1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. ayushman bharat card online in bihar news ayushman pakhwada in patna till 31 march know the process to make health card news skt

आयुष्मान कार्ड बनाने में आयी तेजी, 5 लाख तक का मिलेगा मुफ्त इलाज, जानें कैसे बनेगा आपका हेल्थ कार्ड

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना
आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना
File

साकिब, पटना: जिले में 17 फरवरी से आयुष्मान पखवाड़ा मनाया जा रहा है. इसे अब 31 मार्च तक मनाया जायेगा. इस विशेष अभियान में लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है. कार्ड बनाने में पटना ने तेजी से तरक्की की है.

11 मार्च तक के आंकड़ों के मुताबिक जिले में इस अभियान के दौरान 70,028 नये लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड बनाया गया है. इसके साथ ही जिले में पूर्व में जिनका कार्ड बना हुआ है या जो लाभुकों की लिस्ट में हैं, उनका वेरिफिकेशन भी हो रहा है. नयी जानकारी के मुताबिक अभियान में 11 मार्च तक 2,41,598 लाभुकों का वेरिफिकेशन हो चुका है. इनमें से जिनका कार्ड नहीं बना है, अगले कुछ दिनों में उनका कार्ड भी बन जायेगा.

सिविल सर्जन कार्यालय से प्राप्त सूचना के मुताबिक जिले में कुल 20,18,735 लाभुकों का आयुष्मान कार्ड बनना है. अब तक इसमें से करीब 10.8 प्रतिशत का कार्ड बन चुका है या अगले कुछ दिनों में उन्हें कार्ड मिल जायेगा.

जिले में अधिक से अधिक लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड बन सके इसके लिए पंचायती राज विभाग के कर्मियों, आंगनबाड़ी सेविकाओं, सहायिका, विकास मित्र, जीविका दीदी आदि का भी सहयोग लिया जा रहा है.

इस अभियान में प्रत्येक प्रखंड के सभी पंचायतों में लाभार्थियों का कार्ड बनाया जा रहा है. कार्ड बनाने के लिए लाभार्थी को पंचायत भवन पर राशन कार्ड या प्रधानमंत्री पत्र के साथ पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड या अन्य कोई सरकारी पहचान पत्र लेकर जाना होगा.

आयुष्मान कार्ड बनने से नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा पायी जा सकती है. इसके लाभार्थी परिवार को जिले के सूचीबद्ध निजी और सरकारी अस्पताल में पांच लाख रुपये तक की चिकित्सा नि:शुल्क मिलेगी.

जिले में आयुष्मान कार्ड बनवाने के अभियान में 2,41,598 लाभुकों का वेरिफिकेशन किया जा चुका है. कुल लाभुकों में से करीब 10.8 प्रतिशत का कार्ड बन चुका है. अभियान में 70,028 नये आयुष्मान कार्ड बनाये गये हैं. आने वाले दिनों में यह संख्या और भी तेजी से बढ़ेगी.

- डॉ विभा कुमारी, सिविल सर्जन, पटना

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें