1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. muzaffarpur
  5. bagmatis water level decreased by 15 feet in katra

कटरा में बागमती के जलस्तर में डेढ़ फीट की कमी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

कटरा : प्रखंड की प्रमुख नदी बागमती के जलस्तर में लगभग एक से डेढ़ फुट कमी होने से लोगों ने राहत की सांस ली है. वहीं लोगों की समस्या ज्यों का त्यों है. बसघट्टा बेनीबाद सड़क पर तीन से पांच फुट पानी का बहाव जारी है. चौथे दिन भी बिजली की आपूर्ति बंद रही. बिजली सब स्टेशन के जेई नीतीश कुमार ने कहा कि जलस्तर में कमी जारी रहा तो गुरुवार को विद्युत आपूर्ति हो सकती है. बाढ़ प्रभावित गावों में कच्चे घरों का गिरना शुरू हो गया है. बकुची निवासी धर्मेन्द्र कमती, रामसकल भगत, हंशराज भगत सहित अन्य लोगों ने प्रशासन से अविलंब राहत देने की मांग की है.

बागमती, लखनदेई व मनुषमारा नदी के जलस्तर में कमी

औराई. बागमती, लखनदेई व मनुषमारा नदी के जलस्तर में कमी हो रही है. बागमती नदी के जलस्तर में बुधवार को दो फुट तक की कमी दर्ज की गयी. बागमती परियोजना उत्तरी और दक्षिणी बांध के बीच स्थित एक दर्जन गांव में व बाढ़ पीड़ितों के अधिकतर घरों से बाढ़ का पानी निकल गया है. आवागमन के लिए अभी लोगों को नाव का ही सहारा है. दोनों बांध के बीच स्थित मधुवनप्रताप, पटोरी टोला, बभनगामा पश्चिमी, बड़ा बुजुर्ग, बड़ा खुर्द, चौनपुर, महेशवारा समेत अन्य गांव के बाढ़ पीड़ितों ने जलस्तर मे कमी होने से राहत की सांस ली है.

गंडक नदी के जलस्तर मे लगातार हो रही बढ़ोतरी से ग्रामीण सहमे , विषैले सांप ने एक को काटा

देवरिया कोठी. धरफरी व चांदकेवारी पंचायत में बाढ़ ने कोहराम मचाना शुरू कर दिया गया है. जलग्रहण क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश व गंडक नदी के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. बांध के पश्चिमी ईलाके में बसे सैकड़ों ग्रामीण सहमे हैं. कई वार्डो में बाढ़ का पानी घुस गया है. बाढ़ के पानी से घिरे 20 हजार की आबादी को नाव की व्यवस्था नहीं होने से लोगों के आवागमन की स्थिति बेहद खराब है.

सोहासी गांव में पुलिया टूटा

सोहासी गांव में सड़क व पुलिया टूट जाने व नाव की सुविधा नहीं रहने से ग्रामीणों में त्राहिमाम है. सैकड़ों घर चारों तरफ से पानी से घिर गये हैं. इसी बीच एक साप ने बाबूलाल महतो के पुत्र रंजन कुमार को डस लिया.

तिरहुत तटबंध पर शरण ले रहे प्रभावित

साहेबगंज.गंडक नदी का जल स्तर बढ़ने से माधोपुर हजारी, बंगरा निजामत, देवसर असली, हुस्सेपुर नयाटोला व हुस्सेपुर पंचरुखिया में बाढ़ की स्थिति भयावह दिखने लगी है. बाढ़ पीड़ितों में कुछ ने तिरहुत तटबंध पर शरण लेना शुरू कर दिया है. मंगलवार को पूर्व मंत्री व विधायक रामविचार राय के साथ उप समाहर्ता विकास कुमार व आपदा प्रबंधन प्रभारी सह डीसीएलआर सुरेंद्र कुमार अलबेला ने बाढ़ग्रस्त पंचायतों का मुआयना किया था.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें