हंगामेदार हो सकता है बिहार विधानमंडल का शीतकालीन सत्र, करकार को घेरने की विपक्ष करेगा पूरी कोशिश

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : शुक्रवार से आरंभ हो रहे बिहार विधानमंडल का शीतकालीन सत्र हंगामेदार होने के आसार हैं. पांच दिनाें के संक्षिप्त सत्र के दौरान सरकार को घेरने के लिए विपक्ष अपनी ओर से हर संभव कोशिश करेगा. शहर में जलजमाव, बाढ़ और अन्य समस्याओं को फोकस कर विपक्ष हमलावर होगा. दूसरी ओर सदन में विपक्ष के हमले का संसदीय तरीके से जवाब के लिए सत्ताधारी दल ने भी अपनी तैयारी की है. शुक्रवार को सदन की कार्यवाही के बाद जदयू विधायक दल की बैठक बुलायी गयी है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में जदयू विधायक दल की बैठक होगी. जिसमें सभी सदस्यों को सदन में माैजूद रहने को कहा जायेगा.कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक 25 नवंबर को : कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक 25 नवंबर को आयोजित की जायेगी. कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने बताया शुक्रवार को सत्र आरंभ हो रहा है. पहले दिन की बैठक भोजनावकाश के बाद स्थगित हो जाती है. इसके बाद विधायक अपने क्षेत्र में चले जाते हैं. उन्होंने बताया कि 25 नवंबर से सत्र का विधिवत आरंभ होगा. उस दिन ही बैठक के बाद विधायक दल की बैठक आयोजित होगी. बैठक में पार्टी सदन में अपनी रणनीति तैयार करेगी.
जदयू विधायक दल की बैठक आज
पटना. विधानमंडल सत्र को लेकर जदयू विधायक दल की बैठक शुक्रवार को दोपहर 12.30 बजे 11 स्टैंड रोड में होगी. इस बैठक में विधानमंडल सत्र के समय सभी विधायकों को मौजूद रहने और सत्र के समय का अधिक- से- अधिक उपयोग कर कामकाज को बेहतर तरीके से करने पर चर्चा होगी. वहीं, विपक्ष के पूछे गये सवालों पर पार्टी के रुख को लेकर विधायकों से विमर्श होगा.
भाजपा विधायक दल की बैठक अभी नहीं
पटना. विधानमंडल का सत्र 22 नवंबर से शुरू होने जा रहा है. इस बार भाजपा विधायक दल की बैठक कब होगी, यह अभी तक पूरी तरह से तय नहीं हुआ है. पार्टी में कोई भी आधिकारिक रूप से इस मामले में कुछ कहने को तैयार नहीं है, परंतु सूत्रों का कहना है कि 26 नवंबर को विधायक दल की बैठक होने की संभावना है. इस दिन प्रदेश अध्यक्ष से लेकर पार्टी के अन्य बड़े नेता भी बिहार आ रहे हैं.
ऐसे में विधायक दल की बैठक में इनके मौजूद होने की संभावना भी जतायी जा रही है. एनडीए की संयुक्त बैठक के बारे में भी भाजपा के स्तर से कोई तारीख तय नहीं है. इस बारे में जदयू आलाकमान से बात करने के बाद ही तिथि तय हो पायेगी.
जलजमाव, खराब हवा और डेंगू की भयावहता को सदन में मुद्दे बनायेगा राजद
पटना : राष्ट्रीय जनता दल के विधानमंडल परिषद की बैठक शुक्रवार की दोपहर एक बजे दस सर्कुलर रोड में होगी. बैठक में पार्टी की उपाध्यक्ष राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव सहित सभी विधायक और विधानमंडल दल के सदस्य भाग लेंगे.
राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने बताया कि इस बैठक में पटना शहर के जलजमाव और वायु प्रदूषण पर खासतौर पर चर्चा होगी. पार्टी अध्यक्ष ने बताया कि पटना का जलजमाव प्राकृतिक आपदा नहीं थी , यह राज्य सरकारी असफलता थी.
इसी तरह न केवल पटना, बल्कि पूरे प्रदेश की खराब हवा को भी चिंताजनक बताते हुए पूर्वे ने कहा कि राजद इस मुद्दे पर सरकार को घेरेगा . उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में डेंगू से करीब चार हजार लोग गंभीर रूप से ग्रस्ति हुए. इससे निबटने में भी राज्य सरकारी पूरी तरह असफल रही है. उन्होंने कहा कि राजद पूरी ताकत से इन सभी मुद्दों पर चारों दिन सरकार को घेरेगा. बैठक में राज्य की बिगड़ती कानून भी चर्चा की जायेगी.
विपक्ष के भय से केवल चार दिन का सत्र : राजद नेता व पार्टी अध्यक्ष पूर्वे ने आधिकारिक बयान में कहा कि राज्य सरकार विपक्ष से डरी हुई है. यही वजह है कि इतने बड़े राज्य और उसकी बड़ी-बड़ी समस्याओं पर चर्चा के लिए केवल चार दिन की बैठक रखी गयी है. यह आम जनता के खिलाफ सोची -समझी राजनीतिक साजिश है. दरअसल सरकार जनता के मुद्दों पर चर्चा करने से डर रही है. इस मामले को राजद नेता सदन में विशेष रूप से उठायेंगे.
बिहार विधान परिषद में सदन की बैठक 11 बजे शुरू होगी सदस्यों द्वारा शपथ ग्रहण या प्रतिज्ञान ग्रहण, यदि कोई हो.
माननीय कार्यकारी सभापति द्वारा प्रारंभिक संबोधन. माननीय कार्यकारी सभापति द्वारा 193 वें सत्र के लिए अध्यासीन सदस्यों की घोषणा.
प्रभारी मंत्री द्वारा बिहार विधानमंडल के सत्र में नहीं रहने की अवधि में राज्यपाल द्वारा प्रख्यापित अध्यादेशों की प्रमाणीकृत प्रतियों को सदन पटल पर रखा जाना.प्रभारी मंत्री द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 के द्वितीय अनुपूरक व्यय विवरण की एक प्रति का सदन पटल पर रखा जाना.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें