हैं. गया के लिए 50 लाख, गोपालगंज के लिए 61 लाख, मुजफ्फरपुर के लिए 48 लाख, वैशाली के लिए 29 लाख, मोतिहारी के लिए नौ लाख, दरभंगा के लिए 40 लाख, मधेपुरा के लिए एक करोड़, पूर्णिया के लिए 10 लाख, अररिया के लिए 30 लाख, कटिहार के लिए 59 लाख, भागलपुर के लिए 22 लाख, लखीसराय के लिए सात लाख 25 हजार, अरवल के लिए सात लाख 80 हजार रुपये स्वीकृत किये गये हैं.

इन जिलों में भी होगा काम 

इसके अलावा कटिहार जिले के लिए 12.42 लाख, नालंदा के लिए 12.34 के अलावा पश्चिमी चंपारण, सारण और शिवहर को मिला कर चार करोड़ सात लाख 60 हजार के लगभग की स्वीकृति हुई है.

Posted By :Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें