25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

शिलान्यास के 27 साल बाद भी अस्तित्व में नहीं आया कृषि महाविद्यालय

राजनगर में कृषि महाविद्यालय का सपना अधूरा है. तत्कालीन केंद्रीय कृषि मंत्री चतुरानंद मिश्र ने राजनगर में 1997 में कृषि महाविद्यालय खोलने का शिलान्यास किया था.

राजनगर. राजनगर में कृषि महाविद्यालय का सपना अधूरा है. तत्कालीन केंद्रीय कृषि मंत्री चतुरानंद मिश्र ने राजनगर में 1997 में कृषि महाविद्यालय खोलने का शिलान्यास किया था. शिलान्याय के लगभग 27 साल बाद भी कृषि महाविद्यालय स्थापित नहीं हो सका. कृषि महाविद्यालय खुलने से प्रखंड क्षेत्र के आसपास के गरीब किसान मजदूर एवं खेतिहरों को फायदा होता. क्षेत्र के किसानों, छात्रों को इसका सीधा लाभ मिलता. विदित हो कि तत्कालीन मधुबनी सांसद चतुरानन मिश्र केन्द्रीय कृषि मंत्री रहते हुये राजनगर के राज खेल मैदान के समीप दाई जी आवास में कार्यालय खोलने और राजनगर रेलवे स्टेशन समीप क़ृषि विभाग के बीस एकड़ जमीन में क़ृषि महाविद्यालय स्थापित करने निर्णय लिया था. लेकिन दशकों बीत जाने के बाद भी कृषि महाविद्यालय नहीं खुल सका. कृषि महाविद्यालय का शिलान्यास होने से जिले वासियों एवं किसानों में ख़ुशी थी. शिलान्यास समारोह में बिहार के राज्यपाल एआर किदबई, केंद्रीय क़ृषि मंत्री चतुरानन मिश्र, बिहार सरकार के कृषि मंत्री रघुनाथ झा, पशुपालन मंत्री राजकुमार महासेठ सहित केंद्र एवं राज्य के कई अधिकारी शामिल हुये थे. तत्कालीन केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा था कि कृषि महाविद्यालय खुलने से यहां के किसान वैज्ञानिक तरीके से खेती कर सकेंगे. लेकिन इतने दिनों बाद भी कृषि महाविद्यालय की स्थापना नहीं हो सका. स्थानीय किसान संजय कुमार, राजा पटेल, संजय पटेल, अवधेश ठाकुर ने कहा कि इस बाढ़ग्रस्त अति पिछड़े इलाके में रोजगार के साधन उपलब्ध होते.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें