25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

कुदरा में ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटी की मौत

या-डीडीयू मंडल के कर्मा गांव के समीप रेलवे फाटक पर शुक्रवार की देर शाम ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटी की मौत हो गयी. मृतक कर्मा गांव निवासी सरफुद्दीन अली की 22 वर्षीय पुत्री व 40 वर्षीय पत्नी बतायी जाती हैं.

कुदरा/पुसौली. गया-डीडीयू मंडल के कर्मा गांव के समीप रेलवे फाटक पर शुक्रवार की देर शाम ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटी की मौत हो गयी. मृतक कर्मा गांव निवासी सरफुद्दीन अली की 22 वर्षीय पुत्री व 40 वर्षीय पत्नी बतायी जाती हैं. हालांकि, परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम नहीं कराया. जानकारी के अनुसार, शुक्रवार की शाम सरफुद्दीन पत्नी व पुत्री को लेकर कुदरा बाजार करने गये थे. वहां से बाइक पर सवार होकर अपने गांव वापस आ रहे थे. इस दौरान कर्मा रेलवे फाटक पर बाइक नीचे से लेकर जा रहे थे, जबकि इनकी पुत्री रेलवे लाइन क्राॅस करने लगी. इसी दौरान तेज गति से आ रही ट्रेन से बचाने के लिए मां भी दौड़ पड़ी, जिससे दोनों एकसाथ ट्रेन की चपेट में आ गयी और गंभीर रूप से घायल हो गयी. इसके बाद आनन फानन में स्थानीय लोगों के साथ देवराड़ खुर्द के मुखिया प्रतिनिधि चंद्रशेखर सिंह अपने निजी वाहन से इलाज के लिए कुदरा अस्पताल ले आये, जहां से प्राथमिक इलाज के बाद स्थिति गंभीर देख बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया. लेकिन, रास्ते में ही घायल मां-बेटी दोनों ने दम तोड़ दिया. इधर, मां-बेटी के एक साथ मौत के बाद परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. एक साथ घर से परिवार के दो सदस्यों का जनाजा निकलते देख पूरे गांव के लोगों की आंखें नम हो रही थी. # धीमी गति से हो रहा है ओवरब्रिज का निर्माण गया-डीडीयू मंडल स्थित कर्मा रेलवे फाटक के समीप ओवरब्रिज का निर्माण हो रहा है, जहां काफी धीमी गति से होने के कारण लोगों को रेलवे फाटक क्राॅस करके गुजरना पड़ता है. मालूम हो कि ओवरब्रिज का निर्माण कार्य अभी पूरा नहीं हुआ है, लेकिन डीएफसीसी के अप-डाउन दोनों के लाइन पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया है, ऐसे में अब एक साथ पांच लाइनों से ट्रेनें गुजर रही है. इससे रेलवे फाटक पर काफी देर लोगों को इंतजार करना पड़ता है. #वाराणसी लेकर जाने के दौरान दोनों ने रास्ते में ही तोड़ा दम कुदरा थाना क्षेत्र के कर्मा रेलवे फाटक पर शुक्रवार की शाम हुई हृदय विदारक घटना ने सभी को झकझोर दिया. स्थानीय लोगो ने बताया कुदरा से सरफुद्दीन बेटी और पत्नी के साथ बाइक से रेलवे फाटक पर पहुंचे, जहां ट्रेन आने के कारण फाटक बंद था. इसी दौरान पत्नी और बेटी को बाइक से उतार कर बाइक बैरियर के नीचे से लेकर जाना चाह रहे थे, तब तक पैदल ही बेटी रेलवे लाइन पार करने चली गयी, जो कुछ मानसिक रूप से कमजोर बतायी जाती है. उसी दौरान रेलवे ट्रैक पर ट्रेन आ गयी, जहां बेटी को बचाने के चक्कर में मां भी ट्रेन की चपेट में आ गयी, जिसमें मां का पैर कट गया, तो बेटी के भी शरीर के कई हिस्से में गंभीर चोटें आ गयीं. ऐसे में अधिक रक्त स्राव के कारण वाराणसी ले जाने के दौरान दोनों की रास्ते में ही मौत हो गयी. # बोले मुखिया प्रतिनिधि इस संबंध में देवराडकला पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि चंद्रशेखर सिंह ने बताया ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटी की मौत हो गयी, जहां बेटी को बचाने के दौरान मां भी ट्रेन की चपेट में आ गयी. #बोले थानाध्यक्ष# इस संबंध में कुदरा थानाध्यक्ष विकास कुमार ने बताया इस संबंध में उन्हें अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें